समग्र स्वच्छता अभियान

लेखक की और रचनाएं

SIMILAR TOPIC WISE

Latest

तो हमें फिर शौचालय क्यों बनाना चाहिए

प्रश्न 18 ग्रामीण क्षेत्रों में हमारे गाँव में किसी भी घर में शौचालय नहीं है तथा हमारे घर में कोई बीमार नहीं है तो हमें फिर शौचालय क्यों बनाना चाहिए ?



उत्तरः- ग्रामीण क्षेत्रों में खुले में शौच करना एक पुरानी अस्वस्थ्य आदत है। कई लोगों को स्वच्छता एवं स्वास्थ्य के संबंध के बारे में पूर्ण जानकारी नहीं है परन्तु बहुत सारे अध्ययनो से पता चला है कि 80 प्रतिशत बीमारिया का कारण अस्वच्छता ही है।

एक ग्राम मल में एक करोड़ वायरस तथा 10 लाख बैक्टीरिया होते है। ये वायरस एवं बैक्टीरिया मक्खी के साथ भोजन के माध्यम से मनुष्यों में प्रवेश कर बीमारी फैलाते है।

इसके अलावा शौचालय के अभाव मे महिलाओं को विशेषकर सबसे अधिक कठिनाई होती है, जिन्हें अंधकार होने का इंतजार करना पडता है तथा सॉँप, बिच्छु आदि से काटने का तथा उनके सम्मान का खतरा भी बना रहता हैं ।

बच्चों के शौच के बारे में भी कुछ भ्रान्तियाँ है कि यह हानिकारक नहीं होता है। परन्तु ऐसी बात नहीं है यह भी वयस्का के मल की तरह हानिकारक होता है। बच्चों में पोलियों का वायरस भी खुले में किये गये शौच के माध्यम से फैलता है।

Help to build my toilet on my hose

Help me to help me for build my toilet on my hose

I have no money to make toilet

Help me to build toilet on my hose

sochaly

Bahut jaruri hai sochaly bahar Jane me problem hoti hai sochaly banana ki madad kre

sochaly nirman

good lekin sarkar ne protasan rashi keval bpl parivar he ko kyo any catgari ke logo ko bhi deni chaie

Post new comment

The content of this field is kept private and will not be shown publicly.
  • Web page addresses and e-mail addresses turn into links automatically.
  • Allowed HTML tags: <a> <em> <strong> <cite> <code> <ul> <ol> <li> <dl> <dt> <dd>
  • Lines and paragraphs break automatically.

More information about formatting options

CAPTCHA
यह सवाल इस परीक्षण के लिए है कि क्या आप एक इंसान हैं या मशीनी स्वचालित स्पैम प्रस्तुतियाँ डालने वाली चीज
इस सरल गणितीय समस्या का समाधान करें. जैसे- उदाहरण 1+ 3= 4 और अपना पोस्ट करें
2 + 4 =
Solve this simple math problem and enter the result. E.g. for 1+3, enter 4.