SIMILAR TOPIC WISE

Latest

नामुमकिन नहीं प्रदूषण की जंग जीतना

Source: 
राजस्थान पत्रिका, 13 नवम्बर, 2017

दिल्ली में हर सर्दियों में प्रदूषित घने कोहरे से जनजीवन पूरी तरह ठप हो जाता है। देश की राजधानी में प्रदूषण के चलते हालात भयावह हो चुके हैं। लेकिन, हुक्मरान आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति में व्यस्त हैं। प्रदूषण रोकथाम की बातें तो खूब होती हैं पर यह जुबानी जमाखर्च से अधिक नहीं होता। आज दिल्ली की बारी है तो कल अन्य शहरों की होगी।

देश की राजधानी दिल्‍ली जहरीली हवाओं में लिपटी है यानी आमजन के लिये विष का प्‍याला बन चुकी है। वातावरण में दो तरफ से आने वाली हवाएँ टकरा रही हैं। एक तो पंजाब के खेतों में फसल जलाए जाने से फैलने वाली प्रदूषित हवा और दूसरे पूर्व के राज्‍यों से आने वाली नम हवा। ये दोनों ही पहले से मौजूद उच्‍च प्रदूषण में मिलकर दिल्‍ली को गैस चैम्‍बर में तब्‍दील कर चुकी हैं। यह स्थिति आमजन के स्‍वास्‍थ्‍य के लिये खतरनाक बन गई है।

वर्तमान में दिल्‍ली के प्रदूषण का स्‍तर खतरे के निशान से काफी ऊपर उठ चुका है। इसी के चलते स्‍वास्‍थ्‍य विभाग को जनहित में चेतावनी जारी करनी पड़ी कि कोई भी व्‍यक्ति फिर चाहे वह पूर्ण स्‍वस्‍थ्‍य ही क्‍यों न हो खुले में बाहर न निकले। कोई भी मौसम समस्‍या को किसी हद तक ही परिभाषित कर सकता है।। इस सच्चाई को नहीं झुठलाया जा सकता कि दिल्ली में प्रदूषण का स्तर इतना बढ़ चुका है कि जब कभी मौसम प्रतिकूल होता है तो आम नागरिकों को इस तरह की समस्याओं का सामना करना ही पड़ता है।

कल्पना करें कि किसी शहर में जब हर वक्त एक करोड़ वाहनों की नलियाँ धुआँ उगलती हों, साथ ही पूरे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) के कारखानों के साथ दिन-रात चलते ट्रकों के धुएँ से उस शहर के वातावरण की हालत क्या होगी। देश का कोई सा भी कोना हो आजकल कचरा निस्तारण का सबसे आसान उपाय यही समझा जाता है कि उसे इकट्ठा कर जला दिया जाये। जब शहर में ही प्रदूषण के इतने कारण मौजूद हों मौसम को कितना दोषी ठहराया जा सकता है। इसके बचाव में यह भी कहा जा रहा है कि पड़ोसी राज्यों में खेतों में पराली जलाने से भी धुआँ दिल्ली आ रहा है। सच यह है कि खेतों का धुआँ तो कुछ समय के लिये ही आता है।

यह सब तो तात्कालिक है। हमें साल भर बहने वाली जहरीली हवाओं की ओर भी ध्यान देना होगा। विडम्बना है कि दिल्ली-एनसीआर में और इस क्षेत्र में आने वाले अन्य शहरों को शासन के पास न तो प्रदूषण से निपटने की कोई कार्ययोजना है और न ही वे इस दिशा में कुछ खास कर रहे हैं। एक-दूसरे पर दोषारोपण को खेल चल रहा है। प्रदूषण फैलाने के बड़े कारण तो दिल्ली में ही मौजूद हैं। सबसे ज्यादा प्रदूषण हो रहा है वाहनों, उद्योगों, विद्युत संयंत्रों और कचरा जलाने से। प्रदूषित धूल से दिल्ली, उत्तर भारत का ‘डस्ट बाउल’ बन चुका है।

सड़क पर निर्माण सामग्री बिखरी होने से धूल की समस्या बढ़ती जा रही है। इसके लिये न तो कई नियम कायदे हैं और न ही इस पर रोकथाम के कभी उपाय होते हैं। वाहनों की बात करें तो हम सब जानते हैं कि ट्रक दूषित वायु का प्रमुख जरिया बने हुए हैं। अन्य वाहनों का भी वायु प्रदूषण में बड़ा योगदान है। यह मायने नहीं रखता कि आप अपने वाहन को साफ-सुथरा रखते हैं, समय पर सर्विस कराते हैं, प्रदूषण के अनुकूल बीएस-4 वाहन काम में ले रहे हैं।

हर साल आठ गुना वाहन शहर की सड़कों पर जुड़ जाते हैं तो आपके सारे प्रयास विफल हो जाते हैं। इससे बचने के लिये सार्वजनिक परिवहन की व्यवस्था को सुदृढ़ करना होगा। हर सर्दियों में हालात बिगड़ने पर सार्वजनिक मंचों पर इस पर बातें तो खूब होती हैं लेकिन हालात जस-के-तस ही रहते हैं। अब भी सार्वजनिक परिवहन के नाम पर सड़कों पर कुछ ही बसें देखने को मिलती हैं। इस तथ्य को किसी भी सूरत में नजरअन्दाज नहीं किया जा सकता कि बिना सहज, सुलभ और सस्ते सार्वजनिक परिवहन के आप वायु प्रदूषण को नियंत्रित नहीं कर सकते हैं। इसकी कमी के चलते हर सर्दियों में मौसम के खिलाफ जंग में हार का मुँह देखना पड़ता है। वहीं दूसरी ओर उद्योगों में सस्ता होने के चलते पेट काॅक का इस्तेमाल किया जा रहा है।

पेट काॅक (petcock) को ‘बाॅटम आॅफ द बैरल फ्यूल’ (Bottom of the barrel fuel) कहा जाता है। पेट काॅक को पेट्रोलियम रिफाइनरियाँ बेकार होने के कारण फेंक देती हैं। अमरीका में यह प्रतिबन्धित होने के कारण वह इसे विकासशील देशों को निर्यात कर देता है। पूर्व में चीन इसे आयात करता था। चीन ने बाद में यह कहते हुए कि हम प्रदूषित हो चुके हैं, हमें तुम्हारा कचरा नहीं चाहिए, पेट काॅक का आयात करने से मना कर दिया। यह शर्मनाक है कि भारत में आज भी इसे बड़ी मात्रा में आयात किया जा रहा है।

पिछले साल भारत ने 1.4 करोड़ टन पेट काॅक का आयात किया। यह हमारे घरेलू उपभोग से भी कई गुना ज्यादा है। यही पेट काॅक उद्योगों में ईंधन के रूप में काम आकर प्रदूषण का बड़ा कारण बनता है। और, जब हमने इस पर रोक लगाने के लिये अदालत में अपील की तो देश के बड़े से बड़े वकील इसके खिलाफ पैरवी करने आ गए कि कैसे भी इस पर पाबन्दी को रोका जा सके। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या हम वाकई प्रदूषण के लिये गम्भीर हैं? स्थिति बेकाबू होने पर हर बार ऐसे बहाने बनाए जाते हैं कि प्रदूषण के लिये यह नहीं है, फलां चीज जिम्मेदार है। हकीकत यह है कि इसका खामियाजा हम सब भुगत रहे हैं।

देश में कही भी सरकार से पास कचरा निस्तारण की कोई कार्ययोजना ही नहीं है। इन सबको प्राथमिकता में रखते हुए ठोस योजना बनाकर उस दिशा में सही कदम उठाने होंगे। प्रदूषण के खिलाफ जंग जीतना मुश्किल है, नामुमकिन नहीं लेकिन इसके लिये बड़े पैमाने पर सही मंशा से परिवर्तन करने होंगे।


TAGS

oil refinery waste products in hindi, types of petroleum waste, petroleum waste products in hindi, what is spent catalyst in hindi, hazardous waste in hindi, Scholarly articles for petroleum refinery waste in hindi, petroleum refinery waste in hindi, Petroleum Refining Process Wastes in hindi, Documents Related to the Hazardous Waste in hindi, Refinery waste treatment services in hindi, a guide for reduction and disposal of waste from oil refineries in hindi, motorcycle fuel petcock positions in hindi, petcock valve leaking in hindi, universal fuel petcock in hindi, fuel petcock for generator in hindi, petcock urinal in hindi, petcock coal in hindi, inline fuel petcock in hindi, fuel petcock prime position in hindi, pollution sickness symptoms in hindi, winda priestess of gusto in hindi, Delhi is clogged with poisonous winds in hindi, How much do cars contribute to air pollution?, What is the main cause of air pollution?, How much of the air pollution is caused by cars?, How do electric cars reduce air pollution?, How much air pollution is caused by industries?, How do cars contribute to air pollution?, What are the causes and effects of air pollution?, How can we solve air pollution?, Why air pollution is harmful?, What cars do to the environment?, How can we reduce air pollution from cars?, Why do cars pollute the air?, How much air pollution is caused by factories?, Why factories are bad for the environment?, How much pollution do cars produce in a year?, What is a mobile source of air pollution?, What are the causes and effects of pollution?, What is air pollution in simple words?, How we can control the air pollution?, How can you protect yourself from air pollution?, What are the main types of air pollution?, How many people have died from air pollution?, Why gas is bad?, How does car pollution affect human health?, Why is oil important in a car?, What is an eco friendly car?, Do cars give off carbon dioxide and monoxide?, What do cars emit into the air?, what percentage of air pollution is caused by cars in hindi, car pollution effects in hindi, how do cars contribute to air pollution in hindi, car pollution statistics in hindi, car pollution facts in hindi, vehicle pollution essay in hindi, air pollution caused by vehicles essays in hindi, air pollution by vehicles wikipedia in hindi, main reasons for air pollution are cars in hindi, causes of air pollution in points, causes of air pollution wikipedia in hindi, main causes of air pollution in hindi, effects of air pollution in points, what are the effects of air pollution in hindi, causes of air pollution essay in hindi, solution of air pollution in hindi, prevention of air pollution in hindi, main reasons for air pollution are industry in hindi, What is the main causes of air pollution?, What are some of the main causes of pollution?, What are the major contributors to air pollution?, What are the causes and effects of air pollution?, What are some of the main causes of air pollution?, How can we solve air pollution?, What are the causes and effects of pollution?, What is pollution and what does it do?, How can we control the air pollution?, Why air pollution is harmful?, What is air pollution in simple words?, What are some examples of air pollution?, What are the main effects of air pollution?, What causes most of the world's air pollution?, How can we prevent noise pollution?, How do we know air pollution is a problem?, What are the three main types of pollution?, What does the pollution causes?, How does air pollution affect people's health?, How can litter affect the environment?, How we can control the pollution?, What are the control of air pollution?, What are the main types of air pollution?, How many people have died from air pollution?, What are the different types of air pollution?, What are the six most common air pollutants?, What are some of the sources of air pollution?, What are the different types of air pollution?, dust bowl of India in hindi, Delhi dust bowl of north India in hindi, Delhi dust bowl of India in hindi, Images for Delhi dust bowl of north India in hindi, Delhi dust bowl in hindi, effects of the dust bowl in hindi, the dust bowl facts in hindi, dust bowl timeline in hindi, dust bowl great depression in hindi, the dust bowl definition in hindi, how did the dust bowl affect farmers in hindi, how did the dust bowl affect the southern plains in hindi, 3 causes of the dust bowl in hindi, dust bowl in hindi, What did the Dust Bowl look like?, How bad was the Dust Bowl?, What are the Okievilles?, Who were the Okies?, How many people were killed during the Dust Bowl?, What are the three main causes of the Dust Bowl?, What effect did the Dust Bowl have on people?, Where did the people go during the Dust Bowl?, When did Dorothea Lange start taking pictures?, Who is the Migrant Mother?, Is the term Okie offensive?, What is the meaning of Okies?, e30 expansion valve replacement in hindi, coal fired boiler pdf in hindi, how a coal fired boiler works in hindi, coal fired boiler design in hindi, coal boiler types in hindi, coal fired steam boiler in hindi, indian chemical industry report 2017 in hindi, coal fired boilers in hindi, India imports 14 million petcock in hindi, organizations against air pollution in hindi, the clean air campaign in hindi, air pollution campaign ideas in hindi, organizations to stop pollution in hindi, air pollution advocacy groups in hindi, what can be done in the future to prevent air pollution in hindi, air pollution campaign slogan in hindi, air pollution campaigns.


Post new comment

The content of this field is kept private and will not be shown publicly.
  • Web page addresses and e-mail addresses turn into links automatically.
  • Allowed HTML tags: <a> <em> <strong> <cite> <code> <ul> <ol> <li> <dl> <dt> <dd>
  • Lines and paragraphs break automatically.

More information about formatting options

CAPTCHA
यह सवाल इस परीक्षण के लिए है कि क्या आप एक इंसान हैं या मशीनी स्वचालित स्पैम प्रस्तुतियाँ डालने वाली चीज
इस सरल गणितीय समस्या का समाधान करें. जैसे- उदाहरण 1+ 3= 4 और अपना पोस्ट करें
10 + 1 =
Solve this simple math problem and enter the result. E.g. for 1+3, enter 4.