Latest

एक लाख जल निकायों की बहाली (रिपेयर, रिनोवेशन, रिस्टोरेशन वाटरबॉडीज स्कीम)

वेब/संगठन: 
india environment portal org

केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने 4000 करोड़ रुपए की अनुमानित लागत पर घरेलू समर्थन के साथ, 9 लाख हेक्टेयर के जलग्रहण क्षेत्र वाले एक लाख जल निकायों की बहाली, मरम्मत और नवीनीकरण करने की योजना को मंजूरी दे दी है। योजना के पूरा होने के बाद लगभग 4 लाख हेक्टेयर. अतिरिक्त सिंचाई क्षमता के निर्मित होने की संभावना है। योजना में ऐसा माना गया है कि राज्य आवश्यक सार्वजनिक जलनिकायों की संख्या को ध्यान में रखते हुए परियोजना तैयार करेंगे, ये जलनिकाय सरकारी जमीन पर जैसे- ग्राम पंचायत / नगर पालिकाओं / निगमों, कृषि अथवा संबंधित क्षेत्र में पंजीकृत सोसायटी/ सार्वजनिक ट्रस्ट आदि की जमीन पर होने चाहिए। निजी स्वामित्व वाले जल निकायों को वित्तीय सहायता नहीं दी जाएगी।

RRR योजना के मुख्य उद्देश्य हैं:

निजामुद्दीन की बावड़ी का हुआ जीर्णोद्धार

Source: 
विनय ठाकुर / hindi.webdunia.com
हजरत निजामुद्दीन बावड़ीहजरत निजामुद्दीन बावड़ीएक जमाना था जब दिल्ली बावड़ियों का शहर था। हालाँकि अब चारों ओर उगे कंक्रीट के जगलों को देखकर इस बात का अनुमान नहीं लगाया जा सकता है। ऐतिहासिक महत्व की इन बावड़ियों में महाराजा अग्रसेन की बावड़ी, हजरत निजामुद्दीन द्वारा बनाई गई बावड़ी, महरौली स्थित बावड़ी शामिल हैं।

इसमें से हजरत निजामुद्दीन द्वारा बनाई गई 700 साल पुरानी बावड़ी का हाल ही में आगा खाँ ट्रस्ट द्वारा जीर्णोद्धार किया गया है जिसके बाद इसके सातों प्रमुख सोते फिर से पुरानी रंगत में लौट आए हैं।

"पुष्कर" सरोवर सूखा

Source: 
कबीर शर्मा / openthemagazine
(पुष्कर का पवित्र सरोवरपुष्कर का पवित्र सरोवर ब्रह्मा जी का सरोवर पुष्कर एकदम सूख चुका है, धार्मिक और धर्मनिरपेक्ष सभी लोग एक भय से ग्रस्त हैं, इस सम्बन्ध में समस्या की गहरी पड़ताल करने की एक कोशिश है यह रिपोर्ट)