Latest

यमुना को जीवनदान देगा एफआरआई

यमुनायमुनादेहरादून। राजधानी दिल्ली में लगभग मृतप्राय हो गई गंगा-जमुनी तहजीब की प्रतीक यमुना नदी को भारतीय वन अनुसंधान संस्थान (एफआरआई) के वैज्ञानिक जीवनदान देंगे। एफआरआई ने यमुना को प्रदूषण मुक्त करने की एक योजना दिल्ली विकास प्राधिकरण को भेजी है।

इसके तहत सबसे पहले राजघाट के निकट यमुना के पानी को जैविक तरीके से साफ किया जाएगा।

सरकंडे से होगी नदियों की सफाई

रूट जोन ट्रीटमेंटरूट जोन ट्रीटमेंटदेहरादून [विकास धूलिया/अरविंद शेखर]। यह कहना तो शायद अभी जल्दबाजी होगी कि नदियों की सफाई का एक सस्ता, सुलभ उपाय आंखों के सामने है। यह लेकिन कहा जा सकता है कि गंदे पानी को निर्मल करने की यह योजना, जो देश में एक जगह सफलता से लागू है, केंद्र और राज्य सरकारों का ध्यानाकर्षण और शोध चाहती है। यह तरीका है सरकंडे की झाड़ियों से पानी शुद्ध करना यानी रूट जोन ट्रीटमेंट।

हिमाचल प्रदेश में ट्राउट का उत्पादन

Source: 
इंडिया डेवलपमेंट गेटवे
हिमाचल प्रदेश के ज़ोन दो और तीन में अत्यधिक बहुमूल्य मछली "रेनबो ट्राउट" की पैदावार के लिए विशाल क्षमता है। इन दो क्षेत्रों के तहत कृषि के लिए मौसमी परिस्थितियां शीतजलीय कृषि के लिए बेहद अनुकूल हैं। हाल ही में मिले संकेत इंगित करते हैं कि ट्राउट कम ऊंचाई पर 1000 m एमएसएल तक पैदा की जा सकती है, बशर्ते जल की अधिकतम गुणवत्ता और मात्रा सुनिश्चित की जाए।

साइट का चयन


ट्राउट की पैदावार के लिए इस तरह का स्थान चुनना चाहिए जहां नदी, झरने जैसे बारहमासी स्रोत के माध्यम से उचित गुणवत्ता और मात्रा में पानी उपलब्ध हो।

तालाबों का निर्माण