जब जीडीए को लेनी पड़ी तालाबों की सुध

Submitted by admin on Tue, 02/24/2009 - 12:51
Printer Friendly, PDF & Email

आईबीएन-7/Aug 26, 2008/ सिटिज़न जर्नलिस्टसेक्शन
गाजियाबाद। कुछ वक्त पहले सिटीज़न जर्नलिस्ट शो में राजेन्द्र त्यागी ने गाजियाबाद में खत्म होते तालाबों का मुद्दा उठाया था। राजेन्द्र त्यागी ने बताया था कि कैसे गाजियाबाद के तालाबों पर अतिक्रमण कर लिया गया है। तालाबों के खत्म होने से ग्राउंडवाटर कई फीट नीचे चला गया है।

राजेन्द्र त्यागी ने इस मामले में गाजियाबाद डेवलपमेंट अथॉरिटी के अधिकारियों से बात की थी। अधिकारियों ने इस मामले में कदम उठाने का विश्वास दिलाया था। IBN7 और राजेन्द्र त्यागी की इस मुहिम का असर हुआ है और चैनल पर खबर दिखाने के बाद अधिकारी हरकरत में आए हैं।

राजेन्द्र त्यागी इस बात की मिसाल हैं कि अगर सही दिशा में प्रयास किए जाएं तो वो अपना असर ज़रूर छोड़ती हैं।राजेद्र त्यागी उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले में रहते हैं। सिटीज़न जर्नलिस्ट शो में इन्होंनें बताया कि गाजियाबाद में तालाब खत्म होने के कगार पर हैं और इसके लिए रख-रखाव के बारे में भी जानकारी दी। इसके साथ ही इन्होंनें ये भी बताया कि सरकारी दावे कितने झूठे और गलत हैं।

गाजियाबाद डेवलपमेंट अथॉरिटी के मास्टर प्लान 2021 में, 123 तालाब दिखाए गए हैं जबकि वास्तविकता ये है कि केवल 41 तालाब ही जीवित हैं। 82 तालाब खत्म हो चुके हैं या तो उन पर मकान बन चुके हैं या दुकान और कहीं पर तो सरकारी विभागों द्वारा ही कब्जा किया गया है।

ये अधिकारियों की लापरवाही और भू-माफियाओं से मिली भगत का ही नतीजा है कि तालाबों की बेशकीमती 20 लाख वर्ग गज भूमि में से 15 लाख वर्ग गज भूमि पर कब्जा हो चुका है। और जो तालाब बचे भी हैं, उनको लगातार गंदगी से भरा जा रहा है।

तालाबों की स्थिति के बारे में,राजेंद्र ने गाजियाबाद विकास प्राधिकरण के वाइस चेयरमैन से बात की थी। उन्होंने इन्हें बताया कि तालाबों को बचाने का लिए वो कदम उठाएंगें। आज इस बात को 2 महीने हो गए हैं। राजेंद्र दोबारा जीडीए के VC से मिलने गए। ये जानने के लिए कि अब तक इस बारे में क्या कार्यवाही की गई है।

आईबीएन7 ने इस मामले में पहल की इसके लिए राजेंद्र उन्हें बधाई भी देना चाहते हैं।

इसी प्रकार सदरपुर में जो इन लोगों ने बापूधाम के लिए जमीन अधिग्रहित की है उसमें तीन तालाब आईडेंटीफाई हो गए है। उनकी कार्ययोजना बन गई है। इनका टारगेट ये है की तीन तालाबों मे से एक 6 महीने में और 2 तालाब एक वर्ष में पिकनिक स्पॉट में डेवलप होंगे।

साभार - आईबीएन-7

Tags - End of tanks in Hindi, Groundwater in Hindi, Ghaziabad Development Authority in Hindi, the status of tanks,
 

Add new comment

This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions.

3 + 15 =
Solve this simple math problem and enter the result. E.g. for 1+3, enter 4.

More From Author

Related Articles (Topic wise)

Related Articles (District wise)

About the author

Latest