जल संगठनों की गतिविधियां

सेनिटेशन पर तीसरा दक्षिण एशियाई सम्मेलन

सेनिटेशन पर तीसरा दक्षिण एशियाई सम्मेलनसेनिटेशन पर तीसरा दक्षिण एशियाई सम्मेलनसेनिटेशन पर तीसरा दक्षिण एशियाई सम्मेलन, नई दिल्ली में 16 से 21 नवम्बर 2008 को , आयोजित किया जा रहा है. 18-21 नवंबर 2008 के मुख्य सम्मेलन से पहले दो दिन (16-17 नवम्बर 2008) को क्षेत्र दौरों की योजना बनाई गई है.

कागज़ात जमा करने के बारे में अधिक जानकारी यहाँ प्राप्त की जा सकती है: पेपर प्रस्तुति विवरण

पेपर जमा करने की अंतिम तिथि 10 अक्टूबर तक के लिए बढ़ा दी गई है

जलबिरादरी का आमंत्रण

जलबिरादरी

आमंत्रण

हाल के वर्षों में भारत की नदियों पर नित नए संकट से आप परिचित हैं। जब तक हमारा समाज नदी के किनारे बैठकर नदी की चिन्ता करता था.... उसकी नीति व निगरानी की व्यवस्था करता था; तब तक हमारी नदियां पूरी तरह शुद्ध, सदानीरा व अविरल बनी रहीं। अच्छी ताकतों द्वारा एकजुट होकर पानी.... प्रकृति के प्रति हो रहे बुरे कामों को रोकने की साझा कोशिश को ही भारत की पुरातन प्रकृति प्रबन्धन व्यवस्था में कुंभ का नाम दिया गया। कुंभ का मूल अभिप्राय व अवधारणा यही है।