तसमानिया

Submitted by Hindi on Mon, 12/27/2010 - 10:20
तसमानिया स्थिति : 49 डिग्री 0फ़ द0 अ0 तथा 146 डिग्री 30फ़ पू0 दे0। यह आस्ट्रेलिया का सबसे छोटा तथा रमणीक राज्य एवं द्वीप है। 1642 ई0 में तैज़मान द्वारा इसकी खोज हुई और सन् 1803 में यह अंग्रजों के अधीन हो गया। बास जलडमरूमध्य तसमानिया का कुल क्षेत्रुल 26,215 वर्ग मील है। पूर्वी तसमानिया के पर्वत ग्रेट डिवाइडिंग रेंज के ही भाग है, जो आस्ट्रेलिया महाद्वीप के पूर्वी तट के निचले भाग में विस्तृत हैं। बेन लोमंड इस द्वीप का सर्वोच्च बिंदु है, जिसकी ऊँचाई 5,760 फुट है।

जनवरी तथा जुलाई का औसत ताप क्रमश: 15.6 डिग्री सें0 तथा 10 डिग्री सें0 है। यहाँ वार्षिक वर्षा पूर्वी भाग में 20"" से 40"" तक तथा पश्चिमी भाग में 40"" से 60"" तक होती है। तसमानिया में बहुत से जंगल तथा खनिज पदार्थ पाए जाते हैं। इसकी झीलों तथा नदियों से जलविद्युत् उत्पन्न की जाती है। यहाँ विशेषकर सेब की गहन खेती की जाती है। इमारती लकड़ी तथा ऊन यहाँ के मुख्य निर्यात हैं। आकर्षक दृश्य तथा उत्तमजलवायु के कारण बहुत से पर्यटक अवकाश बिताने के लिये इस द्वीप में आते हैं। यहाँ के आदिवासी मार डाले गये हैं। अधिकांश वर्तमान निवासी यूरोपीय हैं। होबर्ट इस दवीप की राजधानी एवं सबसे बड़ा नगर है।

(शा. ला. का.)
इतिहास - जैसा ऊपर कहा गया है, 1642 में अबेल तैज़मान ने इसका पता लगाया। 1804 से 1853 ई0 तक ब्रिटेन के बंदी यहाँ भेजे जाते रहे। न्यू साउथ वेल्स ने पहले पहल इसे अपना उपनिवेश बनाया। द्वीपवासियों ने अंग्रेज बंदियों का प्रवेश रोक देने की माँग की। 1853 ई0 में यह माँग आंशिक रूप में पूरी की गई। इसी वर्ष इसका नाम वान डीमेंस लैंड से बदलकर तसमानिया रख दिया गया। आस्ट्रेलिया के दक्षिणी प्रांत विक्टोरिया में सोने की खान मिल जाने से तसमानिया के अनेक निवासी वहाँ बस गए। 1901 ई0 में आस्ट्रेलियाई राष्ट्रमंडल की स्थापना हुई और तसमानिया उसका सदस्य हो गया।

Disqus Comment