हैलमाहेरा द्वीप

Submitted by Hindi on Mon, 12/27/2010 - 15:50
हैलमाहेरा द्वीप स्थिति : 2 डिग्री 14फ़ उ. से 0 डिग्री 56 डिग्री द. अ. एवं 127 डिग्री 21फ़ पू. से 128 डिग्री 53फ़ पू. दे.। हिंदेशिया में मलक्का द्वीपसमूह का सबसे बड़ा द्वीप है। क्षेत्रफल 17587 वर्ग किमी हैं। हैलमाहेरा द्वीप सेलेवीज के 240 किमी पूर्व में मलक्का जलमार्ग के उस पार है। इसमें 4 प्रायद्वीप हैं। सबसे बड़ा प्रायद्वीप 160 किमी लंबा एवं 64 किमी चौड़ा है। ये द्वीप 3 बड़ी एवं गहरी खाड़ियों द्वारा एक दूसरे से अलग हैं। इस द्वीप का अधिकांश भाग जंगलों एवं पहाड़ियों से ढका हुआ है। कई सक्रिय ज्वालामुखी पर्वत यहाँ हैं। तटीय मैदान बहुत ही सँकरा है। हैलमाहेरा की मुख्य उपज जायफर आयरनवुड रेज़िन, सागू; धान, तंबाकू एवं नारियल हैं।

द्वितीय विश्वयुद्धकाल में हैलमाहेरा जापानी हवाई अड्डा था। 1944 ई. में बमवर्षा द्वारा बुरी तरह नष्ट हो गया था। यह ब्रिटेन एवं हालैंड के अधिकार में रह चुका है। डचों ने 1949 ई. में इसे हिंदेशिया को सौंप दिया। इसे जिलोला द्वीप भी कहते हैं।

(राजेंद्र प्रसाद सिंह)
Disqus Comment