कितने स्वच्छ हैं हमारे शहर, बता सकती है 3डी स्कैनिंग तकनीक

Submitted by editorial on Wed, 10/24/2018 - 17:53
Printer Friendly, PDF & Email
Source
इण्डिया साइंस वायर, 24 अक्टूबर 2018

3डी स्कैनिंग तकनीक3डी स्कैनिंग तकनीकनई दिल्ली, शहरों में सड़कों के किनारे अनधिकृत रूप से फेंके जाने वाले कचरे की मात्रा का पता लगाने के लिये शोधकर्ताओं ने 3डी सेंसर तकनीक आधारित एक नई पद्धति विकसित की है। इसकी मदद से शहरी कचरे के प्रबन्धन का सही आकलन किया जा सकेगा।

इस तकनीक के उपयोग से पता चला है कि दिल्ली में सड़कों के किनारे या खुले में अनधिकृत रूप से फेंके गए कचरे की मात्रा करीब 5.57 लाख टन है, जो रोज निकलने वाले कचरे से 62 गुना अधिक है।

कचरे की मात्रा का पता लगाने के लिये शोधकर्ताओं ने 3डी सेंसर का उपयोग किया है। इन सेंसर्स का आमतौर पर 3डी प्रिंटिंग के लिये उपयोग किया जाता है। इस डिवाइस में लगे हाई डेफिनेशन रंगीन कैमरे और संवेदनशील इन्फ्रारेड प्रोजेक्टर की मदद से वस्तुओं की मात्रा का सटीक आकलन किया जा सकता है। इससे कचरे की मात्रा के साथ-साथ कचरे के विभिन्न प्रकारों- मलबा, प्लास्टिक और जैविक रूप से अपघटित होने वाले कचरे- का भी पता लगा सकते हैं।

इस शोध के लिये दिल्ली के चार ऐसे इलाकों में कचरे का सर्वेक्षण किया गया, जो विभिन्न सामाजिक-आर्थिक वर्गों का प्रतिनिधित्व करते हैं। इन इलाकों में बृजपुरी, भोगल, जंगपुरा एक्सटेंशन और सफदरजंग एन्कलेव शामिल हैं।

यूनिवर्सिटी ऑफ मिनेसोटा के शोधकर्ता डॉ. अजय सिंह नागपुरे ने इण्डिया साइंस वायर को बताया कि म्युनिसिपल कचरे का आकलन करने के लिये हमने पहली बार 3डी सेंसर तकनीक का उपयोग किया है। इसलिये, अध्ययन क्षेत्र में सेंसर्स का उपयोग करने से पहले उनकी वैधता की जाँच की गई है। यह अध्ययन शोध पत्रिका रिसोर्सेज कन्जर्वेशन एंड रिसाइक्लिंग में प्रकाशित किया गया है।

आधिकारिक आँकड़ों के अनुसार, राजधानी दिल्ली में कचरे के संग्रह की वार्षिक क्षमता 83 प्रतिशत है, जिसका अर्थ है कि नगरपालिका द्वारा इतना अपशिष्ट एकत्रित किया जाता है और लैंडफिल में ले जाया जाता है। लेकिन, अध्ययन में कचरे को एकत्रित करने की क्षमता विभिन्न इलाकों में अलग-अलग पाई गई है, जिसका सम्बन्ध आर्थिक स्थिति से जुड़ा हुआ है। निम्न आय वर्ग वाले इलाकों में यह क्षमता 67 प्रतिशत है, जबकि उच्च आय वाले क्षेत्रों में 99 प्रतिशत तक है। उच्च आय वर्ग की कॉलोनियों में डोर-टू-डोर कचरे के संग्रह की सुविधा है और साथ ही कचरा संग्रह केन्द्रों और म्युनिसिपल कर्मचारियों की उपलब्धता भी अच्छी है। कम आय वर्ग वाले क्षेत्रों में इन सुविधाओं की कमी है।

3डी स्कैनिंग तकनीक से कुड़े का अनुमान लगाता कर्मचारी3डी स्कैनिंग तकनीक से कुड़े का अनुमान लगाता कर्मचारीअध्ययनकर्ताओं के अनुसार, सार्वजनिक कचरा संग्रह केन्द्रों या ढलाव के अलावा कहीं पर भी खुले में कचरा फेंकना गैर-कानूनी है।

प्रतिदिन निकलने वाले म्युनिसिपल कचरे के एकत्रीकरण की क्षमता भारत के अधिकतर शहरों में 50 से 90 प्रतिशत तक है। बाकी का कचरा सड़कों के किनारे या फिर खुले प्लाटों में जमा होता रहता है।

डॉ नागपुरे के अनुसार, “इस पद्धति से पता लगाया जा सकता है कि हमारे शहर वास्तव में कितने स्वच्छ हैं। यह पद्धति देशभर में कचरे का आकलन करने के लिये उपयोग की जा सकती है। इसकी मदद से कचरे के निपटारे के लिये सही रणनीतियाँ बनाने में भी मदद मिल सकती है।”

 

 

 

TAGS

municipal solid waste, plastic, waste collection efficiency, Delhi, 3D scanner, municipal solid waste management in india, solid waste collection methods, types of collection of solid waste, methods of solid waste collection ppt, collection of solid waste pdf, types of waste collection systems, solid waste collection equipment, house to house collection of solid waste, collection of solid waste management, municipal solid waste management pdf, municipal solid waste management lecture notes, segregation of municipal solid waste, composition of municipal solid waste, municipal solid waste management ppt, municipal solid waste management and handling rules, collection of municipal solid waste, What are the sources of municipal solid waste?, What are the three types of solid waste?, What are examples of solid waste?, What is a municipal solid waste landfill?, What is the municipal solid waste?, What are the types of waste?, What is waste and types of waste?, What are the types of liquid waste?, What is the classification of solid waste?, What is meant by solid waste?, What are the types of garbage?, What are the causes of solid waste?, Where does municipal solid waste go?, What is municipal solid waste in India?, What is non municipal solid waste?, What is collection efficiency?, How is waste collected and disposed of?, How much waste is generated at home in a day in India?, What is waste and types of waste?, What is a good DSO?, What is a good collection effectiveness index?, How do we control waste?, What are the benefits of waste management?, What are the 4 R's?, Why is zero waste important?, How do you segregate waste at home?, How do you manage waste?, What are the 3 types of waste?, What are the three types of solid waste?, What are the seven wastes?.

 

 

 

Add new comment

This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions.

1 + 0 =
Solve this simple math problem and enter the result. E.g. for 1+3, enter 4.

More From Author

Related Articles (Topic wise)

Related Articles (District wise)

About the author

नया ताजा