नया ताजा

पसंदीदा आलेख

आगामी कार्यक्रम

खासम-खास

Submitted by HindiWater on Fri, 02/21/2020 - 10:10
शुद्ध जल उपलब्धता - मध्यप्रदेश के बढ़ते सधे कदम 
मध्यप्रदेश में पिछले कुछ दिनों से लोगों को पीने के साफ पानी को उपलब्ध कराने की दिशा में सरकार के स्तर पर लगातार चिन्तन चल रहा है। कार्यशालाएं हो रही हैं। देश भर से जल विशेषज्ञों को आमंत्रित कर उनकी राय ली जा रही है। अनुभव बटोरे जा रहे हैं। इस चिन्तन में पीएचई मंत्री और ग्रामीण विकास मंत्री, अपनी-अपनी टीम को लेकर एक साथ खड़े दिखाई दे रहे हैं।

Content

Submitted by Hindi on Thu, 11/03/2011 - 09:35
Source:
मंथन-इंडिया
खण्डवा जिले का मैपछोटे और मझोले आकार के शहरों की बुनियादी ढाँचा विकास परियोजना (यूआईडीएसएसएमटी) के तहत मध्यप्रदेश के कस्बे खण्डवा में जलप्रदाय आवर्धन हेतु निजी कंपनी से अनुबंध किया गया है। यह प्रारंभिक नोट इसी शहर के केस अध्ययन पर आधारित है। इस अनुबंध के तहत शहर की जलप्रदाय योजना एक निजी कंपनी विश्वा इंफ्रास्ट्राक्चर्स एण्ड सर्विसेस प्राइवेट लिमिटेड को सौंप दी गई है।
Submitted by Hindi on Tue, 10/25/2011 - 15:23
Source:
शुक्रवार पत्रिका, अक्टूबर 2011

हिंदी भाषी परिवारों का आकार देखते हुए दो लाख की संख्या का भी बड़ा मतलब नहीं होना चाहिए लेकिन जब बात हिंदी किताब की बिक्री की हो तो यह सचमुच में यह आंकड़ा बहुत बड़ा है। एक जमाने में गुलशन नंदा जैसों के उपन्यास वगैरह की बिक्री के दावों को छोड़ दें तो आज के हिंदी प्रकाशन व्यवसाय के लिए दो हजार प्रतियों का बिकना भी किताब का सुपरहिट होना है। अब इसे अनुपम मिश्र और गांधी शांति प्रतिष्ठान का स्वभाव मानना चाहिए कि वे अपनी किताब आज भी खरे हैं तालाब की छपाई दो लाख पार करने पर न कोई शोर मचा रहे हैं, न विज्ञापन कर रहे हैं। अगर इस अवसर का अपना व्यावसायिक लाभ या कोई पुरस्कार वगैरह पाने की उम्मीद होती तो यह काम जरूरी होता लेकिन अनुपम मिश्र न तो पुरस्कारों की होड़ में हैं, न थे और न ही गांधी शांति प्रतिष्ठान किताब से कमाई को बढ़ाना चाहता है।

Submitted by Hindi on Mon, 10/24/2011 - 16:59
Source:
indiamark handpump

पिछले दिनों अमेठी के करीब 250 मानिंदों की सहभागिता से संपन्न हुए एक उर्जा सम्मेलन ने चेतना जगाई है। सिर पर आ गये पानी के संकट की गुहार ने अमेठी के लोगों की नींद तोड़ी है। मुट्ठी भर लोग लोटा-डोरी बांधकर जलयात्रा पर निकल भी चुके हैं। दुआ कीजिए कि ये सफल हों!

प्रयास

Submitted by HindiWater on Fri, 02/28/2020 - 13:14
च्युइंगम और पेपर से ईंट बनाकर 16 साल की उम्र में खोली खुद की कंपनी
गुजरात के वालसाड के रहने वाले बिनिश देसाई ने ऐसा कर दिखाया है। उन्होंने न केवल ऐसा अनोखा और सफल उपयोग कर नई इबारत लिखी, बल्कि 16 वर्ष की उम्र में खुद की कंपनी खोलकर पूरी दुनिया के लिए मिसाल बन गए हैं। वहीं अभी तक 700 टन से अधिक औद्योगिक कचरे का पुनर्चक्रण कर चुके हैं। 

नोटिस बोर्ड

Submitted by RuralWater on Mon, 02/17/2020 - 15:35
Source:
Hindi Watet Portal
नदी घाटी विचार मंच
अब खतरा मात्र नदी नही, नदी घाटियों पर सामने दिखता है। नदी घाटियों का व्यवसायिकरण हो रहा है। बांधों की बात तो पीछे छोड़े, पूरी नदी घाटी, नदी जोड़ परियोजना से प्रभावित होने की बात है; जिसका न केवल मानव बल्कि पूरी प्रकृति पर स्थानीय देशी और वैश्विक प्रभाव भी हो रहा है।
Submitted by HindiWater on Mon, 02/10/2020 - 10:51
Source:
जल संसाधन प्रबंधन पर पुणे में दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला
राष्ट्रीय जल अकादमी, केन्द्रीय जल आयोग, पुणे में “जल संसाधन प्रबंधन पर प्रशिक्षण.सह.कार्यशाला” विषय पर 26-27 मार्च को गैर सरकारी संगठनों और मीडिया कर्मियों के लिए दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम एवं कार्यशाला का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम में पंजीकरण कराने के लिए किसी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जाएगा।
Submitted by HindiWater on Mon, 01/20/2020 - 11:07
Source:
मीडिया महोत्सव-2020
गत वर्षों की भांति इस बार भी 22-23 फरवरी, 2020 (शनिवार-रविवार, चतुर्दशी-अमावस्या, कृष्ण पक्ष, माघ, विक्रम संवत 2076) को “भारत का अभ्युदय : मीडिया की भूमिका” पर केन्द्रित “मीडिया महोत्सव-2020” का आयोजन भोपाल में होना सुनिश्चित हुआ है l

Latest

खासम-खास

शुद्ध जल उपलब्धता - मध्यप्रदेश के बढ़ते सधे कदम 

Submitted by HindiWater on Fri, 02/21/2020 - 10:10
Author
कृष्ण गोपाल 'व्यास’
शुद्ध जल उपलब्धता - मध्यप्रदेश के बढ़ते सधे कदम 
मध्यप्रदेश में पिछले कुछ दिनों से लोगों को पीने के साफ पानी को उपलब्ध कराने की दिशा में सरकार के स्तर पर लगातार चिन्तन चल रहा है। कार्यशालाएं हो रही हैं। देश भर से जल विशेषज्ञों को आमंत्रित कर उनकी राय ली जा रही है। अनुभव बटोरे जा रहे हैं। इस चिन्तन में पीएचई मंत्री और ग्रामीण विकास मंत्री, अपनी-अपनी टीम को लेकर एक साथ खड़े दिखाई दे रहे हैं।

Content

खण्डवा (मध्यप्रदेश) में निजीकृत जलप्रदाय परियोजना का अध्ययन

Submitted by Hindi on Thu, 11/03/2011 - 09:35
Author
मंथन-इंडिया
Source
मंथन-इंडिया
खण्डवा जिले का मैपखण्डवा जिले का मैपछोटे और मझोले आकार के शहरों की बुनियादी ढाँचा विकास परियोजना (यूआईडीएसएसएमटी) के तहत मध्यप्रदेश के कस्बे खण्डवा में जलप्रदाय आवर्धन हेतु निजी कंपनी से अनुबंध किया गया है। यह प्रारंभिक नोट इसी शहर के केस अध्ययन पर आधारित है। इस अनुबंध के तहत शहर की जलप्रदाय योजना एक निजी कंपनी विश्वा इंफ्रास्ट्राक्चर्स एण्ड सर्विसेस प्राइवेट लिमिटेड को सौंप दी गई है।

वह किताब रामचरित मानस नहीं है, लेकिन दो लाख छप चुकी है

Submitted by Hindi on Tue, 10/25/2011 - 15:23
Author
अरबिंद मोहन
Source
शुक्रवार पत्रिका, अक्टूबर 2011

हिंदी भाषी परिवारों का आकार देखते हुए दो लाख की संख्या का भी बड़ा मतलब नहीं होना चाहिए लेकिन जब बात हिंदी किताब की बिक्री की हो तो यह सचमुच में यह आंकड़ा बहुत बड़ा है। एक जमाने में गुलशन नंदा जैसों के उपन्यास वगैरह की बिक्री के दावों को छोड़ दें तो आज के हिंदी प्रकाशन व्यवसाय के लिए दो हजार प्रतियों का बिकना भी किताब का सुपरहिट होना है। अब इसे अनुपम मिश्र और गांधी शांति प्रतिष्ठान का स्वभाव मानना चाहिए कि वे अपनी किताब आज भी खरे हैं तालाब की छपाई दो लाख पार करने पर न कोई शोर मचा रहे हैं, न विज्ञापन कर रहे हैं। अगर इस अवसर का अपना व्यावसायिक लाभ या कोई पुरस्कार वगैरह पाने की उम्मीद होती तो यह काम जरूरी होता लेकिन अनुपम मिश्र न तो पुरस्कारों की होड़ में हैं, न थे और न ही गांधी शांति प्रतिष्ठान किताब से कमाई को बढ़ाना चाहता है।

इंडिया वाटर बनाम इंडिया मार्का

Submitted by Hindi on Mon, 10/24/2011 - 16:59
Author
अरुण तिवारी
indiamark handpump

पिछले दिनों अमेठी के करीब 250 मानिंदों की सहभागिता से संपन्न हुए एक उर्जा सम्मेलन ने चेतना जगाई है। सिर पर आ गये पानी के संकट की गुहार ने अमेठी के लोगों की नींद तोड़ी है। मुट्ठी भर लोग लोटा-डोरी बांधकर जलयात्रा पर निकल भी चुके हैं। दुआ कीजिए कि ये सफल हों!

प्रयास

च्युइंगम और पेपर से ईंट बनाकर 16 साल की उम्र में खोली खुद की कंपनी

Submitted by HindiWater on Fri, 02/28/2020 - 13:14
च्युइंगम और पेपर से ईंट बनाकर 16 साल की उम्र में खोली खुद की कंपनी
गुजरात के वालसाड के रहने वाले बिनिश देसाई ने ऐसा कर दिखाया है। उन्होंने न केवल ऐसा अनोखा और सफल उपयोग कर नई इबारत लिखी, बल्कि 16 वर्ष की उम्र में खुद की कंपनी खोलकर पूरी दुनिया के लिए मिसाल बन गए हैं। वहीं अभी तक 700 टन से अधिक औद्योगिक कचरे का पुनर्चक्रण कर चुके हैं। 

नोटिस बोर्ड

नदी घाटी विचार मंच

Submitted by RuralWater on Mon, 02/17/2020 - 15:35
Source
Hindi Watet Portal
नदी घाटी विचार मंच
अब खतरा मात्र नदी नही, नदी घाटियों पर सामने दिखता है। नदी घाटियों का व्यवसायिकरण हो रहा है। बांधों की बात तो पीछे छोड़े, पूरी नदी घाटी, नदी जोड़ परियोजना से प्रभावित होने की बात है; जिसका न केवल मानव बल्कि पूरी प्रकृति पर स्थानीय देशी और वैश्विक प्रभाव भी हो रहा है।

जल संसाधन प्रबंधन पर पुणे में दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला

Submitted by HindiWater on Mon, 02/10/2020 - 10:51
जल संसाधन प्रबंधन पर पुणे में दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला
राष्ट्रीय जल अकादमी, केन्द्रीय जल आयोग, पुणे में “जल संसाधन प्रबंधन पर प्रशिक्षण.सह.कार्यशाला” विषय पर 26-27 मार्च को गैर सरकारी संगठनों और मीडिया कर्मियों के लिए दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम एवं कार्यशाला का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम में पंजीकरण कराने के लिए किसी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जाएगा।

मीडिया महोत्सव-2020

Submitted by HindiWater on Mon, 01/20/2020 - 11:07
मीडिया महोत्सव-2020
गत वर्षों की भांति इस बार भी 22-23 फरवरी, 2020 (शनिवार-रविवार, चतुर्दशी-अमावस्या, कृष्ण पक्ष, माघ, विक्रम संवत 2076) को “भारत का अभ्युदय : मीडिया की भूमिका” पर केन्द्रित “मीडिया महोत्सव-2020” का आयोजन भोपाल में होना सुनिश्चित हुआ है l

Upcoming Event

Popular Articles