नया ताजा

पसंदीदा आलेख

आगामी कार्यक्रम

खासम-खास

Submitted by HindiWater on Sat, 02/08/2020 - 13:15
खेती किसानी के लिए बजट 2020
कृषि में बजट की जरुरत इस तरह है जैसे मानव को वायु की क्योंकि वर्तमान समय में जब उद्योगीकरण और शहरीकरण अपनी चरम सीमा पर है जिसकी वजह से किसानी जमीन सिकुड़ती जा रही है और किसानों को अपनी फसल की आधी रकम भी नहीं मिल पाती, वहां सरकार द्वारा आवंटित बजट और योजनाओं से किसानों को बहुत मदद मिलती है।

Content

Submitted by HindiWater on Mon, 01/27/2020 - 12:11
Source:
कल्याण सिंह रावत
अपने पिता से मिली पर्यावरण संरक्षण की शिक्षा को चरिचार्थ किया और चिपको आंदोलन की धरती पर मैती आंदोलन की शुरुआत की। उनका आंदोलन पहाड़ की पथरीली जमीन से निकलकर सात समुंदर पार तक अपनी खुशहाली के बीज रोप रहा है। जिसके लिए भारत सरकार द्वारा 26 जनवरी 2020 को उन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया।
Submitted by HindiWater on Sat, 01/25/2020 - 16:13
Source:
कुरुक्षेत्र, जनवरी, 2020
नए भारत की स्वास्थ्य सुविधाओं का रोडमैप
अगर हम विश्वस्तरीय स्वास्थ्य प्रणाली करना चाहते हैं, तो हमें पहले मेडिकल से जुड़ी शिक्षा में निवेश कर इसे विश्व-स्तर का बनाना होगा। सरकार ने इसी साल राष्ट्रीय मेडिकल परिषद अधिनियम 2019 पारित किया है। भारत में मेडिकल शिक्षा व्यवस्था में बड़ा बदलाव लाने के मकसद से यह कानून लाया गयाहै। कुशल नर्सिंग पेशेवरों की संख्या बढ़ाने के लिए भी इसी तरह के प्रयास किए जा रहे हैं।
Submitted by HindiWater on Sat, 01/25/2020 - 10:54
Source:
भा.कृ.अनु.प.-केन्द्रीय शुष्क क्षेत्र अनुसंधान संस्थान, जोधपुर-342003
प्रतीकात्मक एग्री-वोल्टाइक प्रणाली
एग्री-वोल्टाइक प्रणाली का विचार भविष्य में खाद्य एवं ऊर्जा की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए लाया गया, जिसमें एकल भू उपयोग तंत्र में फसल एवं बिजली, दोनों का उत्पादन किया जा सकता है। राजस्थान का पश्चिमी भाग सौर ऊर्जा के लिए बहुत ही उपयुक्त जगह है, जहाँ वर्ष में तकरीबन 300 दिन प्रचुर मात्रा में सूर्य का धूप मिलता है।

प्रयास

Submitted by HindiWater on Mon, 02/10/2020 - 16:22
पीठ पर प्लास्टिक कचरे से भरे बोरो को लादे हुए प्रदीप सांगवान।
प्रदीप सांगवान हिमाचल प्रदेश में न केवल एक पेशेवर ट्रैकर हैं, बल्कि ट्रैकिंग के दौरान रास्ते पर दिखने वाले प्लास्टिक कूड़े को भी एकत्रित करते हैं। अपने संघर्षपूर्ण जीवन में प्रदीप अभी तक पहाड़ों से चार लाख किलोग्राम से ज्यादा प्लास्टिक कचरा एकत्रित कर चुके हैं। इस कचरे से बनी बिजली से कई गांव रोशन भी हो रहे हैं। 

नोटिस बोर्ड

Submitted by RuralWater on Mon, 02/17/2020 - 15:35
Source:
अब खतरा मात्र नदी नही, नदी घाटियों पर सामने दिखता है। नदी घाटियों का व्यवसायिकरण हो रहा है। बांधों की बात तो पीछे छोड़े, पूरी नदी घाटी, नदी जोड़ परियोजना से प्रभावित होने की बात है; जिसका न केवल मानव बल्कि पूरी प्रकृति पर स्थानीय देशी और वैश्विक प्रभाव भी हो रहा है।
Submitted by HindiWater on Mon, 02/10/2020 - 10:51
Source:
जल संसाधन प्रबंधन पर पुणे में दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला
राष्ट्रीय जल अकादमी, केन्द्रीय जल आयोग, पुणे में “जल संसाधन प्रबंधन पर प्रशिक्षण.सह.कार्यशाला” विषय पर 26-27 मार्च को गैर सरकारी संगठनों और मीडिया कर्मियों के लिए दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम एवं कार्यशाला का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम में पंजीकरण कराने के लिए किसी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जाएगा।
Submitted by HindiWater on Mon, 01/20/2020 - 11:07
Source:
मीडिया महोत्सव-2020
गत वर्षों की भांति इस बार भी 22-23 फरवरी, 2020 (शनिवार-रविवार, चतुर्दशी-अमावस्या, कृष्ण पक्ष, माघ, विक्रम संवत 2076) को “भारत का अभ्युदय : मीडिया की भूमिका” पर केन्द्रित “मीडिया महोत्सव-2020” का आयोजन भोपाल में होना सुनिश्चित हुआ है l

Latest

खासम-खास

खेती किसानी के लिए बजट 2020

Submitted by HindiWater on Sat, 02/08/2020 - 13:15
खेती किसानी के लिए बजट 2020
कृषि में बजट की जरुरत इस तरह है जैसे मानव को वायु की क्योंकि वर्तमान समय में जब उद्योगीकरण और शहरीकरण अपनी चरम सीमा पर है जिसकी वजह से किसानी जमीन सिकुड़ती जा रही है और किसानों को अपनी फसल की आधी रकम भी नहीं मिल पाती, वहां सरकार द्वारा आवंटित बजट और योजनाओं से किसानों को बहुत मदद मिलती है।

Content

मैती आंदोलन के जनक कल्याण सिंह रावत को मिला पद्मश्री

Submitted by HindiWater on Mon, 01/27/2020 - 12:11
कल्याण सिंह रावत
अपने पिता से मिली पर्यावरण संरक्षण की शिक्षा को चरिचार्थ किया और चिपको आंदोलन की धरती पर मैती आंदोलन की शुरुआत की। उनका आंदोलन पहाड़ की पथरीली जमीन से निकलकर सात समुंदर पार तक अपनी खुशहाली के बीज रोप रहा है। जिसके लिए भारत सरकार द्वारा 26 जनवरी 2020 को उन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया।

नए भारत की स्वास्थ्य सुविधाओं का रोडमैप

Submitted by HindiWater on Sat, 01/25/2020 - 16:13
Source
कुरुक्षेत्र, जनवरी, 2020
नए भारत की स्वास्थ्य सुविधाओं का रोडमैप
अगर हम विश्वस्तरीय स्वास्थ्य प्रणाली करना चाहते हैं, तो हमें पहले मेडिकल से जुड़ी शिक्षा में निवेश कर इसे विश्व-स्तर का बनाना होगा। सरकार ने इसी साल राष्ट्रीय मेडिकल परिषद अधिनियम 2019 पारित किया है। भारत में मेडिकल शिक्षा व्यवस्था में बड़ा बदलाव लाने के मकसद से यह कानून लाया गयाहै। कुशल नर्सिंग पेशेवरों की संख्या बढ़ाने के लिए भी इसी तरह के प्रयास किए जा रहे हैं।

एग्री-वोल्टाइक प्रणाली: एकल भूमि उपयोग तंत्र में फसल एवं बिजली उत्पादन तथा वर्षा जल संरक्षण

Submitted by HindiWater on Sat, 01/25/2020 - 10:54
Source
भा.कृ.अनु.प.-केन्द्रीय शुष्क क्षेत्र अनुसंधान संस्थान, जोधपुर-342003
प्रतीकात्मक एग्री-वोल्टाइक प्रणाली
एग्री-वोल्टाइक प्रणाली का विचार भविष्य में खाद्य एवं ऊर्जा की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए लाया गया, जिसमें एकल भू उपयोग तंत्र में फसल एवं बिजली, दोनों का उत्पादन किया जा सकता है। राजस्थान का पश्चिमी भाग सौर ऊर्जा के लिए बहुत ही उपयुक्त जगह है, जहाँ वर्ष में तकरीबन 300 दिन प्रचुर मात्रा में सूर्य का धूप मिलता है।

प्रयास

प्रदीप के प्रयास से पहाड़ के कचरे से गांवों को मिल रही बिजली

Submitted by HindiWater on Mon, 02/10/2020 - 16:22
पीठ पर प्लास्टिक कचरे से भरे बोरो को लादे हुए प्रदीप सांगवान।
प्रदीप सांगवान हिमाचल प्रदेश में न केवल एक पेशेवर ट्रैकर हैं, बल्कि ट्रैकिंग के दौरान रास्ते पर दिखने वाले प्लास्टिक कूड़े को भी एकत्रित करते हैं। अपने संघर्षपूर्ण जीवन में प्रदीप अभी तक पहाड़ों से चार लाख किलोग्राम से ज्यादा प्लास्टिक कचरा एकत्रित कर चुके हैं। इस कचरे से बनी बिजली से कई गांव रोशन भी हो रहे हैं। 

नोटिस बोर्ड

नदी घाटी विचार मंच

Submitted by RuralWater on Mon, 02/17/2020 - 15:35
अब खतरा मात्र नदी नही, नदी घाटियों पर सामने दिखता है। नदी घाटियों का व्यवसायिकरण हो रहा है। बांधों की बात तो पीछे छोड़े, पूरी नदी घाटी, नदी जोड़ परियोजना से प्रभावित होने की बात है; जिसका न केवल मानव बल्कि पूरी प्रकृति पर स्थानीय देशी और वैश्विक प्रभाव भी हो रहा है।

जल संसाधन प्रबंधन पर पुणे में दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला

Submitted by HindiWater on Mon, 02/10/2020 - 10:51
जल संसाधन प्रबंधन पर पुणे में दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला
राष्ट्रीय जल अकादमी, केन्द्रीय जल आयोग, पुणे में “जल संसाधन प्रबंधन पर प्रशिक्षण.सह.कार्यशाला” विषय पर 26-27 मार्च को गैर सरकारी संगठनों और मीडिया कर्मियों के लिए दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम एवं कार्यशाला का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम में पंजीकरण कराने के लिए किसी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जाएगा।

मीडिया महोत्सव-2020

Submitted by HindiWater on Mon, 01/20/2020 - 11:07
मीडिया महोत्सव-2020
गत वर्षों की भांति इस बार भी 22-23 फरवरी, 2020 (शनिवार-रविवार, चतुर्दशी-अमावस्या, कृष्ण पक्ष, माघ, विक्रम संवत 2076) को “भारत का अभ्युदय : मीडिया की भूमिका” पर केन्द्रित “मीडिया महोत्सव-2020” का आयोजन भोपाल में होना सुनिश्चित हुआ है l

Upcoming Event

Popular Articles