नया ताजा

पसंदीदा आलेख

आगामी कार्यक्रम

खासम-खास

Submitted by HindiWater on Sat, 09/19/2020 - 17:44
अनुपम मिश्र

आज भी खरे है तालाब अनुपम मिश्र की बहुचर्चित पुस्तक - 02 अध्याय नींव से शिखर तक रमाकान्त राय के संगीतमय अंदाज में

Content

Submitted by HindiWater on Thu, 08/13/2020 - 11:48
Source:
ग्लोबल वार्मिंग के कारण कनाडा की अंतिम साबुत बची हिमचट्टान टूटी
दुनिया भर में ग्लोबल वार्मिंग का असर अब तेजी से बढ़ने लगा है। उत्तरी अमेरिका के देश ‘कनाडा’ में साबुत बची अंतिम हिमचट्टान का अधिकांश हिस्सा टूटकर विशाल हिमशैल द्वीपों में बिखर गया। ये लगभग 4 हजार साल पुरानी हिमचट्टान थी, जो एलेसमेरे द्वीप के उत्तर पश्चिम पर मौजूद थी। ये आकार में कोलंबिया जिले से बड़ी, यानि लगभग 187 वर्ग किलोमीटर में फैली हुई थी, लेकिन 43 प्रतिशत हिस्सा टूटने से यह महज 106 वर्ग किलोमीटर ही शेष रह गई है। इससे वैज्ञानिकों में अब खलबली मच गई है। 
Submitted by UrbanWater on Wed, 08/12/2020 - 13:00
Source:
चंचलिया गांव में घुसा बाढ़ का पानी. फ़ोटो: उमेश कुमार राय
धनंजय कुमार सारण जिले के तरैया ब्लॉक की चंचलिया पंचायत में रहते हैं। बाढ़ आने के बाद प्रशासन की तरफ से कम्युनिटी किचेन खोला गया था। स्थानीय लोगों ने बताया कि बाढ़ का पानी गांव में घुसने के तीन दिन बाद कम्युनिटी किचेन शुरू हुआ था, लेकिन अभी चार दिन पहले ही उन्हें बंद कर दिया गया। धनंजय कुमार ने बताया, “कम्युनिटी किचेन बंद हो जाने से लोगों के सामने भुखमरी की नौबत आ गई है क्योंकि उनके पास जो भी अनाज बचा हुआ था, अब खत्म हो गया है।”
Submitted by HindiWater on Tue, 08/11/2020 - 16:30
Source:
वन विभाग बना भगीरथ, सूख रही हेवल नदी में लौट रहा पानी
पुजार गांव ही हेवल नदी का जलग्रहण क्षेत्र है। ये गंगा की सहायक नदी है। करीब 167 गांवों के एक लाख से ज्यादा लोगों की प्यास नदी ही बुझाती है। सिंचाई के लिए नदी पर निर्भर होने के कारण लोगों के लिए हेवल नदी आजीविका का भी माध्यम है, लेकिन कभी पूरे साल कल-कल निनाद करते हुए बहने वाली ये नदी आज सूखने की कगार पर पहुंच चुकी है। जिससे लोगों के सामने आजीविका का संकट गहरा रहा है। इस समस्या को देख वन विभाग भगीरथ बनकर नदी को बचाने के प्रयास में जुट गया है।

प्रयास

Submitted by HindiWater on Tue, 09/22/2020 - 17:33
आजीविका की बदौलत ग्रामीण महिलाओं में सामाजिक बदलाव
मध्यप्रदेश के इंदौर में आजीविका की बदौलत ग्रामीण महिलाओं में सामाजिक बदलाव की सुहानी सूरत देखने को मिल रही है। महिलाओं को संगठित कर राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन उनके हाथों में हुनर सौंप रहा है। उन्हें संसाधन मुहैया करा रहा है। निर्धन परिवारों की महिलाओं के लिए आजीविका नारी सशक्तिकरण की नयी मिसाल बन गई है।

नोटिस बोर्ड

Submitted by HindiWater on Wed, 09/30/2020 - 10:41
Source:
पानी रे पानी
कला प्रतियोगिता के नियम 1) इसके दो आयु वर्ग होंगे : . 5 से 8 वर्ष . 9 से 14 वर्ष
Submitted by HindiWater on Sat, 09/26/2020 - 13:34
Source:
गांधी शांति प्रतिष्ठान
2 अक्टूबर 2020 को दोपहर 3 बजे गांधी जयंती के अवसर पर गांधी शांति प्रतिष्ठान, नई दिल्ली मैं आंधी और न्याय विषय पर  प्रख्यात अधिवक्ता व भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन के पुरोधा श्री प्रशांत भूषण अपना व्याख्यान देंगे । गांधी शांति प्रतिष्ठान सभागार में सीमित संख्या में श्रोताओं की उपस्थिति रहेगी इस कार्यक्रम को फेसबुक लाइव के जरिए भी देखा जा सकता है ।
Submitted by HindiWater on Fri, 09/25/2020 - 12:47
Source:
प्रीतीकात्मक चित्र - संजय घोष मीडिया अवार्ड
दिल्ली स्थित एक गैर-लाभकारी संगठन चरखा डेवलपमेंट कम्युनिकेशन नेटवर्क ने "संजय घोष मीडिया अवार्ड -2020" में आवेदन की घोषणा की है। यह उन लेखकों के लिए एक मंच प्रदान करेगा जो ग्रामीण महिलाओं की छिपी प्रतिभा को उजागर करने का साहस रखते हैं। कुल पांच महीनों के लिए, पांच प्रति चयनित उम्मीदवारों को 50,000 रुपये के पुरस्कार दिए जाएंगे।

Latest

खासम-खास

आज भी खरे है तालाब-अध्याय 2 नींव से शिखर तक संगीतमय वाचन

Submitted by HindiWater on Sat, 09/19/2020 - 17:44
Author
इंडिया वाटर पोर्टल (हिंदी)
aaj-bhi-khare-hai-talab-adhyay-2-neev-se-shikhar-tak-sangitamay-vachan
Source
रमाकांत राय
अनुपम मिश्र

आज भी खरे है तालाब अनुपम मिश्र की बहुचर्चित पुस्तक - 02 अध्याय नींव से शिखर तक रमाकान्त राय के संगीतमय अंदाज में

Content

ग्लोबल वार्मिंग के कारण कनाडा की अंतिम साबुत बची हिमचट्टान टूटी

Submitted by HindiWater on Thu, 08/13/2020 - 11:48
global-warming-ke-kaaran-canada-ki-antim-sabut-milne-himchattan-tooti
ग्लोबल वार्मिंग के कारण कनाडा की अंतिम साबुत बची हिमचट्टान टूटी
दुनिया भर में ग्लोबल वार्मिंग का असर अब तेजी से बढ़ने लगा है। उत्तरी अमेरिका के देश ‘कनाडा’ में साबुत बची अंतिम हिमचट्टान का अधिकांश हिस्सा टूटकर विशाल हिमशैल द्वीपों में बिखर गया। ये लगभग 4 हजार साल पुरानी हिमचट्टान थी, जो एलेसमेरे द्वीप के उत्तर पश्चिम पर मौजूद थी। ये आकार में कोलंबिया जिले से बड़ी, यानि लगभग 187 वर्ग किलोमीटर में फैली हुई थी, लेकिन 43 प्रतिशत हिस्सा टूटने से यह महज 106 वर्ग किलोमीटर ही शेष रह गई है। इससे वैज्ञानिकों में अब खलबली मच गई है। 

बिहार बाढ़: सब खाना खत्म हो गया सरकार हमें खाना दो

Submitted by UrbanWater on Wed, 08/12/2020 - 13:00
Author
उमेश कुमार राय
bihar-badha:-sub-khana-khatm-ho-gaya-sarkar-hamen-khana-do
चंचलिया गांव में घुसा बाढ़ का पानी. फ़ोटो: उमेश कुमार राय
धनंजय कुमार सारण जिले के तरैया ब्लॉक की चंचलिया पंचायत में रहते हैं। बाढ़ आने के बाद प्रशासन की तरफ से कम्युनिटी किचेन खोला गया था। स्थानीय लोगों ने बताया कि बाढ़ का पानी गांव में घुसने के तीन दिन बाद कम्युनिटी किचेन शुरू हुआ था, लेकिन अभी चार दिन पहले ही उन्हें बंद कर दिया गया। धनंजय कुमार ने बताया, “कम्युनिटी किचेन बंद हो जाने से लोगों के सामने भुखमरी की नौबत आ गई है क्योंकि उनके पास जो भी अनाज बचा हुआ था, अब खत्म हो गया है।”

वन विभाग बना भगीरथ, सूख रही हेवल नदी में लौट रहा पानी

Submitted by HindiWater on Tue, 08/11/2020 - 16:30
uttarakhand-ki-heval-nadi-ka-punarjeevan
वन विभाग बना भगीरथ, सूख रही हेवल नदी में लौट रहा पानी
पुजार गांव ही हेवल नदी का जलग्रहण क्षेत्र है। ये गंगा की सहायक नदी है। करीब 167 गांवों के एक लाख से ज्यादा लोगों की प्यास नदी ही बुझाती है। सिंचाई के लिए नदी पर निर्भर होने के कारण लोगों के लिए हेवल नदी आजीविका का भी माध्यम है, लेकिन कभी पूरे साल कल-कल निनाद करते हुए बहने वाली ये नदी आज सूखने की कगार पर पहुंच चुकी है। जिससे लोगों के सामने आजीविका का संकट गहरा रहा है। इस समस्या को देख वन विभाग भगीरथ बनकर नदी को बचाने के प्रयास में जुट गया है।

प्रयास

आजीविका की बदौलत सामाजिक बदलाव

Submitted by HindiWater on Tue, 09/22/2020 - 17:33
ajivika-key-badoulat-samajik-badlav
आजीविका की बदौलत ग्रामीण महिलाओं में सामाजिक बदलाव
मध्यप्रदेश के इंदौर में आजीविका की बदौलत ग्रामीण महिलाओं में सामाजिक बदलाव की सुहानी सूरत देखने को मिल रही है। महिलाओं को संगठित कर राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन उनके हाथों में हुनर सौंप रहा है। उन्हें संसाधन मुहैया करा रहा है। निर्धन परिवारों की महिलाओं के लिए आजीविका नारी सशक्तिकरण की नयी मिसाल बन गई है।

नोटिस बोर्ड

पानी रे पानीअभियान के तहत गांधी जयंती के अवसर पर आयोजित कला प्रतियोगिता

Submitted by HindiWater on Wed, 09/30/2020 - 10:41
pani-ray-paniabhiyan-kay-tahat-gandhi-jayanti-kay-avsar-par-ayojit-kala-pratiyogita
पानी रे पानी
कला प्रतियोगिता के नियम 1) इसके दो आयु वर्ग होंगे : . 5 से 8 वर्ष . 9 से 14 वर्ष

गांधी शांति प्रतिष्ठान व्याख्यानमाला

Submitted by HindiWater on Sat, 09/26/2020 - 13:34
gandhi-shanti-pratishthan-vyakhyanmala
गांधी शांति प्रतिष्ठान
2 अक्टूबर 2020 को दोपहर 3 बजे गांधी जयंती के अवसर पर गांधी शांति प्रतिष्ठान, नई दिल्ली मैं आंधी और न्याय विषय पर  प्रख्यात अधिवक्ता व भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन के पुरोधा श्री प्रशांत भूषण अपना व्याख्यान देंगे । गांधी शांति प्रतिष्ठान सभागार में सीमित संख्या में श्रोताओं की उपस्थिति रहेगी इस कार्यक्रम को फेसबुक लाइव के जरिए भी देखा जा सकता है ।

"संजय घोष मीडिया अवार्ड-2020" की घोषणा”

Submitted by HindiWater on Fri, 09/25/2020 - 12:47
"sanjay-ghose-media-avard-2020"-key-ghoshana”
प्रीतीकात्मक चित्र - संजय घोष मीडिया अवार्ड
दिल्ली स्थित एक गैर-लाभकारी संगठन चरखा डेवलपमेंट कम्युनिकेशन नेटवर्क ने "संजय घोष मीडिया अवार्ड -2020" में आवेदन की घोषणा की है। यह उन लेखकों के लिए एक मंच प्रदान करेगा जो ग्रामीण महिलाओं की छिपी प्रतिभा को उजागर करने का साहस रखते हैं। कुल पांच महीनों के लिए, पांच प्रति चयनित उम्मीदवारों को 50,000 रुपये के पुरस्कार दिए जाएंगे।

Upcoming Event

Popular Articles