धूप में सूखने लगे होंठ, मगर नहीं खुले प्याऊ

Submitted by RuralWater on Tue, 04/23/2019 - 15:41
Printer Friendly, PDF & Email

हिन्दुस्तान फतेहपुर, 23 अप्रैल 2019

विगत दिनों हुई हल्की बारिश का असर खत्म होने के बाद फिर से गर्मी का प्रकोप बढ़ गया है। दोपहर में चल रही गर्म हवाओं से आम लोग बेहाल हैं और दोपहर में सड़कों पर पसरा सन्नाटा गर्मी की भयावहता की गवाही दे रहा है। 

वहीं नगर पालिका प्रशासन अभी तक गम्भीर नहीं हुआ। शहर के मुख्य सार्वजनिक स्थानों में प्याऊ नहीं खुलवाए। जिससे गांव कस्बों से शहर आने वाले लोगों को पेयजल के लिए इधर उधर भटकना पड़ रहा है। मजबूरी में लोग अपने हाथों से तैयार पानी पाउच खरीद कर गला तर करते देखे जा रहे हैं। पन्नियों में साधारण पानी भर कर पानी पाउच कितना शुद्ध होते हैं, इसका सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है। .

वैसे तो मार्च महीने के अंत से ही गर्मी ने दस्तक दे दी थी लेकिन बीच में हुई हल्की बारिश ने लोगों को काफी राहत पहुंचाई। मौसम में ठंडक होने के कारण लोगों को बड़ा सुकून मिला था लेकिन इसका असर खत्म होते ही फिर से गर्मी का प्रकोप कई गुना बढ़ गया है। .

सोमवार को तापमान 41 डिग्री से अधिक होने के कारण दोपहर में गर्म हवाओं के थपेड़ों से सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। गर्मी से बचाव के लिए लोग खुद को साफी, अंगौछा व अन्य साधनों का इस्तेमाल कर रहे हैं। गर्मी का ही असर है कि लोग गर्मी से बेहाल होकर जहां भी छाया दिखी, वहीं खड़े होकर गर्मी से बचने का प्रयास करते रहे। लगातार बढ़ रहे तापमान से जनजीवन पर बुरा असर पड़ रहा है। सोमवार को दोपहर में स्कूलों की छुट्टी होने के बाद नौनिहाल तपते हुए घर की ओर जाते देखे गए। अभिभावकों ने मांग की है कि गर्मी को देखते हुए या तो स्कूलों में छुटटी कर दी जाए या फिर इनका समय बदल दिया जाए। जिससे नौनिहाल बच्चों को तेज धूप से बचाया जा सके।