फ्लोराइड मुक्त पेयजल योजना के बुरे हाल

Submitted by RuralWater on Sun, 12/04/2016 - 12:18


धार। कालीकराई डैम से 62 बसाहटों में फ्लोराइड मुक्त पेयजल योजना के तहत ग्राम लेड़गाँव में पिछले साल भर से ठेकेदार द्वारा धीमी गति से कार्य किया जा रहा है। इस बीच तीन बार काम रुक भी गया। दो माह बाद गुरुवार से काम पुनः प्रारम्भ हुआ। अब यह ग्रामीणों के लिये परेशानी बनकर उभरा है। दरअसल, जेसीबी से नई लाइन खोदने के दौरान ठेकेदार द्वारा बरसों पुरानी पेयजल लाइन को क्षतिग्रस्त कर दिया गया। ऐसे में लाइन ठीक करने में तीन से चार दिन का समय लगेगा, तब तक लोगों को पानी के लिये परेशानी झेलनी पड़ेगी।

ग्रामीण कैलाशचंद्र ने बताया कि एक साल से लाइन डालने का कार्य किया जा रहा है, लेकिन कुछ ही हिस्सों में कार्य हो पाया है। ठेकेदार द्वारा दो से तीन बार काम बन्द कर दिया गया था। दूसरी ओर विभाग द्वारा जुलाई में कार्य पूर्ण करने की बात कही जा रही है। ठेकेदार ने दो माह बाद काम शुरू किया तो पेयजल वितरण की लाइन क्षतिग्रस्त हो गई। ऐसे में गाँव में पेयजल वितरण व्यवस्था गड़बड़ा गई है। फिलहाल ग्रामीणों को यहाँ-वहाँ से पेयजल व्यवस्था की करनी पड़ रही है।

 

भीषण गर्मी में कहाँ से होगी पेयजल व्यवस्था


ग्राम के कैलाशचंद्र व्यास ने बताया कि भीषण गर्मी के समय में ग्राम पंचायत द्वारा निजी ट्यूबवेलों के माध्यम से पेयजल वितरण किया जा रहा था। अब ठेकेदार द्वारा उक्त लाइन को क्षतिग्रस्त कर दिया गया। ऐसे में पूरी तरह से जल प्रदाय व्यवस्था चरमरा गई है। जगह-जगह से लाइन खुदने के कारण लोगों को आवाजाही में भी परेशानी हो रही है। फिलहाल ग्रामीणों को यहाँ-वहाँ जाकर निजी कुआँ व ट्यूबवेल से पेयजल लाना पड़ रहा है। जबकि भीषण गर्मी के चलते अनेक जगह पेयजल स्रोत सूख चुके हैं। ऐसे में पेयजल की व्यवस्था करना मुश्किल साबित हो रहा है।

 

 

 

एक सप्ताह में पूर्ण होगा काम


सीमेंट कांक्रीट रोड को जेसीबी की मदद से तीन दिन के भीतर खोद दिया जाएगा। आगामी सप्ताह में पूरे गाँव में लाइन भी डाल दी जाएगी। कार्य तेजी के साथ किया जा रहा है। पुराने कनेक्शनधारियों को योजना के तहत जोड़ा जा रहा है...श्रीमंता डोंगरदेवे, उपयंत्री एवं प्रभारी एसडीओ, फ्लोराइड मुक्त विभाग

 

 

 

 

Disqus Comment