शिवपुरी जिले के तालाब

Submitted by Hindi on Mon, 06/27/2016 - 13:44
Source
‘बुन्देलखण्ड के तालाबों एवं जल प्रबन्धन का इतिहास,’ 2011 कॉपीराइट काशी प्रसाद त्रिपाठी

बुंदेलखंड का प्यास बुझाने वाले तालाबों का अस्तित्व संकट मेंबुंदेलखंड का प्यास बुझाने वाले तालाबों का अस्तित्व संकट मेंबुन्देलखण्ड जनपद के दक्षिणी-पश्चिमी पार्श्व में शिवपुरी जिला है। यह जिला भी पहाड़ी, पथरीला एवं वनाच्छादित जंगली भूभाग वाला है जिसका धरातलीय ढाल उत्तर-पूर्व दिशा को है, जिस कारण इसका बरसाती धरातलीय जल उत्तर की ओर प्रवाहित होकर महुअर, कुँवारी, काली सिंध, पहूज एवं सिन्ध नदियों द्वारा जिला से बाहर चला जाता रहा है। ककरीली, पथरली, पठारी एवं रांकड़ भूमि पर जिले में अनेक सुन्दर दर्शनीय सरोवर बने हुए हैं, जो बुन्देला प्रतिहार शासनकालीन हैं। सिंचाई विभाग शिवपुरी संभाग के अभिलेखानुसार जिलान्तर्गत तिरासी (83) तालाबों से सिंचाई की जाती है। जिले के वह बड़े तालाब हैं जो दर्शनीय भी हैं।

शिवपुरी परिक्षेत्र के तालाब


1. गोविन्द सागर- यह सुन्दर तालाब है। पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र है। हनुमान मन्दिर भी समीप में है।

2. चाँद पाठा सरोवर- यह बड़ा तालाब है। इसके जल का उपयोग शिवपुरी के नगर निवासियों के पीने हेतु किया जाता है।

3. बूढ़ी बरौद- यह बड़ा तालाब है जिसका भराव क्षेत्र 243 हेक्टेयर का है।

4. बाँस खेड़ी तालाब 58 हेक्टेयर का तालाब है जो जननिस्तारी है, कुछ जल कृषि सिंचाई को भी देता है।

5. बेंहट तालाब छोटा तालाब है जो 41 हेक्टेयर भराव क्षेत्र का है।

6. सतैरिया तालाब 247 हेक्टेयर भराव क्षेत्र का है। इससे सिंचाई होती है।

7. रायचन्द खेड़ी सुन्दर तालाब है जो 118 हेक्टेयर के भराव क्षेत्र का है।

8. भगौरा तालाब बहुत बड़ा सुन्दर तालाब है जो 706 हेक्टेयर के भराव क्षेत्र का है। इससे सिंचाई की जाती है।

9. सिंगनवास तालाब 118 हेक्टेयर भराव क्षेत्र का है।

10. मोहनगढ़ का तालाब 41 हेक्टेयर भराव क्षेत्र का सुन्दर तालाब है।

11. माधौ लेक- यह सुन्दर सरोवर है जो 120 हेक्टेयर के भराव क्षेत्र का है।

12. डुमधना तालाब- यह सरोवर 530 हेक्टेयर भराव क्षेत्र का है। इससे काफी सिंचाई की जाती है।

13. नारही तालाब- यह 68 हेक्टेयर भराव क्षेत्र का छोटा तालाब है।

14. राजगढ़ तालाब- यह 161 हेक्टेयर भराव क्षेत्र का है।

15. सिर सौद क्र. 2 तालाब 93 हेक्टेयर का है।

16. टौड़ा पिछोर का तालाब 49 हेक्टेयर का है।

17. खौंड चक्र 1 तालाब 121 हेक्टेयर का है।

18. पड़ोरा तालाब 63 हेक्टेयर भराव क्षेत्र का है।

19. खौंड चक्र 2 तालाब 45 हेक्टेयर का है।

20. बीरा तालाब 60 हेक्टेयर का है।

21. छपौरा तालाब- यह बड़ा तालाब है। इसका भराव क्षेत्र 1195 हेक्टेयर का है। इससे भारी भूमि सींची जाती है।

करैरा परिक्षेत्र के तालाब


22. बैरखेड़ा तालाब 189 हेक्टेयर भराव क्षेत्र का है। इससे काफी कृषि भूमि कि सिंचाई की जाती है।

23. गधाई तालाब छोटा तालाब है, जो 41 हेक्टेयर का है।

24. भेव तालाब 81 हेक्टेयर भराव क्षेत्र का है।

25. रमगढ़ा तालाब 90 हेक्टेयर के विस्तार में है। इससे कृषि सिंचाई की जाती है।

26. कड़ोरा ताल इमलिया- यह छोटा तालाब है, जो 56 हेक्टेयर का है।

27. बरसोंड़ी तालाब 104 हेक्टेयर भराव क्षेत्र का है।

28. शेरगढ़ तालाब छोटा तालाब है, जो 41 हेक्टेयर विस्तार में है।

29. झंडा तालाब 31 हेक्टेयर का है।

30. फतैपुर करैरा तालाब 81 हेक्टेयर का है। इससे सिंचाई की जाती है।

31. डिंगवास तालाब 87 हेक्टेयर भराव क्षेत्र का है।

32. गोपालिया तालाब सुन्दर तालाब है। यह 98 हेक्टेयर का है।

33. सरखड़पुर तालाब 41 हेक्टेयर का छोटा तालाब है।

34. आण्डैर तालाब बड़ा तालाब है। इससे काफी सिंचाई की जाती है। इसका भराव क्षेत्र 473 हेक्टेयर का है।

35. अलगी तालाब सुन्दर मनोरम तालाब है, जो 61 हेक्टेयर का है।

36. खिरिया पुनावली तालाब बड़ा तालाब है, जो 371 हेक्टेयर विस्तार में है।

37. दिनारा तालाब- दिनारा तालाब 702 हेक्टेयर भराव क्षेत्र का विशाल तालाब है। बाँध पर निर्मित मन्दिर-देवालयों से यहाँ धार्मिक आयोजन होते रहते हैं। इस तालाब से हजारों एकड़ कृषि सिंचाई को पानी दिया जाता है।

करैरा-नरवर परिक्षेत्र मध्य युग में ओरछा के महाराज वीरसिंह देव के अधिकार में थे, जिन्होंने करैरा का किला और दिनारा का तालाब बनवाया था। अलगी का तालाब भी वीरसिंह देव (1605-27 ई.) के समय बना था। दिनारा कस्बा एवं तालाब (देव सागर) झाँसी-करैरा बस मार्ग पर स्थित है।

ओरछा नरेश महाराजा वीरसिंह देव बुन्देला (सन 1605-27) की दुर्गों, महलों एवं तालाबों के स्थापत्य निर्माण में विशेष रुचि थी। उन्होंने अन्य स्थापत्यों एवं तालाबों के अतिरिक्त अपने नाम वीर-सिंह-देव शब्दों पर आधारित तीन विशाल सुन्दर सरोवरों-वीर सागर ग्राम वीर सागर (पृथ्वीपुर), सिंह सागर कुड़ार एवं देवसागर (दिनारा) का निर्माण कराया था।

देव सागर दिनारा का तालाब महाराजा वीरसिंह देव ने सन 1618 ई. में, उनके मांडलिक कन्हरदास की देखरेख में बनवाया था जिसका प्रमाण तालाब का निम्नांकित शिलालेख है-

“गहिरवार कासीपुरा, वीरसिंह के राज।
पंडित कन्हरदास सह फुरमाये सो काज।।
रजधानी जहाँगीरपुर, प्रजा सुषी सुष साज।
जागि धर्म सुभ कर्म सब, होत नृपत के राज।।
सोरा सै पचहत्तरा, माघ पुष्य रविवार।
हिन्दू तुरक जूउथ पै, ताहि तलाक हजार।।”


महाराजा वीरसिंह देव ने देव सागर सरोवर के निर्माण के साथ ही तालाब के वाम पार्श्व की पहाड़ी पर सुन्दर कोठी भी बनवाई थी, जो आज भी दर्शनीय खड़ी हुई है। देव सागर दिनारा तालाब दर्शनीय मनोरम सरोवर है।

38. सैमरा तालाब- यह 121 हेक्टेयर के भराव क्षेत्र का है। इससे कृषि सिंचाई को पानी दिया जाता है।

39. चिन्नोद का तालाब- यह 214 हेक्टेयर भराव क्षेत्र का है। इससे कृषि सिंचाई की जाती है।

पिछोर क्षेत्र के तालाब


40. फतेहपुर पिछोर तालाब- यह 55 हेक्टेयर का तालाब है।

41. पारौंच तालाब- यह 2145 हेक्टेयर का विशाल तालाब है। इससे नहरों द्वारा दूर-दूर तक सिंचाई की जाती है।

42. फूटीवार तालाब- यह 729 हेक्टेयर का बड़ा तालाब है। इससे नहरों द्वारा दूर-दूर तक सिंचाई की जाती है।

43. नागदा गजौरा तालाब- यह 865 हेक्टेयर का विशाल सरोवर है। इसकी नहरों से दूर-दूर तक सिंचाई होती है।

44. झालौनी तालाब- यह 994 हेक्टेयर भराव क्षेत्र का विशाल तालाब है। इससे निकली नहरों द्वारा दूर-दूर तक कृषि सिंचाई के लिये पानी दिया जाता है।

45. कछौआ तालाब- यह 100 हेक्टेयर का मनोरम तालाब है।

46. दरगुवां तालाब- यह 20 हेक्टेयर का छोटा तालाब है।

47. भीतरगुवां तालाब - यह 45 हेक्टेयर भराव क्षेत्र का सुन्दर तालाब है।

48. बमना तालाब- यह 20 हेक्टेयर भराव वाला छोटा तालाब है।

49. जराया तालाब- यह 40 हेक्टेयर भराव क्षेत्र का सुन्दर तालाब है। इससे थोड़ी-सी सिंचाई भी की जाती है।

50. मुहारी तालाब- मुहारी का तालाब 202 हेक्टेयर भराव क्षेत्र का सुन्दर तालाब है। इससे कृषि भूमि की सिंचाई की जाती है।

51. गूड़र तालाब- यह छोटा तालाब है जो मात्र 36 हेक्टेयर का है।

52. देवखी तालाब- यह 65 हेक्टेयर भराव क्षेत्र का तालाब है जिससे कृषि भूमि की सिंचाई होती है।

53. बिजरावन तालाब- बिजरावन का तालाब भी 65 हेक्टेयर भराव क्षेत्र का तालाब है।

54. हरथौन तालाब- यह 138 हेक्टेयर भराव क्षेत्र का सुन्दर तालाब है। जिससे कृषि भूमि सींची जाती है।

55. चमरौआ तालाब- यह 134 हेक्टेयर भराव क्षेत्र का तालाब है जिससे कृषि भूमि की सिंचाई की जाती है।

पोहरी परिक्षेत्र के तालाब


56. पिपलौदा तालाब- यह क्षेत्र का बड़ा तालाब है जो 891 हेक्टेयर भराव क्षेत्र का है। इससे नहरों द्वारा दूर-दूर तक कृषि सिंचाई को पानी दिया जाता है।

57. बैराड़ तालाब- बैराड़ तालाब क्षेत्र का दूसरा बड़ा तालाब है। यह 723 हेक्टेयर का तालाब है। इससे दूर-दूर तक सिंचाई होती है।

58. सैंवढ़ा तालाब- यह 432 हेक्टेयर भराव क्षेत्र का तालाब है।

59. मूंजपार तालाब- यह बड़ा तालाब है जो 551 हेक्टेयर का है जिससे दूर-दूर तक सिंचाई की जाती है।

60. पाड़र खेड़ा तालाब- यह 358 हेक्टेयर भराव क्षेत्र का तालाब है। इससे दूर-दूर तक कृषि सिंचाई को जल दिया जाता है।

61. इमलिया तालाब- यह 242 हेक्टेयर का तालाब है। इससे कृषि भूमि की सिंचाई को जल दिया जाता है।

62. भैंसरावन तालाब- यह 190 हेक्टेयर भराव का तालाब है।

63. रिंग डौली तालाब- यह छोटा तालाब है जो 41 हेक्टेयर भराव का है।

64. भटनावर तालाब- यह मात्र 41 हेक्टेयर का छोटा तालाब है।

65. टोरा तालाब- यह 174 हेक्टेयर का बड़ा तालाब है।

66. पिपर धार तालाब- यह 85 हेक्टेयर का तालाब है।

67. लैंगड़ा तालाब- यह 57 हेक्टेयर का छोटा तालाब है। इनके अतिरिक्त दो पिकवियर लैंगड़ा में हैं।

68. खूबत पिकअप वियर- यह 115 हेक्टेयर का तालाब है।

69. भानगढ़ पिकअप वियर- यह 72 हेक्टेयर भराव का तालाब है।

कोलारस क्षेत्र के तालाब


70. अकासिटी तालाब- यह बड़ा तालाब है जो 1437 हेक्टेयर का है। इससे क्षेत्र के कई ग्रामों की भूमि की सिंचाई होती है।

71. भाधव सरोवर (भड़हर) तालाब- यह बड़ा तालाब है जो 1011 हेक्टेयर भराव का है। इससे सिंचाई की जाती है।

72. कूँड़ा तालाब- यह 567 हेक्टेयर भराव का बड़ा तालाब है।

73. राम नगर तालाब- यह 45 हेक्टेयर का तालाब है।

74. बामौर बुजुर्ग तालाब- यह 42 हेक्टेयर का तालाब है।

इन तालाबों के अतिरिक्त कोलारस परिक्षेत्र में एनवारा उद्वहन, सांखनोर उद्वहन, सैसई स्टॉपडैम शिवपुरी परिक्षेत्र में डबिया गोविन्द, बुधना, शीर पिकअप वियर, करई स्टॉपडैम तथा पिसनारी की टौरिया (कोलारस), कूंडा पाड़ौन (कोलाराम) एवं परागढ़ (कोलारस) अच्छे जल संसाधन हैं।

 

बुन्देलखण्ड के

तालाबों एवं जल प्रबंधन का इतिहास

(इस पुस्तक के अन्य अध्यायों को पढ़ने के लिए कृपया आलेख के लिंक पर क्लिक करें)

क्रम

अध्याय

1

बुन्देलखण्ड के तालाबों एवं जल प्रबन्धन का इतिहास

2

टीकमगढ़ जिले के तालाब एवं जल प्रबन्धन व्यवस्था

3

छतरपुर जिले के तालाब

4

पन्ना जिले के तालाब

5

दमोह जिले के तालाब

6

सागर जिले की जलप्रबन्धन व्यवस्था

7

ललितपुर जिले के तालाब

8

चन्देरी नगर की जल प्रबन्धन व्यवस्था

9

झांसी जिले के तालाब

10

शिवपुरी जिले के तालाब

11

दतिया जिले के तालाब

12

जालौन (उरई) जिले के तालाब

13

हमीरपुर जिले के तालाब

14

महोबा जिले के तालाब

15

बांदा जिले के तालाब

16

बुन्देलखण्ड के घोंघे प्यासे क्यों

 


TAGS

Water Resources in Shivpuri in Hindi, Shivpuri Ponds history in Hindi, history of Ponds of Shivpuri, Shivpuri Ponds history in hindi, Shivpuri city and rural Ponds information in Hindi, Shivpuri palace and Ponds information in Hindi, Shivpuri fort and Ponds, Shivpuri ke talabon ka Itihas, Shivpuri ke talabob ke bare me janakari, hindi nibandh on Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel), quotes Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) in hindi, Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) hindi meaning, Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) hindi translation, Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) hindi pdf, Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) hindi, hindi poems Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel), quotations Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) hindi, Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) essay in hindi font, health impacts of Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) hindi, hindi ppt on Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel), Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) the world, essay on Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) in hindi, language, essay on Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel), Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) in hindi, essay in hindi, essay on Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) in hindi language, essay on Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) in hindi free, formal essay on Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel), essay on Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) in hindi language pdf, essay on Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) in hindi wikipedia, Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) in hindi language wikipedia, essay on Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) in hindi language pdf, essay on Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) in hindi free, short essay on Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) in hindi, Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) and greenhouse effect in Hindi, Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) essay in hindi font, topic on Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) in hindi language, essay on Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) in 1000 words in Hindi, essay on Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) for students in Hindi, essay on Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) for kids in Hindi, Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) and solution in hindi, globle warming kya hai in hindi, Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) quotes in hindi, Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) par anuchchhed in hindi, Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) essay in hindi language pdf, Shivpuri Ponds and Lake (Talab aur Jheel) essay in hindi language.


Disqus Comment