अब तक 37 डीपीआर को मिली मंजूरी

Submitted by Hindi on Fri, 04/13/2018 - 16:02
Source
अमर उजाला, 13 अप्रैल, 2018


ऑलवेदर रोड बाईपासऑलवेदर रोड बाईपास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्त्वाकांक्षी योजना ऑल वेदर रोड के तहत 3500 करोड़ की लागत से 250 किलोमीटर सड़क के निर्माण का रास्ता और साफ हो गया। इस योजना की 13 नई विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) को केन्द्रीय सड़क परिवहन, राजमार्ग मंत्रालय ने मंजूरी दे दी है। इस तरह ऑल वेदर रोड की अब तक की 52 डीपीआर में से 37 को मंजूरी मिल चुकी है। इससे पहले मंत्रालय ने 24 डीपीआर को मंजूरी दी थी, जिन पर कार्य चल रहा है।

यह योजना इस मायने में उत्तराखण्ड के लिये अहम है कि इससे पहाड़ में बड़े सामाजिक और आर्थिक बदलाव की उम्मीद की जा रही है। माना जा रहा है कि ऑलवेदर रोड के पूर्ण होते ही चार धाम यात्रा सभी मौसम में सुगम हो जायेगी। ऑल वेदर रोड के तहत प्रदेश में लगभग 12 हजार करोड़ रुपये की लागत से 890 किलोमीटर सड़क का निर्माण होना है।

केन्द्र से अब तक 8542.41 करोड़ की लागत वाली 631.366 किलोमीटर लम्बी सड़कों की 37 डीपीआर को हरी झंडी मिल चुकी है। ऑल वेदर रोड के शेष हिस्से की डीपीआर तैयार करने का कार्य प्रगति पर है। वहीं, उत्तरकाशी के गंगोरी स्थित ब्रिज पर पुलिस की तैनाती के आदेश दे दिये गये हैं ताकि ओवरलोड वाहन इससे होकर न गुजर सकें। बीआरओ ने शीघ्र ही इस पुल को आवगमन के लायक बनाने का आश्वासन दिया है। यह पुल कुछ दिन पहले क्षतिग्रस्त हो गया था।

 

 

 

 

 

ऑल वेदर रोड प्रोजेक्ट : एक नजर में

सड़क की कुल लम्बाई

890 किलोमीटर

सड़क निर्माण पर आने वाला खर्च

12 हजार करोड़

कुल डीपीआर

52

स्वीकृत डीपीआर

37

स्वीकृत कार्य की लम्बाई

631.366 किमी

स्वीकृत कार्य पर आने वाला खर्च

8542.41 करोड़

 

मुख्य सचिव ने ऑल वेदर रोड की प्रगति की समीक्षा की

मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने बृहस्पतिवार को ऑल वेदर रोड की प्रगति की समीक्षा सचिवालय में की। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उन्होंने जिलाधिकारियों से सड़क निर्माण के बारे में जानकारी हासिल की। उन्होंने निर्देश दिये कि सड़क निर्माण के दौरान निकलने वाले मलबे को किसी भी हाल में नदी क्षेत्र में नहीं डाला जाये। मलबे का निस्तारण चिन्हित डम्पिंग जोन में किया जाये। बैठक में अपर मुख्य सचिव ओम प्रकाश, सचिव राजस्व विनोद रतूड़ी, अपर सचिव पेयजल अर्जुन सिंह, पेयजल निगम के एमडी भजन सिंह, लोक निर्माण विभाग के अनु सचिव डीके पुनेठा, यूपीसीएल के निदेशक परिचालन अतुल कुमार अग्रवाल सहित अन्य कई अधिकारी मौजूद रहे।

यात्रा सीजन में सड़क के लिये पत्थर काटने पर होगी रोक

यात्रा सीजन के दौरान ऑल वेदर रोड परियोजना के तहत बनाई जाने वाली सड़क के लिये पत्थर काटने और विस्फोट से पहाड़ तोड़ने पर रोक होगी। मुख्य सचिव ने बताया कि कार्यदायी संस्थाओं के साथ-साथ सभी जिलाधिकारियों को अवगत करा दिया है कि यात्रा सीजन के दौरान आने वाले यात्रियों को सड़क निर्माण की वजह से असुविधा नहीं होनी चाहिए।

वन एवं पर्यावरण मंत्रालय ने गठित की मॉनिटरिंग कमेटी

ऑल वेदर रोड के तहत भागीरथी इको सेंसिटिव जोन में सड़क निर्माण कार्य पर नजर रखने के लिये केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय ने मॉनीटरिंग कमेटी का गठन कर दिया है। मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने बताया कि परियोजना के तहत कार्य कर रही सभी कार्यदायी संस्थाओं को निर्देश दिये गये हैं कि वे प्रभावित प्रकरणों को कमेटी के समक्ष लायें। उन्होंने बताया कि भागीरथी इको सेंसिटिव जोन का मास्टर प्लान बनाने की कार्यवाही चल रही है।

मास्टर प्लान का फाइनल ड्राफ्ट तैयार कर लिया है, जिस पर राय माँगी गई है। मास्टर प्लान के लिये गठित कमेटी की बैठक इस माह के आखिरी सप्ताह में होगी। ऑल वेदर रोड परियोजना की 13 नई डीपीआर को मंजूरी मिल गई है। परियोजना का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है। भूमि अधिग्रहण और वन भूमि स्थानान्तरण लगभग 80 फीसदी तक पूरा हो चुका है। परियोजना की प्रगति सन्तोषजनक है। समय पर इसका निर्माण पूरा कर लिया जायेगा। -उत्पल कुमार सिंह, मुख्य सचिव
 

Disqus Comment