स्वच्छता के मुद्दे पर फतेहपुर में राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन
तिथि : 4-5 जनवरी 2016
दिन : सोमवार-मंगलवार
स्थान : गवर्नमेंट गर्ल्स पी.जी. कॉलेज बिंदकी, फतेहपुर


भारत सरकार द्वारा शुरू किये गए स्वच्छ भारत अभियान में 4041 शहर सम्मिलित हैं। इन शहरों की गलियों, सड़कों को साफ करना शामिल है। इस अभियान की औपचारिक शुरुआत प्रधानमंत्री जी ने स्वयं झाड़ू लगाकर की थी। स्वच्छ भारत अभियान, भारत की सबसे बड़ी स्वच्छता मुहिम है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए 4-5 जनवरी 2016 को कार्यक्रम का आयोजन बिंदकी में किया जा रहा है। आगामी वर्ष जनवरी 2016 में उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले में स्वच्छता पर कार्यक्रम का आयोजन होने जा रहा है। 4-5 जनवरी 2016 को होने वाले इस कार्यक्रम का मुद्दा है, स्वच्छ भारत अभियान 2014 : प्रशासनिक परिप्रेक्ष्य, मुद्दे और चुनौतियाँ। इस कार्यक्रम का आयोजन फतेहपुर के गवर्नमेंट गर्ल्स पी.जी. कॉलेज बिंदकी, फतेहपुर में होगा।

फतेहपुर के बिंदकी का भी एक लम्बा इतिहास रहा है। राष्ट्रकवि सोहन लाल द्विवेदी की यह जन्मस्थली रही है। बिंदकी के गवर्नमेंट गर्ल्स पी.जी. कॉलेज की स्थापना 1996 में एक उच्च कला महाविद्यालय के रूप में हुई थी, लेकिन आज यह कला के तीन विषयों में उच्चतर शिक्षा प्रदान करने वाला महाविद्यालय बन गया है।

अपनी स्थापना के बाद से ही यह बिंदकी और आस-पास के क्षेत्र की लड़कियों की उच्च शिक्षा के प्रचार-प्रसार में योगदान दे रहा है। अगले वर्ष से यहाँ वाणिज्य की पढ़ाई भी शुरू हो जाएगी।

भारत सरकार द्वारा शुरू किये गए स्वच्छ भारत अभियान में 4041 शहर सम्मिलित हैं। इन शहरों की गलियों, सड़कों को साफ करना शामिल है।

इस अभियान की औपचारिक शुरुआत प्रधानमंत्री जी ने स्वयं झाड़ू लगाकर की थी। स्वच्छ भारत अभियान, भारत की सबसे बड़ी स्वच्छता मुहिम है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए 4-5 जनवरी 2016 को कार्यक्रम का आयोजन बिंदकी में किया जा रहा है। सेमिनार के उप-मुद्दे इस प्रकार हैं:-

1. मानव संसाधन पहल और स्वच्छ भारत अभियान
2. वातावरणीय चुनौतियाँ, मुद्दे, निगरानी और नियंत्रण प्रक्रिया
3.स्वच्छता मुद्दे, कानूनी मुद्दे और कूड़ा प्रबन्धन
4. स्वच्छ भारत में बाजार की अवधारणा और रणनीतियाँ
5. ग्रे क्षेत्र की नीतियाँ और प्रथा, सामाजिक विपणन, सामाजिक जागरुकता और संवेदीकरण
6. स्वयंसेवी संस्थाओं, सामाजिक स्वयंसेवक, सामाजिक और निजी एजेंसियों की भूमिका
7. सरकारी विभागों, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम, निजी संस्था आदि की रणनीतिक पहल
8. स्वच्छ भारत अभियान और सोशल मीडिया, स्वच्छ अर्थव्यवस्था और सतत विकास

.प्रतिभागियों को उपर्युक्त मुद्दों पर अपना प्रपत्र हिन्दी (कृति देव 10 फॉन्ट, 14 प्वाइंट) या अंग्रेजी (टाइम्स न्यू रोमन फॉन्ट, 12 प्वाइंट) में सारांश और पूर्ण प्रपत्र सहित 15 दिसम्बर तक जमा कराने हैं।

प्रपत्र माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में सिंगल स्पेस के साथ 2,000-4,000 शब्दों से अधिक नहीं होना चाहिए। इसमें लेखक का पूर्ण पता, मोबाइल नम्बर और ईमेल साफ तौर पर लिखा होना जरूरी है। चयनित प्रपत्रों को प्रकाशित भी किया जाएगा।

प्रत्येक प्रतिभागी के आने-जाने का खर्च भारतीय सामाजिक विज्ञान अनुसंधान, मानव संसाधन एवं विकास मंत्रालय (आईसीएसएसआर) और उत्तर प्रदेश सरकार के मानदंड अनुसार दिया जाएगा।

प्रत्येक प्रतिभागी को अपने प्रपत्र की प्रस्तुति हेतु 10 मिनट का समय दिया जाएगा। जिन प्रतिभागियों को रहने की सुविधा चाहिए वे कृपया 25 दिसम्बर तक आयोजन समिति को इस विषय में सूचित कर दें।

15 दिसम्बर 2015 तक अकादमिक व्यक्तियों के लिए 500 रु., शोधकर्ताओं के लिये 300 रु. और विद्यार्थियों के लिये 200 रु. पंजीयन शुल्क है। यदि आप स्थल पर पहुँचकर पंजीकरण करवाते हैं तो आपको 100 रु. अतिरिक्त देने होंगे हालांकि विद्यार्थियों को इसमें छूट प्राप्त है।

पंजीकरण फार्म तथा सेमिनार से जुड़ी अन्य जानकारियों के लिए कृपया संलग्नक देखें।



संपर्क
अरविंद शुक्लाआयोजन समिति के सचिव

ईमेल : arvinddbsk@gmail.com
मोबाइल : 9026809646

Posted by
Get the latest news on water, straight to your inbox
Subscribe Now
Continue reading