आपदा प्रबंधनः चुनौतियों में छिपा रोजगार

Submitted by HindiWater on Tue, 10/22/2019 - 13:56
Source
अमर उजाला, 21 अक्टूबर 2019

सदियों से जमीन खिसकने, भूकम्प, बाढ़, सुनामी, चक्रवात, आगजनी की घटनाएँ होती आई हैं। आज के दौर में इन आपदाओं का प्रभाव लाखों लोगों पर पड़ रहा है। आपदाग्रस्त इलाकों में उचित प्रबंधन सबसे बड़ी चुनौती बनकर उभरा है। ऐसे में सही समय पर पहुँच कर लोगों की जान व माल की रक्षा करना प्राथमिकता का कार्य हो गया है। इस कार्य में खतरे से निपटने, दुर्घटना होने के बाद जान-माल की हिफाजत कैसे की जाए, इन बातों की समझ होनी जरूरी है। हमारे देश में केन्द्र व राज्य सरकारों ने इस दिशा में गम्भीरता से कदम उठाना आरम्भ किया है।
 
घरेलू उत्पाद प्रबंधन एवं ट्रेनिंग

केन्द्र और राज्य सरकार ने नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटीज का गठन किया। जिसके परिणामस्वरूप आपदा प्रबंधन के लिए देश में दो विंग है - एनडीएमए (नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी) और डायरेक्टर जनरल सिविल डिफेंस (डीजीसीडी)। नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी नियम और कानून बनाते हैं। इनके जिम्मे डिजास्टर से सम्बन्धित कई विभागों का काम होता है। वहीं डायरेक्टर जनरल सिविल डिफेंस (डीजीसीडी) के अन्तर्गत हर शहर और हर इलाके में इनकी टीमें होती हैं। यह छोटे-छोटे विंग में काम करते हैं। लेकिन इसके लिए कुछ शर्ते होती हैं। हवाई दुर्घटनाओं से बचाव के लिए सिविल एविएशन, रेल दुर्घटनाओं से बचाव के लिए रेल मंत्रालय इसके लिए विशेष प्रबंध करते हैं और प्रशिक्षित लोगों की भर्ती करते हैं। आपदा प्रबंधन की ट्रेनिंग के अन्तर्गत खतरनाक तत्वों का प्रबंधन, जोखिम विश्लेषण और अपात स्थितियों की योजना कैसे बनाए जैसे गम्भीर मुद्दों पर प्रशिक्षण दिया जाता है।
 
कोर्स और योग्यता

डिजास्टर मैनेजमेंट से सम्बन्धित कई तरह के कोर्स मौजूद हैं। अंडरग्रेजुएट व सार्टिफिकेट कोर्स के लिए छात्र ने 12वीं की परीक्षा कम से कम 50 प्रतिशत अंकों के साथ पास की हो। मास्टर तथा एमबीए सरीखे कोर्स के लिए स्नातक होना आवश्यक है। कुछ संस्थान पीएचडी भी करते हैं। अतः उसके लिए मास्टर डिग्री होना जरूरी है। इसके अलावा शॉर्ट टर्म कोर्स और डिस्टेंस लर्निंग कोर्स भी विकल्प के रूप में हैं। इस क्षेत्र में सर्टिफिकेट कोर्स इन डिजास्टर मैनेजमेंट, डिप्लोमा इन डिजास्टर मैनेजमेंट, एमए इन डिजास्टर मैनेजमेंट, एमबीए, पीजी डिप्लोमा इन डिजास्टर मैनेजमेंट, इसके अलावा इसमें एसोसिएट डिग्री इन हेल्थ सेफ्टी एंड एन्वॉयरमेंट जैसे कोर्स भी शामिल हैं। इस पाठ्यक्रम में रिस्क एसेसमेंट एंड प्रिवेंशन स्ट्रेटजीज, लेजिस्लेटिव स्ट्रक्चर फॉर कंट्रोल ऑफ डिजास्टर मिटिगेशन रेस्क्यू आदि विषय पढ़ाए जाते हैं।
 
करियर की सम्भावनाएँ
 
दिल्ली कॉलेज ऑफ फायर सेफ्टी इंजीनियरिंग के डायरेक्टर जेड.एस.लाकड़ा के अनुसार डिजास्टर मैनेजमेंट का कोर्स करने के बाद ज्यादातर जॉब पब्लिक सेक्टर में हैं। जैसे सरकारी विभागों के फायर डिपार्टमेंट, सूखा प्रबंधन विभाग आदि में प्रोफेशनल्स की भर्ती की जाती है। देश से बाहर विदेश में छात्र अपना करियर इमरजेंसी सर्विस, लोकल अथॉरिटी राहत एजेंसी, एनजीओ, यूएनओ, वल्र्ड बैंक, एमनेस्टी इंटरनेशनल, एशियन डेवलपमेंट बैंक, रेड क्रास सोसाइटी, यूनेस्को जैसी इंटरनेशनल एजेंसी में बना सकते हैं। रिस्क मैनेजमेंट, कंस्ट्रक्शन टेक्नोलॉजी कंसल्टेंसी, डॉक्यूमेंटेशन, इंश्योरेंस, स्टेट डिजास्टर मैनेजमेंट आदि क्षेत्रों में भी जॉब की सम्भावनाएँ बनी रहती हैं। ग्रेजुएट प्रोफेशनल्स अपनी खुद की कंसल्टेंसी भी स्थापित कर सकते हैं। कोर्स के दौरान प्रायोगिक प्रशिक्षण भी दिया जाता है। कोर्स करने के बाद सेफ्टी मैनेजर, फायर एंड सेफ्टी ऑडिटर, स्टेशन ऑफिसर, डिवीजनल ऑफिसर, डिप्टी चीफ फायर ऑफिसर, चीफ फायर ऑफिसर, डायरेक्टर जैसी नौकरियाँ मिल सकती हैं।
 
करियर एक्सपर्ट एवं कांउसलिंग साइकोलॉजिस्ट डॉ. गीताजंली कुमार का कहना है कि आपदा एवं फाटर सेफ्टी के क्षेत्र में करियर बनाने के लिए लीडरशिप क्वालिटी और साहस व धैर्य के साथ शीघ्र निर्णय लेने की क्षमता का होना जरूरी है। भारतीय पारिस्थितिक एवं पर्यावरण संस्थान, नई दिल्ली एवं अन्य कई गैर सरकारी कॉलेजों में डिजास्टर मैनेजमेंट में डिग्री और पीजी डिप्लोमा की पढ़ाई कराई जाती है। 
 
प्रमुख संस्थान

  • भारतीय पारिस्थितिक एवं पर्यावरण संस्थान नई दिल्ली
  • दिल्ली कॉलेज ऑफ फायर सेफ्टी इंजीनियरिंग, नई दिल्ली
  • इंस्टीट्यूट ऑफ डिजास्टर मैनेजमेंट एंड फायर सेफ्टी, मोहाली, पंजाब
  • डिजास्टर मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट, भोपाल मध्यप्रदेश

 

TAGS

disaster management project, types of disaster management, disaster management in english, disaster management essay, disaster management in india, disaster management pdf, disaster management ppt, disaster management cycle, disaster management in india, disaster management ppt, disaster management project, disaster management cycle, disaster management essay, disaster management pdf, disaster management meaning in hindi, disaster management definition, disaster management meaning, disaster management in india pdf, disaster management project, disaster management in english, types of disaster management, disaster management wikipedia, disaster management hindi, disaster management in hindi, aapda prabandhan kya hai, aapdaprabandhan kya hai, apda prabandhan kya hai, aapdaprabandhan kya hai, disaster management essay, disaster management ppt, recent natural disasters in india 2018, natural disasters in india 2017, recent natural disasters in india 2019, natural disasters in india last 10 years wikipedia, top 10 natural disasters, list of recent natural disasters 2018 in india.

Disqus Comment