ड्राय होली आईडिया

Submitted by admin on Sat, 01/31/2009 - 18:16
दैनिक भास्कर अभियानदैनिक भास्कर अभियान

दैनिक भास्कर द्वारा “होली” पर पानी बचाने हेतु “ड्राय होली आईडिया” नामक जनजागृति अभियान


हिन्दी के अग्रणी समाचार पत्र “दैनिक भास्कर” ने 24 जनवरी 09 को विज्ञापन एजेंसियों तथा अन्य रचनात्मक क्षेत्रों में काम करने वाले शौकिया लोगों के लिये “ड्राय होली आईडियाज़ क्रियेटिव कॉण्टेस्ट” नाम से एक प्रतियोगिता का शुभारम्भ किया है। गत चार वर्षों से लगातार आयोजित हो रही इस प्रतियोगिता में पहली बार शौकिया लोगों को भी शरीक होने का मौका दिया गया है। दैनिक भास्कर द्वारा जल संरक्षण के अपने महाअभियान “जल सत्याग्रह” के अन्तर्गत इस प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। इस प्रतियोगिता का उद्देश्य आम जनता में वैचारिक खलबली पैदा करके उन्हें जल संरक्षण से जोड़ना है। इस “ड्राय होली आईडिया” का एक और मुख्य उद्देश्य आगामी होली और रंगपंचमी के त्यौहार को लेकर जनता में एक रचनात्मक और सकारात्मक संदेश फ़ैलाना है। उल्लेखनीय है कि प्रति वर्ष होली के त्यौहार पर लाखों गैलन पानी व्यर्थ बहाया जाता है, जिसके कारण भूजल स्तर भी कम तो होता ही है, साथ ही होली पर खतरनाक रसायनों के जल स्रोतों में मिल जाने के कारण वे भी प्रदूषित हो जाते हैं। ऐसे समय में जबकि देश का एक बड़ा भूभाग जल संकट से जूझ रहा हो तब होली पर पानी का अपव्यय रोकना हमारी पहली प्राथमिकता होना चाहिये। भास्कर के इस अभियान का मकसद जनता को जागृत करना है कि पानी की एक-एक बूंद कीमती है, इसे बचाना ही होगा।

ब्राण्डकॉम के उपाध्यक्ष संजीव कोटनाला कहते हैं कि “गत वर्षों में इस प्रकार की प्रतियोगिताओं और इसके कारण पैदा होने वाली जागरूकता के कारण विभिन्न उद्योग समूहों द्वारा इसका जोरदार समर्थन किया गया है। गत वर्ष इस प्रतियोगिता में लगभग 65 विभिन्न विज्ञापन एजेंसियों ने इसमें भाग लिया था और 250 से अधिक रचनात्मक और आकर्षक प्रविष्टियाँ प्राप्त हुई थीं। हमारा खास ध्यान आम जनता पर है कि “जिद करो” की थीम को आगे बढ़ाते हुए आम व्यक्ति भी गीले रंगों और घातक रसायनों को “जिद” करके “ना” कहें और न सिर्फ़ आज बल्कि आने वाली पीढ़ी के लिये पानी बचायें…”।

यह प्रतियोगिता 21 जनवरी 2009 से प्रारम्भ हो चुकी है, जबकि प्रतिभागी अपनी-अपनी प्रविष्टियाँ 16 फ़रवरी 2009 की अन्तिम तारीख तक भेज सकते हैं। “माय एफ़एम” चैनल इस प्रतियोगिता के अधिकृत “रेडियो साथी” हैं।

मूल लेख – मैक्स डिजिटल मीडिया/ अनुवाद – सुरेश चिपलूनकर, उज्जैन

Tags - Dainik Bhaskar, India’s leading Hindi daily, Dry Holi Ideas creative contest, Dainik Bhaskar’s water conservation campaign ‘Jal Satyagraha’, Dry Holi through thought-provoking and action oriented creative solutions, gallons of water are wasted while playing ‘Holi’, pollution of water

Disqus Comment

More From Author

Related Articles (Topic wise)

Related Articles (District wise)

About the author

नया ताजा