दिल्ली की प्यास बुझाने के फैसले का हिमाचल में विरोध

Submitted by admin on Fri, 02/13/2009 - 10:07
Printer Friendly, PDF & Email
शिमला, 9 अगस्त (आईएएनएस)। हिमाचल प्रदेश के 'रेणुका बांध' से दिल्ली वालों की प्यास बुझाने के लिए जल मुहैया कराने की प्रस्तावित परियोजना का स्थानीय लोग विरोध कर रहे हैं।

रेणुका बांध जन संघर्ष समिति के बैनर तले शनिवार को लगभग 500 लोगों ने सिरमौर जिले में यमुना नदी पर बांध बनाए जाने का विरोध किया। स्थानीय लोग इस परियोजना के लिए भूमि अधिग्रहण का विरोध कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि इस बांध के निर्माण से दर्जनों गांव उजड़ जाएंगे।

स्थानीय लोगों का कहना है कि इस परियोजना के निर्माण के संबंध में सरकार ने उन्हें विश्वास में नहीं लिया। लोगों का कहना है कि इस परियोजना के निर्माण से उनकी उपजाऊ जमीन बर्बाद हो जाएगी।

एक किसान राम सिंह ने बताया कि जब तक उन्हें पसंद की आवासीय और कृषि योग्य जमीन नहीं मिलती है, तब तक वे परियोजना के लिए गांव खाली नहीं करेंगे। एक अन्य ग्रामीण नरेश कुमार ने कहा कि सरकार दिल्ली वालों की प्यास बुझाने के लिए उनकी जीविका छीन रही है।

रेणुका बांध जन संघर्ष समिति के संयोजक योगेन्द्र कपिल ने कहा कि उनकी मांग है कि सरकार प्रत्येक प्रभावित परिवार को कम से कम दस बीघा जमीन दे। गौरतलब है कि 24 अरब रुपये की इस प्रस्तावित परियोजना से न केवल दिल्ली को पानी मुहैया कराया जाएगा, बल्कि हिमाचल के लिए 40 मेगावाट विद्युत का भी उत्पादन किया जाएगा।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस

साभार - आईबीएन-7 खबर

Tags - Himachal Pradesh ( Hindi ), Renuka Dam ( Hindi ), the proposed project ( Hindi ), people struggle Committee Renuka Dam ( Hindi ), the river Yamuna ( Hindi ), Delhi ( Hindi ), the water ( Hindi ),