पानी उठाने के लिए उचित स्थानो पर हाइड्रम की स्थापना

Submitted by admin on Tue, 09/23/2008 - 11:01
Printer Friendly, PDF & Email
हाइड्रालिक रैम एक स्वचालित पानी उठाने का यन्त है जो कि विश्व मे कई वर्षों से प्रयोग हो रहा है भारत वर्ष के पहाड़ी इलाको मे पानी उठाने के लिए अत्यन्त उपयुक्त है। पहाड़ी इलाको मे विघुत एवं डीजल से चलने वाले पानी उठाने के यन्त्रो की मरम्मत व चलाने की लागत अधिक होने के कारण सफल नही हो सकते है। उत्तराखन्ड की पहाड़ियो मे सिचाई के लिए पानी उठाने के लिए हाइड्रम एक दूसरा विकल्प है। उत्तराखन्ड के पहाड़ी स्थानों पर प्रतिवर्ष जगह जगह सिचाई विभाग एवं लघु सिचाई विभाग द्धारा कई हाइड्रम लगवाये गये ह। पहाड़ी क्षेत्रों मे असिचिंत कृषि योग्य भूमि की सिचाई के लिए हाइड्रालिक रैम स्थापित किया जाना जारी रहना चाहिए। शुरूआत मे हाइड्रालिक रैम का उपयोग केवल पानी को उठाने के लिए किया जाता था विगत तीन दशकों से इसका उपयोग पहाड़ी इलाको मे नदियों से उचि सिचाई के लिए पानी उठाने के लिए किया जाने लगा है।

हाईड्रोलिक रैम के चलने का सिद्धान्त- हाइड्रोलिक रैम की कार्य प्रणाली कैमर के सिद्धान्त पर आधारित है। जब बन्द यन्त्र मे बहते हुए द्रव पदार्थ को अचानक स्थिर अवस्था मे लाते है तो गतिज उर्जा बहते हुए पानी की इलास्टिक उर्जा मे परिवर्तित होती है।
बेस्ट वाल्व के अचानक बन्द होने के कारण पानी की हैमर क्रिया द्धारा उत्पन्न दबाव डिलीवरी बाल्व (हाइड्रोलिक रैम) को खोलता है। हाइड्रोलिक रैम के हवा के विशल (vessel) मे इकठ्ठा हुआ यह दबाव पानी की कुछ मात्रा को उपर उठाने के लिए उपयोग मे आता है।

हाइड्रोलिक रैम के चलाने के चक्र को निम्नवत बताया गया है
1- डिलिवरी एवं बेस्ट वाल्व दोनो बन्द है। बेस्ट वाल्व आपूर्ति नली के दबाव के कारण बन्द है1 या डिलिवरी बाल्व चैम्बर मे पानी के दबाव से बन्द है।
2- रिवाउन्ड द्धारा वैक्यूम बनता है और स्लिफटिंग बाल्व से दाव प्रेस करती है।
3- बोस्ट वाल्व खुलता है और बेस्ट बाल्व से पानी बहना शुरू होता है।
4- बेस्ट वाल्व के अचानक बन्द होने के कारण वाटर हैम्मर उत्पन्न होता है।बाटर हैम्मर से क्षणिक उच्च दाब डिलिवरी बाल्व को खोल देता है।
5- एअर वेस्सल मे दबाव बढने से पानी एअर वेस्सल मे प्रवेश करता जाता है ओर डिलिवरी वाल्व बन्द हो जाता है। इस एक चक्र पूरा होता है।

भारत वर्ष मे निम्न लिखित कम्पनियां हाइड्रोलिक रैम बनाती है।

1- (Premia) डूरी मेशन एक्यूपमेन्ट लिमिटेड 17/IC, Alipese रोड कलकत्ता
2- इन्टिमो 27/31/1 स्कूल रोड बदली दिल्ली
3- बलिया इंजिनियरिग कम्पनी पटेल मार्ग गाजियाबाद
4- लक्ष्मी इंडस्ट्रीज हामिदिया रोड भोपाल
5- साइवा इंजिनियरिग एवं कर्मर्शियल इटंर प्राइजेज स्वरूप नगर कानपुर

प्रीमियर हाईड्रम तीन साइज मे उपलब्ध है इन्टिको चार आकार के हाइड्रोलिक रैम बनाती हैबलिया कम्पनी दो साइज के हाइड्रोलिक रैम (25 x 2.5 और 10 × 5 सेमी) बनाती है। साइवा इजिनियरिगं कम्पनी 3 हाइड्रोलिक रैम का निर्माण करती है। लेकिन किसानो और सिचाई विभाग के अधिकारियो के साक्षात्कार से पता चलता है कि उत्तराखण्ड मे लगे विभिन्न प्रकार के हाइड्रोलिक रैमो मे साइवा की परफारमैन्स अच्छी है

स्रोत-uttarakrishiprabha.com

More From Author

Related Articles (Topic wise)

Related Articles (District wise)

About the author

नया ताजा