12. रिसन गड्ढा या सोखता गड्ढा

Submitted by admin on Sat, 01/30/2010 - 14:13
Author
आरएस तिवारी

सोखता गड्ढासोखता गड्ढा

यह भू-जल संवर्द्धन की एक सहायक रचना है, जिसमें पानी को प्राकृतिक रूप से भूमिगत जल में डाला जाता है। यह संरचना गाँव के साथ-साथ शहरों में भी समान रूप से उपयोगी है। इसमें 1.5 मीटर व्यास अथवा 1.5x 1.5 मीटर का गड्ढा खोदा जाता है। इसका आकार आवश्यकता के अनुसार घटाया या बढ़ाया जा सकता है। इसे अपारगम्य सतह के काटकर परगम्य चट्टान तक गहरा किया जाता है। इसके बाद इसको बोल्डर या ईंट के टुकड़ों से भर देते हैं। इस तरह रिसन गड्ढा या सोखता गड्ढे का निर्माण किया जाता है, जिससे घर-आँगन व गाँव में व्यर्थ बहते पानी को जमीन के अंदर पहुंचाकर भू-जल भंडारण में वृद्धि की जा सकती है।

इस संरचना का निर्माण हंडपंप के मुहाने पर किया जा सकता है, जिससे कार्य के दौरान व्यर्थ में बहते पानी को भू-जल वृद्धि हेतु उपयोग में लाया जा सकता है।



 

 

Disqus Comment