गंगा की अविरलता और निर्मलता को स्थापित करने के लिये वर्चुअल मीटिंग का आयोजन 

Submitted by HindiWater on Sat, 07/17/2021 - 12:48

स्वामी ज्ञानस्वरूप सानंदस्वामी ज्ञानस्वरूप सानंद,फोटो:मात्री सदन

यह पत्र डॉ. जी. डी. अग्रवाल (स्वामी ज्ञान स्वरूप सानंद जी) के 89वें जन्मदिन के उपलक्ष्य में 20 जुलाई, 2021 को एक वीडियो मीटिंग में सम्मिलित होने के लिए पूर्व में भेजे गए आमंत्रण पत्र का अनुवर्ती है। यह पत्र आपसे अनुरोध करने के लिए है कि आप  https://forms.gle/JNpabZp3q7ANuNs76  पर स्वयं को पंजीकृत करके चर्चा में भाग लेने की पुष्टि करें। बैठक जूम प्लेटफॉर्म पर होगी। जूम मीटिंग में सिर्फ 100 लोग ही हिस्सा ले सकेंगे। इसलिए, हम आपसे जल्द से जल्द अपना पंजीकरण कराने का आग्रह करते हैं। जूम में सम्मिलित होने में असमर्थ लोगों के लिए फेसबुक पर भी कार्यक्रम को प्रसारित करने की व्यवस्था कर रहे हैं।


गौमुख से गंगा सागर तक अविरल-निर्मल रूप से गंगा जी के निर्बाध प्रवाह के लिए सन् 2008 से 11 अक्टूबर 2018 को अपना देह त्यागने तक एक अभियान चलाया। समय-समय- पर आपके सक्रिय सहयोग से उनके प्रयासों के कुछ बहुत महत्वपूर्ण परिणाम सामने आए जैसे गंगोत्री और उत्तरकाशी के बीच प्रस्तावित और निर्माणाधीन बांधों को रद्द करना, गंगोत्री से उत्तरकाशी तक वाटरशेड को पर्यावरण-संवेदनशील क्षेत्र बनाना और गंगाजी को भारत की राष्ट्रीय नदी घोषित करना। स्वामी सानंद के दुर्भाग्यपूर्ण निधन के बाद, हम में से कई लोगों ने अविरल- निर्मल गंगाजी के लिए उनके अभियान को जारी रखने के प्रयास किये। हालांकि तब से लेकर अब तक केंद्र और राज्य सरकारों ने विकास के नाम पर कई ऐसे काम किए हैं जो गंगाजी और उसके पारिस्थितिकी तंत्र को निरंतर प्रभावित कर रहे हैं। परिणामस्वरूप ”गंगाजी की परिस्थिति निरंतर संकट में है“

इस स्मरणीय बैठक का मुख्य उद्देश्य यह जानना है कि हम में से प्रत्येक व्यक्ति अगले एक वर्ष में क्या करेंगे या क्या करने का प्रस्ताव रखते हैं ताकि गौमुख से गंगा सागर तक अविरल-निर्मल रूप से गंगा जी के निर्बाध प्रवाह को सुनिश्चित किया जा सके और स्वामी सानंद के अभियान को जीवित रखा जा सके। इसी उद्देश्य से 20 जुलाई को होने वाली बैठक भी आयोजित की गई है।

एक संक्षिप्त  प्रारंभिक वक्तव्य के बाद, प्रत्येक व्यक्ति से अधिकतम दो मिनट में उनके संक्षिप्त संकल्प सुनना
इसलिए हम सभी से अनुरोध करते हैं कि दिए गए समय के भीतर अपना वक्तव्य पूर्ण करे। जिन मित्रों को बोलने का अवसर नहीं मिलेगा, उनसे अनुरोध किया जाएगा कि वे अपना संकल्प निम्नलिखित ईमेल पतों पर लिखित रूप में साझा करें। :- 

  • gdadmirers@gmail.com  
  • prem14049@gmail.com  
  • matrisadan@yahoo.com 

कार्यक्रम का संचालन डॉ. रवि चोपड़ा (लोक  विज्ञान संस्थान, देहरादून) द्वारा किया जाएगा। जूम मीटिंग  का लिंक पहले 100 लोगों को 19 जुलाई तक भेजा जाएगा। आपको 19 जुलाई की रात तक गूगल फॉर्म (लिंक देखें  https://forms.gle/JNpabZp3q7ANuNs76)  में  पंजीकरण करना होगा, ताकि आप 19 जुलाई की रात तक वेबिनार लिंक प्राप्त कर सकें। हम आशा करते  हैं कि आप सभी स्वस्थ और सुरक्षित रहेंगे।

सधन्यवाद,

स्वामी शिवानन्द जी प्रमुख, मात्री सदन
डाॅ. राजेन्द्र सिंह मैग्सैसै पुरस्कारी
श्री परितोष त्यागी पूर्व अध्यक्ष, सी.पी.सी.बी
श्री एस. के . गुप्ता अध्यक्ष, इन्वायरोटैक