गुणवत्ता प्रभावित ग्रामों में शुद्ध पेयजल उपलब्ध करने हेतु “शाफ्ट वेल” का सफल प्रयोग

Submitted by Hindi on Tue, 05/14/2013 - 09:43
Source
एमडीडब्ल्यूएस
आदिवासी बाहुल्य मंडला जिले में विकासखंड मंडला के ग्राम तिलईपानी में फ्लोराइड का प्रभाव देखा गया जो राष्ट्रीय स्तर पर समस्या प्रकाश में आई और शासन द्वारा, नर्मदा नदी से फिल्टर प्लांट के माध्यम से पेयजल ग्रामवासियों को उपलब्ध कराया जा रहा है। इसी कड़ी में केंद्र शासन व राज्य शासन के सहयोग से मंडला समूह नल जल प्रदाय योजना के माध्यम से नर्मदा नदी में इन्टेंकवेल से जल शुद्धिकरण संयंत्र बनाकर सिद्ध बाबा टेकरी पर भूस्तरीय टंकी का निर्माण कर प्रतिदिन 17 लाख लीटर पानी 44 ग्रामों के 66 बसाहटों में दिए जाने संबंधी कार्य जल वितरण प्रणाली द्वारा विभिन्न व्यासों की पाईप लाईन बिछाकर लगभग 1 लाख 34 हजार 896 मीटर का कार्य द्रुतगति से प्रगति पर है।

इसी प्रकार फ्लोराइड के अधिक प्रभाव वाले विकासखंड मोहगांव में सालीवाड़ा (बिलगांव) में भी नर्मदा नदी से पहाड़ी पर फिल्टर प्लांट व भूस्तरीय टंकी से 55 एल.पी.सी.डी. लीटर पानी प्रदाय करने हेतु 09 ग्रामों की 15 बसाहटों में पेयजल उपलब्ध कराने का कार्य पूर्णता की ओर है।

अधिक जानकारी के लिए संलग्नक देखें।

Disqus Comment