Isostasy in Hindi (समस्थिति)

Submitted by Hindi on Tue, 04/13/2010 - 15:42
भूर्पपटि के भीतर संतुलन की एक ऐसी अनुमानित स्थिति जिसके द्वारा पृथ्वी की बड़ी-बड़ी, ऊंची संहतियों का संधरण पर्पटी की शक्ति के द्वारा न होकर एक भारी प्लैस्टिक अभ्यंतर पर उनके प्लवन द्वारा होता है। यह उसी प्रकार से है जैसे कोई प्लावी हिम, जल में तैरता रहता है।

- साम्य की अवस्था अथवा भूपर्पटी की सतह में संतुलन, जो पृथ्वी पर हल्के शैल-पदार्थ की उच्च भूमि तथा भूमिगत भारी शैल पदार्थों के मध्य पाया जाता है। समस्थितिक सिद्दांत के अनुसार महाद्वीपीय प्लेटफार्म हल्के शैल-पदार्थों के बने हुए हैं, और इसीलिए वे महासागर तली के पदार्थ की अपेक्षा उच्चतल पर तैरते हैं।

Disqus Comment