जल जीवन मिशनः उत्तराखंड में 1465 करोड़ से हर घर को मिलेगा जल

Submitted by HindiWater on Sat, 06/20/2020 - 08:37

फोटो - Getty images

हर घर जल पहुचांने के लिए केंद्र सरकार की महत्वाकांशी योजना जल जीवन मिशन के अंतर्गत उत्तराखंड के हर घर को नल से जल पहुंचाने के लिए सरकार ने एक कदम और आगे बढ़ाया है। प्रदेश सरकार ने हर घर को नल से पेयजल आपूर्ति कराने का लक्ष्य वर्ष 2024 रखा है। इसके लिए इस वित्तीय वर्ष 1465 करोड़ रुपये खर्च होंगे। 

जल जीवन मिशन के लिए उत्तराखंड में कार्ययोजना तैयारी कराई गई थी। कार्ययोजना के अनुसार राज्य के ग्रामीण इलाकों में 15 लाख 09 हजार 758 घर हैं। इनमें से 12 लाख 64 हजार 286 घरों में पानी का नल है। यानि 12 लाख 45 हजार 472 घरों में पानी का नल नहीं है। ये पानी के लिए हैंडपंप या आसपास के लिए विभिन्न जलस्रोतों पर निर्भर हैं। अमर उजाला की एक खबर के मुताबिक राज्य की 39311 बस्तियों में से 23156 बस्तियों में 40 लीटर प्रतिदिन प्रति व्यक्ति पानी मिल रहा है, लेकिन 16146 बस्तियों को 40 लीटर प्रतिदिन प्रति व्यक्ति से कम पानी मिल रहा है। लेकिन पानी की गुणवत्ता नौ बस्तियों में काफी खराब है।   

सरकार द्वारा उत्तराखंड़ में हर घर को नल से जल देने के लक्ष्य को पूरा करने के लिए 6600 करोड़ रुपये की जरूरत पड़ेगी। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शुक्रवार को सचिवालय में जल जीवन मिशन की समीक्षा की। उन्होंने 2024 पहले ही प्रदेश के हर ग्रामीण इलाकों में नल से जल पहुंचाने का निर्देश दिया। इसके लिए हर वर्ष पेयजल कनेक्शन देने का लक्ष्य बनाया गया है। नीचे टेबल में प्रतिवर्ष के लक्ष्य दर्शाए गए हैं। साथ ही अर्द्धनगरीय क्षेत्रों के लिए भी योजना है। अर्द्धनगरीय क्षेत्रों के 877.50 करोड़ रुपये के इस प्रोजेक्ट के अंतर्गत घरों को हर दिन 16 घंटे पानी उपलब्ध कराया जाएगा। इसके लिए 12 अर्द्धनगरीय क्षेत्रों में काम भी शुरु कर दिया गया है। मुख्यमंत्री ने पानी की उपलब्धता के साथ ही पानी की शुद्धता पर भी पूरा ध्यान देने के लिए निर्देशित किया है। 

पानी के कनेक्शन देने का वर्षवार लक्ष्य

वर्ष प्रस्तावित कनेक्शन
2019-20 50,080
2020-21 1,84,124
2021-22  3,08,645
2022-23 3,70,921
2023-24 3,31,702
कुल योग 12,45,472


सरकार ने वर्ष 2019-2020 में 50 हजार 80 कनेक्शन देने का लक्ष्य रक्षा था, जबकि वर्ष 2020-21 के लिए 1 लाख 84 हजार 124 कनेक्शन देने का लक्ष्य है। 2021-22 के लिए 3 लाख 8 हजार 645, वर्ष 2022-23 के लिए 3 लाख 70 हजार 921 और वर्ष 2023-24 के लिए 3 लाख 31 हजार 702 पेयजल कनेक्शन देने का लक्ष्य रखा है।   


हिमांशु भट्ट (8057170025) 
   

Disqus Comment