कार्स्ट (Karst)

Submitted by Hindi on Thu, 04/28/2011 - 15:35
चूना पत्थर वाली शैलों से निर्मित प्रदेश जिसमें अधिकांश अपवाह भूमिगत जलधाराओं के रूप में पाया जाता है तथा धरातल शुष्क एवं कटा-फटा होता है। इसका नामकरण यूगोस्लाविया के एड्रियाटिक सागर तट के समीप स्थित दिनारिक आल्पस के चूनापत्थर वाली कार्स्ट भूमि के नाम पर हुआ है। यूगोस्लाविया की कार्स्ट भूमि मुख्यतः चूनापत्थर की शैलों से निर्मित है और शैलें वलित अवस्था में हैं। ऊपरी सतह पर वर्षा जल के गोलीकरण द्वारा और उपरी सतह के नीचे भूमिगत जल के अपरदनात्मक एवं निक्षेपण क्रियाओं द्वाराविभिन्न प्रकार की स्थलाकृतियों का निर्माण हुआ है। यह कार्स्ट भूमि लगभग 480 किमी. की लम्बाई और 80 किमी. की चौड़ाई में विस्तृत है जो सागर तल से लगभग 2600 मीटर ऊँचाई पर स्थित है। यूगोस्लाविया के वास्तविक कार्स्ट भूमि के समान कई अन्य प्रदेशों में भी लघु कार्स्ट भूमि पायी जाती है, जहाँ कार्स्ट स्थलाकृतियों का विकास हुआ है। इन कार्स्ट प्रदेशों में दक्षिणी फ्रांस का कासेस क्षेत्र, इंग्लैंड का पेनीज क्षेत्र, यूनान, स्पेन का अंडालूसिया क्षेत्र, जमैका, ऊपरी पोर्टोरिको, पश्चिमी क्यूबा, अमेरिका में दक्षिणी इंडियाना, केंन्टुकी, बर्जीनिया एवं फ्लोरिडा प्रांत उल्लेखनीय हैं।

अन्य स्रोतों से

Karst in Hindi (कार्स्ट)


1. यूगोस्लाविया के ऐड्रियाटिक तट के निकट पाए जाने वाले चूनापत्थर के विषम पठार तथा कटक-क्षेत्र के लिए प्रयुक्त एक शब्द।

2. एक चूनापत्थर-प्रदेश जिसका पृष्ठ शुष्क तथा बंजर होता है। इसमें अधिकांश या सम्पूर्ण-अपवाह तंत्र भूमिगत होता है।

वेबस्टर शब्दकोश ( Meaning With Webster's Online Dictionary )
हिन्दी में -

Disqus Comment