खेत रक्षा सम्बन्धी कहावतें

Submitted by Hindi on Tue, 03/23/2010 - 15:45
Author
घाघ और भड्डरी

खेती वह जो खड़ा रखावै।
सूनी खेती हरिना खावै।।


भावार्थ- खेती वही है जिसकी किसान खड़े होकर रखवाली करे। यदि सूना छोड़ देगा तो हिरन चर जाएँगे।

Disqus Comment