राष्ट्रीय झील संरक्षण एवं प्रबंधन परियोजना

Submitted by birendrakrgupta on Thu, 06/26/2014 - 14:09
Name in English
Rashtriya Jheel Sanrakshan Avam Prabandhan Pariyojana
संपर्क व्यक्ति
अवनेन्द्र सिंह नयाल (आयुक्त/अध्यक्ष), अक्षत गुप्ता (जिलाधिकारी/उपाध्यक्ष), श्रीष कुमार (सचिव/नोडल अधिकारी)
Fax
.
फोन न.
.
डाक पता/ Postal Address
.
जिला / District
नैनीताल
राज्य / State
उत्तराखंड
तालुका / शहर
नैनीताल
Org Location District
Org Location State
Org Location Taluka
Org Location Village
किस प्रकार का संगठन ( जैसे - सरकारी, एनजीओ, सीएसआर)
सरकारी
ह -Free

राष्ट्रीय झील संरक्षण परियोजना के अन्तर्गत प्राधिकरण के कार्य एवं उपलब्धियां



एयरेशन कार्य
नैनीझील की जल गुणवत्ता को सुधारने हेतु भारतवर्ष में प्रथम बार एयरेशन का कार्य। एयरेशन से पूर्व जहां केवल ऊपरी आठ मीटर की सतह पर घुलित आक्सीजन थी, एयरेशन के उपरांत झील के तल से ऊपरी सतह तक घुलित आक्सीजन पर्याप्त मात्रा में विद्यमान है। विगत 6 वर्षाें से शीत ऋतु में मछलियों का मरना बंद हो गया है। झील में डाली गयी महाशीर मछलियों का उचित विकास झील के पारिस्थितिकी तंत्र में सुधार का द्योतक है। एयरेशन के उपरांत प्राप्त सुखद परिणाम भारतवर्ष के अन्य झीलों हेतु मानक के रूप में कार्य कर रहे हैं।

मिशन बटरफ्लाई
ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के अन्तर्गत नैनीताल झील परिक्षेत्र में एवं अन्य चार झीलों में मिशन बटरफ्लाई का शुभारम्भ किया गया। वर्गीकृत कूड़े के निस्तारण हेतु नारायण नगर एवं भीमताल में कम्पोस्टिंग स्थल का विकास एवं गौला रौखड़, हल्द्वानी में प्लास्टिक रि-साइक्लिंग प्लान्ट की स्थापना का कार्य किया गया। उक्त योजना के सफल संचालन के उपरांत मई, 2011 में नगरपालिका परिषद्, नैनीताल को हस्तान्तरित किया जा चुका है। वर्तमान में रि-साइक्लिंग प्लान्ट में विभिन्न क्षेत्रों से प्राप्त होने वाले प्लास्टिक पाॅलीथीन से दाना एवं एच.डी.पी.ई. पाइप का निर्माण किया जा रहा है।

बायोमैन्यूपुलेशन कार्य
नैनीझील के पारिस्थितिकी तंत्र को सुधारने हेतु झील को नुकसान पहुंचाने वाली अनुमानित 51.00 लाख गम्बूशिया, 20.00 लाख पुन्टिश एवं बिगहैड कार्प मछलियों को निकाले जाने का कार्य एवं झील के लिये उपयोगी अनुमानित 1.25 लाख सिल्वर कार्प तथा 0.60 लाख महाशीर मछलियों का झील में संचय किया जाना।

एक्वेरियम
भीमताल टापू में बायोटोप के आधार पर एक्वेरियम का निर्माण जो कि टापू में निर्मित होने वाला भारतवर्ष में प्रथम एक्वेरियम है। कुल 33 एक्वाटैंकों में देश-विदेश की 70 से अधिक प्रजातियों की 500 से अधिक मछलियों का संचय जो कि बच्चों हेतु शिक्षाप्रद एवं पर्यटकों हेतु आकर्षण का केंद्र है। साथ ही नाव चालकों हेतु आयवृद्धि का स्रोत भी हैं।

जन जागृति एवं सहभागिता
झील के संरक्षण एवं शहर को स्वच्छ एवं सुंदर बनाये जाने हेतु लेकवार्डन योजना का क्रियान्वयन। योजनान्तर्गत लेकवार्डन के माध्यम से जनजागृति अभियान एवं दोषियों को दण्डित करने का प्रावधान, योजना के सफल संचालन के उपरांत नगरपालिका परिषद् नैनीताल के एक्ट में संशोधन एवं गजट नोटिफिकेशन के उपरान्त वर्ष 2008 में नगरपालिका परिषद्, नैनीताल को हस्तान्तरित की जा चुकी है।

न्यू ब्रिज कम बाइपास
तल्लीताल, नैनीताल बस स्टेशन के समीप अनियंत्रित वाहन व्यवस्था को सुधारने के उदेश्य से पोस्ट आफिस, तल्लीताल के पीछे न्यू ब्रिज कम बाइपास का निर्माण कार्य।

सार्वजनिक शौचालय
झील के संरक्षण एवं आमजन की सुविधा हेतु नैनीताल में 29, भीमताल में 05. नौकुचियाताल में 02 तथा सातताल में 01 सार्वजनिक शौचालयों का निर्माण कार्य।

Disqus Comment