सिंचाई विभाग से काम छीनने का किया विरोध

Submitted by UrbanWater on Sat, 05/11/2019 - 11:40
Printer Friendly, PDF & Email
Source
दैनिक जागरण, देहरादून, 11 मई 2019

सिंचाई विभाग को आवंटित त्यूनी-प्लासू तथा आराकोट-त्यूनी जल विद्युत परियोजना का काम छीनने का सिंचाई विभाग कर्मचारी महासंघ ने विरोध किया है। महासंघ ने बैठक कर कहा कि यदि आवंटित परियोजनाएं साजिश के तहत यूजेवीएनएल को दी गई तो प्रदेश भर में आंदोलन किया जाएगा। इसके लिए महासंघ ने जल्द आंदोलन की रणनीति बनाने की बात कही है।

त्यूनी-प्लासू और आराकोट-त्यूनी को यूजेवीएनएल को देने की तैयारी

शुक्रवार को सिंचाई विभाग कर्मचारी महासंघ ने यमुना कॉलोनी स्थित प्रांतीय कार्यालय में आपात बैठक बुलाई। बैठक में पदाधिकारियों ने कहा कि विभाग की आवंटित त्यूनी-प्लासू और आराकोट-त्यूनी जल विद्युत परियोजना को पूर्व की भांति उत्तराखण्ड जल विद्युत निगम को सौंपने की अंदरखाने तैयारी चल रही है। इसे लेकर शासन स्तर पर बैठकों का दौर चल रहा है। लेकिन महासंघ ऐसा होने नहीं देगा, क्योंकि विभाग परियोजना के निर्माण करने में पूरी तरह सक्षम है। महासंघ ने कहा कि सिंचाई विभाग में अनुभवी इंजीनियर और कर्मचारी मौजूद हैं।

90 फीसद डीपीआर पर सिंचाई विभाग ने कर दिया काम 

देश में आठ बड़ी परियोजनाओं के निर्माण में सिंचाई विभाग की अहम भूमिका रही है। उसके बाद भी अधिकांश परियोजनाएं सिंचाई विभाग से छीनकर निगम को दे दी है। वर्ष 2009 में सरकार ने उक्त दो परियोजनाएं सिंचाई विभाग को आवंटित की। इन परियोजनाओं की डीपीआर 90 फीसद तैयार हो गई है। ऐसे में परियोजनाएं अब निगम को देना गलत है।

सिंचाई कर्मचारी महासंघ ने बैठक कर दी आंदोलन की चेतावनी

बैठक में महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष रमेश रमोला, महामंत्री पूर्णानन्द नौटियाल, संरक्षक हरीशचंद्र नौटियाल ने कहा कि यदि जबरन दोनों परियोजनाएं यूजेवीएनएल को आवंटित की गई तो प्रदेशभर में आंदोलन शुरू किया जाएगा। 

बैठक में कुलदीप शर्मा, बनवारी सिंह रावत, बुद्धिराम कोठियाल, सबर सिंह रावत, महेश चंद्र उनियाल, शिव कुमार, अनिल पंवार, राजेन्द्र सिंह चौहान, सते सिंह, बालम सिंह, प्रवेश सेमवाल, गजे सिंह, सुरेंद्र सिंह, कृष्णा चौहान, शिवानन्द आदि मौजूद रहे।

Related Articles (Topic wise)

Related Articles (District wise)

About the author

नया ताजा