पानी के लिए शासन से मांगे 8 करोड़

Submitted by UrbanWater on Mon, 05/20/2019 - 15:59
Source
हिंदुस्तान, 20 मई 2019, ललितपुर

ग्राम पंचायतों को हैंडओवर हो चुकी पाइप पेयजल योजनाओं की दशा बदतर हो चुकी है। कहीं के पाइप टूटे हैं तो किसी स्थान पर मोटर आदि में खराबी के चलते जलापूर्ति नहीं हो पा रही है। इस तरह प्रभावित पच्चीस पाइप पेयजल योजनाओं की मरम्मत के लिए जिला पंचायत राज अधिकारी ने सात करोड़ इक्यासी लाख रुपये का प्रस्ताव शासन को भेजा है।

जनपद स्थित ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों की प्यास बुझाने के लिए न केवल हैंडपंप लगाए गए बल्कि पाइप पेयजल योजनाएं भी संचालित की गईं। कुछ पाइप पेयजल योजनाएं जल निगम संचालित कर रहा तो कुछ के क्रियान्वयन का जिम्मा जल संस्थान पर है। वहीं तमाम पाइप पेयजल योजनाएं ग्राम पंचायतों के जिम्मे हैं। जल संस्थान व जल निगम किसी तरह अपनी-अपनी पाइप पेयजल योजनाएं संचालित कर रहे हैं लेकिन तकनीकी सर्पोट व संसाधनों के अभाव में ग्राम पंचायतों की सुपुर्दगी वाली योजनाएं भगवान भरोसे हैं। कुछ की पाइप लाइन क्षतिग्रस्त हो चुकी हैं। कई योजनाओं में मोटर आदि तकनीकी खराबी संचालन में बाधा है।

इन स्थितियों को ध्यान में रखते हुए जिला पंचायत राज अधिकारी ने जल निगम अफसरों से योजनाओं की मरम्मत का आगणन तैयार कराया। जिसके तहत बछलापुर पाइप पेयजल योजना के लिए 11,75,986.40, बरौदिया राइन के लिए 11,58,661.69, बिरारी ग्राम पंचायत की पाइप पेयजल योजना के लिए 15,66,269.60, चंदौरा को 10,06,414.58, गिदवाहा के लिए 13,80,793.32, गिरार के लिए 67,57,341.94, ककोरिया के लिए 38,36,538.88, कारीटोरन ग्राम पंचायत पेयजल योजना के लिए 20,73,003.38, खजरा के लिए 9,97,063.92, खितवांस के लिए 30,08,596.32, कोरवास स्थित योजना को 61,13,544.51, लागौन के लिए 43,95,404.68, मिर्चवारा की योजना के लिए 23,84,254.61, नया गांव की खातिर 31,26,479.78, पड़ना के लिए 45,18,715.28, पड़ौरिया के लिए 11,94,862.74, पटऊवा पाइप पेयजल योजना के लिए 41,58,428.32, पटसेमरा के लिए 11,63,496.10, रजौरा ग्राम पंचायत के लिए 24,63,814.76, रीछपुरा ग्राम के लिए 24,21,106.70, समोगर ग्राम पंचायत के लिए 12,78,033.92, सतरवांस पाइप पेयजल योजना को 20,66,203.52, सिलावन के लिए 7,44,779.72, सौंजना ग्राम पंचायत की योजना के लिए 1,72,24,556.78 और पूराकलां पाइप पेयजल योजना को दुरुस्त करने के लिए 19,66,073.92 रुपये का व्यय आएगा। जल निगम के इस प्रस्ताव को जिला पंचायत राज अधिकारी ने राज्य पेयजल एवं स्वच्छता मिशन को भेजकर धनराशि मांगी है। कुल 7,81,80,425.35 रुपये मिलते ही उक्त योजनाओं को दुरुस्त करके पूर्ण क्षमता से पेयजल आपूर्ति कराई जाएगी।

बूंद-बूंद पानी के लिए तरस रहे ग्रामीण

खराब व कम क्षमता से काम कर रही पाइप पेयजल योजनाओं वाले गांवों में लोग भीषण जलसंकट से जूझ रहे हैं। लोगों को पानी का इंतजाम करने के लिए वाहनों के साथ लंबी दूरी तय करनी पड़ रही है। कोई ट्रैक्टर ट्राली व बाइक तो कोई साइकिल पर पानी भरे बर्तन ढोने को विवश है।

तीन योजनाओं का जल संस्थान भेजेगा प्रस्ताव

जल संस्थान के पास ग्रामीण इलाकों की तमाम पाइप पेयजल योजनाएं संचालित करने की जिम्मेदारी है। इनमें तीन पाइप पेयजल योजनाएं बोर सूखने के कारण बंद पड़ी हैं। बरौदा बिजलौन, ऊमरी, उदया स्थित इन योजनाओं को पुनर्जीवित करने के लिए विभाग कार्ययोजना तैयार कर रहा है। जिसको भेजकर शासन से धन मांगा जाएगा और तब जाकर जलापूर्ति संभव हो सकेगी।

Disqus Comment