बँटाई किसानों को भी बैंक कर्ज मिल सकेगा

Submitted by editorial on Thu, 12/27/2018 - 13:07
Printer Friendly, PDF & Email
Source
हिन्दुस्तान, 27 दिसम्बर, 2018

किसानकिसान राजनीतिक दलों के चौतरफा कर्ज माफी के दावों के बीच केन्द्र सरकार छोटे, मझोले और बँटाई पर खेती करने वाले किसानों को राहत देने की तैयारी कर रही है। इसके लिये नई रणनीति बनाई जा रही है। इससे बँटाई किसानों को बैंक से कर्ज मिल सकेगा।

साथ ही सरकार किसानों को ऐसे फायदे देने के विकल्प पर काम कर रही है जिसके जरिए उनको तुरन्त फायदा मिल सके। सूत्रों ने हिन्दुस्तान को बताया है कि इसके लिये सरकार किसानों को कर्ज देने और प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना जैसी स्कीमों में जरूरी बदलाव पर विचार कर रही है।

मामले से जुड़े अधिकारी के मुताबिक नीति आयोग ने एक प्रस्ताव तैयार किया है जिसके मुताबिक ऐसे किसानों को भी आर्थिक राहत की सख्त जरूरत है। जिनके पास अपनी जमीन नहीं है। लेकिन वो जमीन के एक बड़े हिस्से पर खेती करते हैं। ऐसे किसानों को राहत देने के लिये उनके मंडी रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट और बैंक ट्रांजेक्शन हिस्ट्री को आधार बनाया जा सकता है।

किसानों की भी क्रेडिट हिस्ट्री तैयार हुई

जानकारों के मुताबिक, सरकार के लिये ये करना अब सम्भव हो सकेगा। पहले सरकार के पास ऐसे किसानों को कर्ज देने के लिये कोई आधार नहीं होता था लेकिन अब देश में अलग-अलग वित्तीय स्कीमों के चलते किसानों की भी क्रेडिट हिस्ट्री तैयार हो गई है।

ग्रामीण मतदाता अहम

लोकसभा चुनावों में ग्रामीण मतदाता प्रमुख होंगे। क्योंकि लोकसभा की कुल 542 सीटों में से सिर्फ 55 सीटें ही ऐसी हैं जहाँ सभी मतदाता शहरी हैं। जबकि अन्य 487 सीटों पर ग्रामीण मतदाता अहम साबित होंगे।

फसल संग्रह केन्द्र पर तेजी से काम

नई योजना पर वित्त मंत्रालय और कृषि मंत्रालय मिलकर काम करेंगे। कृषि मंत्रालय फिलहाल सुझावों के आधार पर उन स्कीमों की जानकारी इकट्ठा कर रहा है। साथ ही इस बात की सम्भावना तलाश रहा है कि किन बदलावों के बाद छोटे, मझोले और बँटाई पर खेती करने वाले किसानों को इन स्कीमों का फायदा कैसे दिया जाए।

मध्य प्रदेश में दिखी नाराजगी

1. 126 सीटें ग्रामीण क्षेत्रों में आती हैं मध्य प्रदेश में
2. 68 सीटों पर इसमें से जीत दर्ज की है कांग्रेस ने इस बार
3. 57 सीटें मिली हैं इस बार भाजपा को इन क्षेत्रों में
4. 87 सीटें मिली थीं 2013 के चुनाव में भाजपा को इनमें से
5. 38 सीटों पर ही जीत पाई थी कांग्रेस 2013 के चुनाव में

इसलिये किसानों पर करम

1. 47% आबादी देश की कृषि कार्य से जुड़ी हुई है
2. 80% आबादी छत्तीसगढ़ की कृषि कार्यों में लगी है
3. 66% आबादी राजस्थान में कृषि कार्यों से जुड़ी है
4. 55% आबादी मध्य प्रदेश में कृषि कार्यों से जुड़ी है

कर्ज से परेशान

1. 52% किसान कर्ज के तले दबे हैं देश भर में
2. 49% हिस्सा कुल कर्ज का आन्ध्र प्रदेश, यूपी, महाराष्ट्र, कर्नाटक और तमिलनाडु का है
3. 40% सीटें आती हैं लगभग इन पाँच राज्यों में लोकसभा की


TAGS

lease farming in hindi, bank loan in hindi, pradhanmantri fasal bima yojana in hindi, niti aayog in hindi, kisaan credit card in hindi


Related Articles (Topic wise)

Related Articles (District wise)

About the author

नया ताजा