Fluid in hindi (तरल)

Submitted by admin on Sat, 05/08/2010 - 12:03
ऐसा पदार्थ जिसके अणु एक दूसरे के ऊपर स्वच्छंदता से बह सकते हैं। तरल के अणुओं के बीच ठोस पदार्थ की अपेक्षा अधिक खाली स्थान रहता है। जब कोई तरल स्थैतिक संतुलन की स्थिति में हो तो छोटे से छोटे स्पर्शीय या अपरुपक बल द्वारा उसमें प्रवाह पैदा हो जाता है। तरल दो प्रकार के होते हैं – द्रव और गैस।

Disqus Comment