वाटर और सेनिटेशन के हालात जस के तस

Submitted by admin on Fri, 05/28/2010 - 12:58

भारत में जल और स्वच्छता हमेशा ही चिंता का विषय रहे हैं। कईं बार नीतियां तो बहुत अच्ठी बनी होती हैं लेकिन क्रियांवयन में असफल हो जाती हैं।


साल दर साल हम पानी पर विवाद के बारे में बार- बार वही खबर सुनते और पढ़ते हैं, और सरकार उन समस्याओं का निराकरण करने में विफल हो रही है।


आईये सुनते हैं WaterAid की Country Director: Policy and Partner के विचार.............

 

 

 

 


डाउनलोड करें

 

इस खबर के स्रोत का लिंक:
Disqus Comment