वीडियो वालंटियर्स को सिटीजन जर्नलिज्म फैलोशिप

Submitted by Hindi on Fri, 10/29/2010 - 09:04
Source
आईएम4 चैंज

अंतर्राष्ट्रीय कम्युनिटी मीडिया पोर्टल की गोवा केंद्रित एक शाखा वीडियो वॉलंटियर्स ने अपने इंडिया अन्हर्ड नाम के कार्यक्रम के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं। कार्यक्रम का यह दूसरा दौर है। इस दौर में चयनित उम्मीदवारों को विभिन्न समुदायों के सरोकार, मुद्दे, आविष्कारी काम, परंपरा आदि से संबंधित वीडियो रिपोर्ट बनाने के बारे में प्रशिक्षण दिया जाएगा।सिटीजन जर्नलिज्म के तहत फैलोशिप देने का की यह परियोजना पिछले एक साल से चल रही है।

इस फैलोशिप में हिन्दी भाषी नागरिकों का भी स्वागत है। आवेदन की आखिरी तारीख 15 अक्तूबर 2010 है।

आवेदन खुद भी भरें और दूसरों को भी भरने के लिए उत्साहित करें। बतौर स्वयंसेवी संगठन या फिर सामाजिक आंदोलन के आप इस फैलोशिप के लिए योग्य उम्मीदवारों के नाम भी सुझा सकते हैं।

ज्यादा जानकारी के लिए नीचे दिए गए लिंक को चटकायें-

http://www.videovolunteers.org/programmes/indiaunheard/fellowship-criteria/
 

चयन की प्रक्रिया और मानदंड

 


वीडियो वालंटियर्स ग्रामीण और झुग्गी बस्तियों के सामाजिक रुप से सरोकारी और प्रतिबद्ध व्यक्तियों का कम्युनिटी जर्नलिज्म फैलोशिप के तहत एक साल के लिए चयन करेगा। यदि आप इस फैलोशिप के लिए आवेदन करने के इच्छुक हैं या किसी को इस फैलोशिप के लिए नामित करना चाहते हैं तो आपको इस कार्यक्रम की रुपरेखा समझाने के लिए नीचे कुछ और जानकारियां दी जा रही हैं।

प्रक्रिया-


1. इच्छुक कम्युनिटी कॉरेसपॉन्डेंटस् ऑनलाईन आवेदन करेंगे और वीडियो वालंटियर्स अंतिम रुप से उनका चयन करेगा।

2. चयनित कम्युनिटी कॉरेसपॉन्डेंटस् को वीडियो वालंटियर्स द्वारा आयोजित दो हफ्ते के एक प्रशिक्षण शिविर में भाग लेना होगा। इसका पूरा खर्च वीडियो वालंटियर्स द्वारा उठाया जाएगा। प्रशिक्षण शिविर के दौरान प्रतिभागियों को उपकरण दिए जायेंगे और उन्हें सिटीजन जर्नलिस्ट के तौर पर प्रशिक्षित किया जाएगा।

3. कम्युनिटी कॉरेसपॉन्डेंटस् हर महीने 3 से 4 वीडियो बाआसानी बना सकते हैं। बहरहाल, उनके लिए प्रतिमाह कम से कम दो वीडियो बनाना अनिवार्य है।

4. अनुमोदित प्रति वीडियो के लिए कम्युनिटी कॉरेसपॉन्डेंटस् को 1,300 रुपये दिए जायेंगे। इसमें कहानी को शूट करने के लिए की गई यात्रा,इंटरनेट और डाक के मद में खर्च की गई रकम शामिल है।

5. कम्युनिटी कॉरेसपॉन्डेंटस् को वीडियो वालंटियर्स की तरफ से कैमरे के लिए कर्ज दिया जाएगा। 400-400 रुपये की माहवार किश्म में इस कर्ज की अदायगी की जा सकती है। कर्ज की अदायगी के बाद कैमरे पर कम्युनिटी कॉरेसपॉन्डेंट का मालिकाना हक होगा।

6. कम्युनिटी कॉरेसपॉन्डेंटस् अपने स्थानीय इलाके में लौटकर वीडियो वालंटियर्स द्वारा दिए गए दस विषयों पर तीन मिनट की अवधि के कम से कम दो वीडियो प्रतिमाह बनायेंगे।

7. कम्युनिटी कॉरेसपॉन्डेंटस् वीडियो वालंटियर्स के दफ्तर में SMS रिपोर्टस् भेजेंगे।

8. कम्युनिटी कॉरेसपॉन्डेंटस् द्वारा भेजे गए वीडियो या अन्य मीडिया सामग्री इंडिया अन्हर्ड की वेबसाइट पर पोस्ट की जाएगी। साथ ही, इस सामग्री को अन्यत्र ऑनलाइन भेजा जायेगा जिसमें मुख्यधारा की मीडिया भी शामिल है।

आवेदन की शर्तें-


आप आवेदन कर सकते हैं, अगर

1. आप किसी सामाजिक आंदोलन, मानवाधिकार अभियान या फिर किसी स्वयंसेवी संगठन से जुड़े हैं।

2. आप किसी वंचित वर्ग से हैं।

3. आप के भीतर स्थानीय व्यथा की कथा पूरी दुनिया को सुनाने का जुनून है।

4. आप अपने इलाके के लोगों के साथ जुड़कर काम करने के लिए पूरे प्रतिबद्ध हैं।

5. आपको कंप्यूटर-संचालन की बुनियादी जानकारी है(वांछनीय) और किसी ना किसी तरह से कोई कंप्यूटर अपनी इंटरनेट सुविधा के साथ आपको इस्तेमाल के लिए हासिल(जरुरी योग्यता) है।

6. आप हिन्दी या फिर अंग्रेजी में पढ़-लिख सकते हैं।

अभ्यर्थियों को नामित करने के लिए-

 


1. यदि आप किसी स्वयंसेवी संस्था या फिर सामाजिक आंदोलन से संबद्ध हैं तो आप किसी योग्य उम्मीदवार का नाम इस फैलोशिप के लिए सुझा सकते हैं।

2. कृपया ऐसे योग्य उम्मीदवारों तक हमारी यह दरख्वास्त पहुंचायें।

3. उन्हें इस फैलोशिप की जरुरी सूचना दें और उनके प्रश्नों के उत्तर भी।

4. उम्मीदवार एकबार फैलोशिप की जरुरी बातों को समझ जायें तो उन्हें आवेदन-पत्र भरने में मदद करें।

इंडिया अन्हर्ड कार्यक्रम के लिए कम्युनिटी कॉरेसपॉन्डेन्य बनने या फिर किसी योग्य उम्मीदवार को नामित करने के लिए कृपया नीचे दी गई लिंक चटकायें।

http://videovolunteersindia.wufoo.com/forms/community-correspondent-application-form/

Disqus Comment