रामकृष्ण जयदयाल डालमिया सेवा संस्थान जल एवं पर्यावरण संरक्षण पुरस्कार

Submitted by admin on Tue, 11/03/2009 - 13:18
Printer Friendly, PDF & Email

रामकृष्ण जयदयाल डालमिया सेवा संस्थान जल एवं पर्यावरण संरक्षण पुरस्काररामकृष्ण जयदयाल डालमिया सेवा संस्थान जल एवं पर्यावरण संरक्षण पुरस्कार

क्यों और किसे


यूं तो समस्त भारत में ही जल के न्यायोचित प्रबन्धन की नितांत आवश्यकता है। लेकिन हमाने राजस्थान राज्य में इसके संरक्षण और संवर्धन की भी विशेष आवश्यकता है। लोग इस बात को समझने भी लगे हैं। राज्य के अधिकांश भागों में पिछले कई वर्षों से वर्षा न्यूनतम स्तर से भी कम हो रही है। जितनी भी होती है, उसका जल बेकार बह जाता है। भू-जल स्तर लगातार कम हो रहा है। सतह स्तरीय जल का भी कोई उद्देश्यपूर्ण प्रबन्धन नहीं है। पेयजल और सिंचाई से बेहाल है जनमानस और पशुधन।

जल की कमी से कई क्षेत्रों से तो बड़े पैमाने पर लोगों और पशुओं का पलायन हो चुका है। हमें जल के संरक्षण के महत्व को अच्छी तरह जानना चाहिए। ऐसा नहीं है कि इसके लिये कुछ भी नहीं हो रहा। कई जागरूक नागरिक, कृषक, ग्रामीण समुदाय और संस्थायें जल संरक्षण के प्रयास अपने स्तर पर कर रहे हैं। श्री रामकृष्ण जयदयाल डालमिया सेवा संस्थान भी शेखावाटी अंचल में जल और पर्यावरण संरक्षण के लिए आगे आया है। ग्रामीण्ा समुदाय की भागीदारी सेवा संस्थान के कार्यों से सामने आये परिणामों की कुंजी है।

देश के ख्याती नाम व्यावसायिक घराने डालमिया परिवार की प्रेरणा से बने इस सेवा संस्थान द्वारा शेखावाटी क्षेत्र में जल संरक्षण का काम तो किया जा रहा है जल संरक्षण के लिए जागरूक और समर्पित लोगों, समूहों और निकायों को प्रोत्साहित करने का बीड़ा भी इसने उठाया है। सेवा संस्थान का मानना है कि प्रोत्साहित करने के लिए पुरस्कृत करने से एक तो लोगों, समूहों व निकायों के काम आमजन के सामने आयेंगे और अन्य के लिये ये पुरस्कार प्रेरणा का स्रोत साबित होंगे। अत: वर्ष 2007 से श्री रामकृष्ण जयदयाल डालमिया सेवा संस्थान जल एवं पर्यावरण संरक्षण पुरस्कार प्रतिवर्ष प्रदान करना प्रारम्भ किया गया। शुरूआत तो शेखावाटी अंचल के स्तर पर पुरस्कार से की गई। लेकिन इस वर्ष 2008 से इसे राज्य स्तरीय कर दिया गया। यह राज्य स्तरीय पुरस्कार पहली बार प्रदान किये जा रहे हैं। इसके लिये दो श्रेणी है। प्रथम पुरस्कार तो राज्य स्तर पर जल संरक्षण के लिये सर्वश्रेष्ठ कार्य करने वाले को प्रदान किया जायेगा और प्रत्येक संभाग स्तर पर श्रेष्ठ कार्य करने वाले को प्रोत्साहन करने के लिए द्वितीय पुरस्कार देय हैं। ये पुरस्कार किसी भी जागरूक व्यक्ति, समूहों, ग्राम पंचायत या संस्था को देय होगा जिसका जल व पर्यावरण के क्षेत्र में योगदान उल्लेखनीय होगा।

 

पुरस्कार के उद्देश्य


जल संरक्षण, संग्रहण एवं पुन:भरण से संबंधित नवाचार
कृषि (जल, जमीन, जंगल, जानवर, जलवायु एवं जन) से विभिन्न संबंधित नवाचार
अन्य उल्लेख्नीय कार्य :

जो सामुदायिक स्तर पर किया गया हो।
व्यक्तिगत स्तर पर समाज हेतु किया गया हो, या जिसमें व्यक्तिगत लाभ निहित नही हो एवं समाज जागृति हेतु किया गया हो।

 

पुरस्कार के पात्र


व्यक्ति
ग्राम पंचायत, ग्राम विकास समिति, नवयुवक मंडल, सामाजिक संगठन
समुदाय

 

चयन प्रक्रिया


ग्राम एवं समुदाय का पारितोषिक ग्राम विकास समिति को दिया जायेगा।
निर्णायक मंडल अपना निर्णय लेने में जल, पर्यावरण, शिक्षा के जाने-माने विद्वानों का सहयोग लेता रहेगा। जहां आवश्यक हो इसके लिए एक उपसमिति का भी गठन किया जा सकता है। यह पुरस्कार वर्ष में एक बार ही दिया जाएगा।
निर्णायक मंडल का निर्णय अंतिम होगा।

 

पुरस्कार विवरण

 

प्रथम पुरस्कार राज्य स्तरीय रूपये एक लाख एवं प्रशस्ती पत्र, शाल व श्रीफल
सांत्वना पुरस्कार संभागीय रूपये 11,000 व प्रशस्ती पत्र, शाल व श्रीफल
 

 

 

 

डालमिया पानी पर्यावरण पुरस्कार प्रपत्र

 

 

  1. संस्था/व्यक्ति/ग्राम/समुदाय का नाम/पता:
  2. आपकी संस्था का स्थापना वर्ष एवं मूल उद्देश्य क्या है?
  3. सामाजिक आर्थिक तकनीकी दक्षता विशेषकर पानी पर्यावरण के क्षेत्र में विशेष दक्षता और आप जो कार्य कर रहे हैं क्या वो आपके उद्देश्यों में शामिल है?
  4. आपके द्वारा किये गये कार्यों का समाज के लोगों व प्रवृत्ति पर क्या प्रभाव पड़ा?
  5. आप द्वारा काम में लिए गए नवाचार कौन-कौन से हैं?
  6. ऐसे कितने व्यक्ति/संस्था/गांव हैं जो आपसे प्रेरित होकर कार्य कर रहे हैं इन कार्यों की प्रमाण सहित आवश्यक दस्तावेज संलग्न करें।
  7. आप द्वारा किये गये कार्यों में समाज के लोगों का क्या योगदान रहा?
  8. आपको उपरोक्त कार्य करने में किस-किस एजेन्सी से कितना धन मिला?
  9. आपके कार्य में महिलाओं का क्या योगदान रहा एवं आप द्वारा किया गया कार्य महिलाओं के लिए किस प्रकार उपयोगी है?
  10. आपकी विशिष्ट उपलब्धियां जिनके कारण आपको पुरस्कृत किया जाये?
  11. जल एवं पर्यावरण संरक्षण क्षेत्र में क्या आप पूर्व में किसी संस्था द्वारा पुरस्कृत हुए हैं? यदि हां तो उपयुक्त प्रमाण संलग्न करें।
  12. आपके द्वारा किये गये कार्यों को किसी संस्था/जनप्रतिनिधि/सरकारी एजेन्सी द्वारा यदि सत्यापित अथवा प्रशस्तित किया गया हो तो उपयुक्त प्रमाण संलग्न करें।
  13. आपकी संस्था द्वारा किये गये कार्यों की प्रिन्ट मीडिया अथवा इलेक्ट्रोनिक मीडिया द्वारा प्रकाशित अथवा प्रसारित तथ्यों की विस्तृत जानकारी मय फोटो एवं प्रमाण सहित संलग्न करें।
  14. आपके द्वारा किए गये कार्यों को लगभग 250 शब्दों में (दो से तीन पृष्ठ) सारांश के रूप में प्रस्तुत करें।

उपराक्‍त बिन्‍दुओं को समाहित करते हुए अपना प्रपत्र तैयार करें तथा आवश्यक दस्तावेज व एक 10 रूपये के स्टाम्प पेपर शपथ पत्र के साथ संलग्न करके हमें रजिस्टर्ड डाक से अथवा व्यक्तिश: भी हमें निम्न पते पर भेज सकतें है।

आवेदन प्राप्ति की अंतिम तिथि 30 जून है।

"डालम‍िया पानी पर्यावरण पुरस्कार"
श्री रामकृष्ण जयदयाल डालमिया सेवा संस्थान
श्री रामकृष्ण डालमिया खेलकूद परिसर,
चिङावा - जिला: झुन्झुनू (राजस्थान

इस खबर के स्रोत का लिंक:

http://www.dalmiatrusts.in/dpp_hi

Add new comment

This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions.

1 + 0 =
Solve this simple math problem and enter the result. E.g. for 1+3, enter 4.

More From Author

Related Articles (Topic wise)

Related Articles (District wise)

About the author

Latest