उद्दंडपुर

Submitted by Hindi on Wed, 08/03/2011 - 12:32
Printer Friendly, PDF & Email
उद्दंडपुर बिहार प्रांत में वर्तमान बिहार नाम का कस्बा जो बख्तियारपुर से राजगिरि जानेवाली रेलवे की छोटी लाइन पर पड़ता है। यह नालंदा से छह-सात मील की दूरी पर है। नालंदा की ही भाँति यहाँ भी बौद्धों का विशाल मठ था जहाँ के बिहार में अनेक भिक्षु रहते और बौद्ध दर्शन का मनन करते थे। कुछ लोगों ने इसे भी छोटा मोटा बौद्धविद्यालय ही माना है। यहाँ भी प्राचीन टीलों की खोदाई से अनेक मूर्तियाँ प्राप्त हुई हैं। इस विहार का व्यय बंगाल के पाल राजाओं की दी हुई देवोत्तर संपत्ति से चलता था। कन्नौज के प्रतिहारों ने इसे एक बार पालों से छीन लिया था पर कन्नौज की गद्दी के लिए परस्पर जूझते भोज द्वितीय और महिपाल की अनवधानता से लाभ उठाकर पालनरेश नारायणपाल ने इस फिर जीत लिया। बख्तियार खिलजी ने नालंदा के बौद्ध विहार का नाश करते समय उद्दंडपुर का भी अंत कर दिया।

Hindi Title


विकिपीडिया से (Meaning from Wikipedia)




अन्य स्रोतों से




संदर्भ
1 -

2 -

बाहरी कड़ियाँ
1 -
2 -
3 -