हरियाणा

Submitted by Hindi on Tue, 08/30/2011 - 09:28
हरियाणा भारत का राज्य है। जिसका क्षेत्रफल 46520 वर्ग किमी एवं जनसंख्या 75,69,759 (1961) है। राज्य में एक डिवीजन एवं सात जिले हैं। इन जिलों में 27 तहसीलें एवं इन तहसीलों के अंतर्गत 6,690 ग्राम और 62 उपनगर हैं। यहाँ की ग्रामीण जनसंख्या 62,92,079 (1961) एवं शहरी जनसंख्या 13,07,680 (1961) है। इस राज्य की राजधानी चंडीगढ़ है।

यह राज्य मुख्यत: कृषिप्रधान है, पर सिंचाई के साधनों की यहाँ अत्यधिक कमी है। अधिकांश भाग शुष्क एवं अर्धशुष्क क्षेत्रों में पड़ता है। राज्य में कोई भी ऐसी नदी नहीं है जिसमें वर्ष भर जल रहे। यहाँ ऋतु के अनुसार ताप में बड़ा परिवर्तन अधिक होता है। जाड़े में पाले से बड़ी हानि होती है। ग्रीष्म में प्राय: धूल से भरी आँधियाँ चला करती हैं। राज्य के आधे हिस्से में औसत वार्षिक वर्षा 51 सेमी से कम होती है। धग्गर, टंगड़ी, मरकंद, सरस्वती, चुतंग, कृष्णवती एवं दोहन भी बरसाती एवं छिछली नदियाँ हैं। पूर्व की ओर यमुना उत्तर प्रदेश के साथ उसकी सीमा बनाती है। राज्य के अधिकांश भाग की अवमृदा (Subsoil) ननुखरी है।

गेहूँ, जौ, मक्का, ज्वार, बाजरा, गन्ना एवं दलहन यहाँ की प्रमुख फसलें हैं। धान एवं कपास की खेती भी यहाँ की जाती है।

हरियाणा सर्वोत्कृष्ट नस्ल की सुंदर एवं सुडौल मुर्रा भैंसों और गायों के लिए अतीत काल से प्रसिद्ध है तथा संपूर्ण देश में उपर्युक्त दोनों पशुओं की बड़ी माँग है। हिसार का मवेशी फार्म एशिया के बड़े मवेशी फार्मों में से एक है और भारत में मवेशियों के नस्ल सुधार क्रियाकलापों का प्रमुख केंद्र है।

अब तक यह राज्य औद्योगिक क्षेत्र में पिछड़ा रहा, पर अब दिल्ली के आसपास स्थित सोनीपत, फरीदाबाद आदि नगरों में औद्योगिक इकाइयाँ स्थापित हो गई हैं। हरियाणा वित्त निगम, उद्योग विकास निगम तथा हरियाणा लघु उद्योग एवं निर्यात निगम राज्य में बड़े एवं छोटे उद्योगों को स्थापित करने में सहायता प्रदान कर रहे हैं और राज्य उद्योगों के लिए सस्ती भूमि और जल एवं विद्युत्‌शक्ति के संभरण का कार्य कर रहा है। महेंद्रगढ़ के अतिरिक्त राज्य में खनिजों का अभाव है।

हरियाणा राज्य बनने से पूर्व तक यह प्रदेश शिक्षा के क्षेत्र में अत्यंत पिछड़ा हुआ था। 1961 ई. की जनगणना के अनुसार इस राज्य में सम्मिलित जिलों की जनसंख्या का मात्र 20 प्रतिशत ही शिक्षित है। राज्य की भाषा हिंदी हैं। कुरुक्षेत्र में एक विश्वविद्यालय है। मैट्रिकुलेशन एवं उच्चतर माध्यमिक स्तर की परीक्षा लेने और पाठ्यक्रमों में सुधार के लिए एक शिक्षा बोर्ड का संगठन किया गया है। फरीदाबाद में जर्मनी के वाइ. एम. सी. ए. (Y. M. C. A.) के सहयोग से स्थापित तकनीकी प्रशिक्षण केंद्र भी यहाँ है। रोहतक में चिकित्सा महाविद्यालय है।

राज्य के कई स्थान दर्शनीय हैं। दिल्ली से 100 मील की दूरी पर कुरुक्षेत्र है, जो हिंदुओं का अत्यंत प्रसिद्ध, धार्मिक एवं ऐतिहासिक स्थल है। यहाँ कौरवों एवं पांडवों के मध्य ऐतिहासिक युद्ध महाभारत हुआ था। सूर्यग्रहण के अवसर पर भी यहाँ बहुत तीर्थयात्री आते हैं। दिल्ली के समीप ही बदखल झील एवं सूरजपुर कुंड दर्शनीय स्थल हैं। चंडीगढ़ और नगर से 13 मील दूर स्थित पिंजेर के मुगल उद्यान भी दर्शनीय हैं। ताजीवाला कलेसर नारायणगंज क्षेत्र शिकारियों के लिए आकर्षण का केंद्र हैं। अंबाला, झज्जर, थानेश्वर, रेवाड़ी, नारनौल, पानीपत एवं चंडीगढ़ राज्य के प्रसिद्ध नगर है। राज्य सभा में पाँच और लोकसभा में नौ सदस्यों द्वारा यहाँ का प्रतिनिधित्व किया जाता है। (अजितनारायण मेहरोत्रा)

Hindi Title


विकिपीडिया से (Meaning from Wikipedia)




अन्य स्रोतों से




संदर्भ
1 -

2 -

बाहरी कड़ियाँ
1 -
2 -
3 -

Disqus Comment