जैव-विविधता संरक्षण का संकल्प लेकर मनाया गया विश्व पृथ्वी दिवस

Submitted by Hindi on Mon, 04/23/2012 - 17:49
Source
नीर फाउंडेशन
विश्व पृथ्वी दिवस पर आयोजित एक दिवसीय सेमिनार में भाग लेते प्रबुद्धजनविश्व पृथ्वी दिवस पर आयोजित एक दिवसीय सेमिनार में भाग लेते प्रबुद्धजनजल संवर्धन और पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में कार्यरत गैर-सरकारी संस्था नीर फाउंडेशन द्वारा विश्व पृथ्वी दिवस के अवसर पर जेपी एकेडमी में एक सेमीनार का आयोजन किया। इस सेमीनार का विषय भारत में जैव-विविधता संरक्षण: मुद्दे, चुनौतियां और समाधान रखा गया। इस अति महत्वपूर्ण विषय पर सेमीनार में मेरठ के सांसद राजेन्द्र अग्रवाल, एसपी इंटेलीजेंस डॉ. अरविन्द कुमार सहित करीब 250 बच्चों ने भाग लिया। यह सेमीनार अर्थ डे नेटवर्क, दिल्ली व रोटरी क्लब, मेरठ के सहयोग से आयोजित किया गया।

सेमीनार के प्रारम्भ में आठ बच्चों ने जैव-विविधता को बचाने के लिए अपने विचार प्रस्तुत किए। इसके बाद नीर फाउंडेशन के निदेशक रमन त्यागी ने बताया कि ‘वर्ल्ड अर्थ डे‘ यानी ‘विश्व पृथ्वी दिवस‘ विश्व का सबसे बड़े स्तर पर मनाया जाने वाला पर्यावरणीय दिवस है। इस दिवस के माध्यम से हम ब्रह्माण्ड में पृथ्वी के सबसे विशिष्ट स्थान को सम्मान देते हैं। हर साल 22 अप्रैल को विश्व में करीब 192 देश इस दिवस को विभिन्न क्रिया-कलापों द्वारा मनाते हैं। इस दिवस का प्रारम्भ यू.एस. के सीनेटर गेलोरड नेलसन द्वारा 22 अप्रैल, 1970 में की गई थी। इसके बाद 21 मार्च, 1971 में यूनाइटिड नेशन्स के सेकरेट्री जनरल, यू थैन्ट ने इसे अन्तर्राष्ट्रीय दिवस के रूप में पहचान दी।

मेरठ के सांसद राजेन्द्र अग्रवाल ने कहा कि पृथ्वी दिवस पर्यावरण को बचाने अर्थात पृथ्वी को हरा-भरा बनाये रखने का एक सांकेतिक माध्यम है। इस दिवस से हमें संकेत मिलता है कि हमें अपनी पृथ्वी को नुकसान नहीं पहुंचाना चाहिए तथा उसके पर्यावरण को बनाए रखना चाहिए।

नीर फाउंडेशन व रोटरी क्लब की ओर से प्रमाण पत्र देकर बच्चों को सम्मानित किया गयानीर फाउंडेशन व रोटरी क्लब की ओर से प्रमाण पत्र देकर बच्चों को सम्मानित किया गयाएस पी इंटेलीजेंस डॉ. अरविन्द कुमार ने कहा कि जैव-विविधता से ही हमारी खाद सुरक्षा सुनिश्चित होती है। मानव से लेकर पशु-पक्षियों तक के लिए खाद सुरक्षा आवश्यक है। हमें ध्यान रखना चाहिए कि हम पूरी तरह से अपनी खाद सुरक्षा को नष्ट न होने दें।

पर्यावरण की वाद-विवाद प्रतियोगिता में भाग लेने वाले बच्चों आंचल शर्मा, कार्तिक धीर, अनुष्का, मानवी, अक्षम, जावेद, दीक्षा व साक्षी मदान को नीर फाउंडेशन व रोटरी क्लब की ओर से प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया।

इस दौरान जैव-विविधता अर्थात पृथ्वी को बचाने के लिए उस अभियान का भी प्रारम्भ किया गया जिसके तहत बच्चों द्वारा शपथ ली गई कि वे पृथ्वी के पर्यावरण को किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं पहुंचाएंगे। यह शपथ यूनाइटेड नेशन्स द्वारा नीर फाउंडेशन को भेजी गई थी जोकि मेरठ के सभी स्कूलों में ली जानी है। इसके लिए एक लाख बच्चों का लक्ष्य रखा गया है। सभी बच्चों ने पृथ्वी को बचाने के लिए बच्चों ने शपथ पत्र भी भरे। शपथ पत्र भरवाने का यह अभियान यूनाइटेड नेशन्स की ओर से सम्पूर्ण विश्व में संचालित किया जा रहा है।

विश्व पृथ्वी दिवस पर आयोजित एक दिवसीय सेमिनार में बोलते नीर फाउंडेशन के निदेशक रमन त्यागीविश्व पृथ्वी दिवस पर आयोजित एक दिवसीय सेमिनार में बोलते नीर फाउंडेशन के निदेशक रमन त्यागीइस दौरान कर्नल आर एस जाखड़ द्वारा सभी अतिथियों का आभार व्यक्त किया गया। संचालन साक्षी मदान ने किया। इस दौरान सुषमा शर्मा, नरेन्द्र भट्टी व विनय प्रधान आदि का भी उपस्थित रहे।

अन्त में सांसद राजेन्द्र अग्रवाल ने सभी बच्चों को पार्लियामेंट की कार्यवाही दिखाने के लिए आमंत्रित किया।

Disqus Comment

More From Author

Related Articles (Topic wise)

Related Articles (District wise)

About the author

नया ताजा