पलकमती नदी का क्षेत्र में जीवित रहना आवश्यक है या नहीं? यदि हाँ तो क्यों

Submitted by Hindi on Fri, 02/15/2013 - 14:54
Source
दलित संघ सामाजिक संस्था

 

क्रमांकवर्णनसंख्या प्रतिशत
1.पीने के पानी के लिए1213.3%
2.जानवरों को पानी के लिए453.3%
3.खेती के लिए पानी5257.7%
4.रेत, गिट्टी के लिए 1415.5%
5.रोज़गार के लिए4145.5%
6.जन जीवन के लिए 1112.2%
7.हरा-भरा वातावरण के लिए0910%
8.दैनिक कार्यों के लिए2730%
9.जल स्तर सामान्य रखने के लिए088.8%
10.मछलियों के लिए077.7%
11.डंगरबाड़ी के लिए088.8%
12. जनजीवन के लिए 077.7%


15 ग्रामों के 90 परिवारों द्वारा पलकमती नदी का रहना कितना आवश्यक है- इस पर 53.3% लोगों का मत है कि जानवरों को पीने का पानी मिल जाता है, 45.5% व्यक्तियों का मत है इसके समाप्त होने पर रोज़गार पर प्रभाव पड़ेगा, 57.7% व्यक्ति मानते हैं कि इसका प्रभाव खेती के पानी एवं जल पर पड़ेगा।

100% व्यक्तियों का यह जवाब आया है कि पलकमती का क्षेत्र में जीवित रहना आवश्यक है।

वर्ष भर में पलकमती नदी से निकाली जाने वाले कितनी वस्तुओं का उपयोग किया जाता हैं जिसका मूल्यांकन रुपए में निकला गया है।

 

क्रमांकउपयोग में आने वाली वस्तुमूल्य (रुपयों में)प्रतिशत
1.पानी49,57,000=0027.8%
2.रेत29,83,600=0016.7%
3.मिट्टी12,14,900=006.8%
4.बोल्डर2,45,900=001.3%
5.खेती84,19,050=0047.2%
 कुल=1,78,20,450=00 


15 ग्रामों के 90 परिवारों से चर्चा में जो निष्कर्ष निकला उसमें एक वर्ष में हम पलकमती नदी से पानी, रेत, मिट्टी, बोल्डर, खेती, के रूप में एक करोड़ अठहत्तर लाख, बीस हजार, चार सौ पचास रुपयों का उपयोग ले लेते हैं।

लेकिन उसके बदले देते क्या है? शायद कुछ भी नहीं। शायद प्रतिदिन उसे समाप्त करने का प्रयास ज़रूर करते हैं।

Disqus Comment

More From Author

Related Articles (Topic wise)

Related Articles (District wise)

About the author

नया ताजा