जागरूक शहर फुकुओका

Submitted by admin on Mon, 12/21/2009 - 12:44
फुकुओका शहर पिश्चमी-दक्षिण जापान के एक बड़े द्वीप उत्तरी क्यूंशू में स्थित है, जिसकी आबादी 1 करोड़ 30 लाख के करीब है। यह देश का चौथा बड़ा व्यापारिक शहर है। सन् 1978 में यहां भीषण सूखा पड़ा था, जिससे यहां के प्रशासन को 278 दिनों तक पानी की सेवाएं रोकनी पड़ी यानी, उन्हें रोजाना 12 घंटे तक के लिए पानी रोकना पड़ा। इसके कुछ भू-भागों में तो बिल्कुल पानी नहीं था। इस स्थिति में उन्हें पानी संसाधन का मोल समझ में आया। सन् 1979 में इस शहर के निवासी एक `जल संरक्षण के प्रति जागरूक शहर´ बनाने में जुट गए, जो जापान में अपने आप में एक पहली शुरुआत थी। इसके काफी उत्साहजनक परिणाम सामने आए।

भीषण बारिश के दौरान बड़ी नदियों के पानी को पम्प के जरिए बांधों में डाला गया और इस प्रकार जल भण्डारण को बढ़ाने के विभिन्न प्रयास किए गए। बेकार के पानी को भी साफ किया जाता है और प्रत्येक इमारत के भीतर ही छत से बहने वाले पानी को उपयोग में लाया जाता है। जल संरक्षण के इस प्रयास से प्रतिदिन 7,000 घन मीटर पानी प्राप्त होता है।

यहां का शहरी प्रशासन जल बचत शौचालयों को भी बढ़ावा देता है, जिससे अब शौचालय (फ्लश) को धोने में 5 लीटर तक पानी की बचत होती है। आज यहां ऐसे 500,000 शौचालयों में इसका उपयोग हो रहा है।

जल संरक्षण के प्रयासों पर किए गए सर्वेक्षण से पता चलता है कि 97.5 प्रतिशत नागरिक पानी बचाने की आवश्यकता के प्रति जागरूक हैं और 72 प्रतिशत से ज्यादा लोग इस बहुमुल्य जल संसाधन के संरक्षण के लिए ठोस कदम उठा रहे हैं। इस शहर के रिहायशियों, व्यापारियों और शहरी प्रशासन ने प्रत्येक घन मीटर उपयोग किए गए पानी के लिए एक येन `फुकुओका सिटी फारेस्ट एण्ड वॉटर रिसोर्स फॉउडेशन´ के लिए अलग रखने का प्रावधान बनाया है। यह फंड जल संसाधन के क्षेत्र में सुधार लाने के लिए स्थापित किया गया है।

फुकुओका में सन् 1994 के दौरान सूखा पड़ा, जिसमें 891 मिली मीटर (मिमी) की वार्षिक बरसात हुई, जो सन् 1978 के सूखे से भी ज्यादा भीषण था, जिसमें 1,138 मिली की वर्षा हुई थी। लेकिन इसके बावजूद भी यहां सिर्फ 8 घंटे के पानी पर ही पाबंदी लगी और प्रत्येक घर को नल से पानी की आपूर्ति की गई। इन दो दशकों के दौरान जन जागरूकता पर किए गए सतत प्रयास से आज यहां प्रति व्यक्ति प्रति दिन जल उपयोग की मात्रा सन् 1978 से काफी कम है। इस शहर में प्रति व्यक्ति प्रति दिन 311 लीटर पानी का उपयोग होता है, जबकि जापान के अन्य शहरों में इसकी मात्रा 404 लीटर है।

स्रोत 2001, वर्ल्ड वॉटर एण्ड इन्वायरन्मेटल इंजीनियरिंग, फेवर्स ऑन हाउस ग्रुप लिमिटेड, यू. के., वाल्यूम 24, अंक 4, पेज 18

Disqus Comment

More From Author

Related Articles (Topic wise)

Related Articles (District wise)

About the author

नया ताजा