बकरी पालन : सूखे में आजीविका का सहारा

Submitted by Hindi on Thu, 04/11/2013 - 13:15
Printer Friendly, PDF & Email
Source
गोरखपुर एनवायरन्मेंटल एक्शन ग्रुप, 2011
खेती में पशुपालन एक महत्वपूर्ण अवयव के रूप में हमेशा से उपयोगी रहा है। सूखे के क्षेत्र में इसका महत्व और बढ़ जाता है और उसमें भी बकरी पालन सूखे की दृष्टिकोण व छोटे किसानों के लिहाज से काफी प्रभावी है क्योंकि इसमें लागत कम होने के साथ ही साथ आजीविका के विकल्प भी बढ़ जाते हैं।

परिचय


खेती और पशु दोनों एक दूसरे के पर्याय हैं। उत्तर प्रदेश की आजीविका इन्हीं दो के इर्द-गिर्द अधिकांशतः घूमती रहती है। खेती कम होने की दशा में लोगों की आजीविका का मुख्य साधन पशुपालन हो जाता है। गरीब की गाय के नाम से मशहूर बकरी हमेशा ही आजीविका के सुरक्षित स्रोत के रूप में पहचानी जाती रही है। बकरी छोटा जानवर होने के कारण इसके रख-रखाव का खर्च भी न्यूनतम होता है। सूखे के दौरान भी इसके खाने का इंतज़ाम आसानी से हो सकता है, इसके साज-संभाल का कार्य महिलाएं एवं बच्चे भी कर सकते हैं और साथ ही आवश्यकता पड़ने पर इसे आसानी से बेचकर अपनी जरूरत भी पूरी की जा सकती है। बुंदेलखंड क्षेत्र में अधिकतर लघु एवं सीमांत किसान होने के कारण यहां पर सभी परिवार एक या दो जानवर अवश्य पालते हैं, ताकि उनके लिए दूध की व्यवस्था होती रहे। इनमें गाय, भैंस, बकरी आदि होती हैं। विगत कुछ वर्षों से पड़ रहे सूखे की वजह से और बड़े जानवरों के लिए चारा आदि की व्यवस्था करना एक मुश्किल कार्य होने के कारण लोग बकरी पालन को अधिक तरजीह दे रहे है। जंगल एवं बीहड़ के किनारे बसे गाँवों के लिए यह एक उपयुक्त एवं आसानी से हो सकने वाली आजीविका है, क्योंकि जंगलों में चराकर ही इनको पाला जा सकता है और गरीब परिवारों की रोजी-रोटी आसानी से चल सकती है। इस प्रकार बकरी पालन सूखाग्रस्त क्षेत्रों के लिए एक मुफीद स्रोत है।

नस्लें


वैसे तो बकरी की जमुनापारी, बरबरी एवं ब्लेक बंगाल इत्यादि नस्लें होती हैं। लेकिन यहां पर लोग सूखा की स्थिति में देशी एवं बरबरी नस्ल की बकरियों का पालन करते हैं, जिनकी देख-रेख आसानी से हो जाती है।

प्रक्रिया


बकरी को पालने के लिए अलग से किसी आश्रय स्थल की आश्यकता नहीं पड़ती। उन्हें अपने घर पर ही रखते हैं। बड़े पैमाने पर यदि बकरी पालन का कार्य किया जाए, तब उसके लिए अलग से बाड़ा बनाने की आवश्यकता पड़ती है। बुंदेलखंड क्षेत्र में अधिकतर लोग खेती किसानी के साथ बकरी पालन का कार्य करते हैं। ऐसी स्थिति में ये बकरियां खेतों और जंगलों में घूम-फिर कर अपना भोजन आसानी से प्राप्त कर लेती है। अतः इनके लिए अलग से दाना-भूसा आदि की व्यवस्था बहुत न्यून मात्रा में करनी पड़ती है।

यह उल्लेखनीय है कि देशी बकरियों के अलावा यदि बरबरी, जमुनापारी इत्यादि नस्ल की बकरियां होंगी तो उनके लिए दाना, भूसी, चारा की व्यवस्था करनी पड़ती है, पर वह भी सस्ते में हो जाता है। दो से पांच बकरी तक एक परिवार बिना किसी अतिरिक्त व्यवस्था के आसानी से पाल लेता है। घर की महिलाएं बकरी की देख-रेख करती हैं और खाने के बाद बचे जूठन से इनके भूसा की सानी कर दी जाती है। ऊपर से थोड़ा बेझर का दाना मिलाने से इनका खाना स्वादिष्ट हो जाता है। बकरियों के रहने के लिए साफ-सुथरी एवं सूखी जगह की आवश्यकता होती है।

प्रजनन क्षमता


एक बकरी लगभग डेढ़ वर्ष की अवस्था में बच्चा देने की स्थिति में आ जाती है और 6-7 माह में बच्चा देती है। प्रायः एक बकरी एक बार में दो से तीन बच्चा देती है और एक साल में दो बार बच्चा देने से इनकी संख्या में वृद्धि होती है। बच्चे को एक वर्ष तक पालने के बाद ही बेचते हैं।

बकरियों में प्रमुख रोग


देशी बकरियों में मुख्यतः मुंहपका, खुरपका, पेट के कीड़ों के साथ-साथ खुजली की बीमारियाँ होती हैं। ये बीमारियाँ प्रायः बरसात के मौसम में होती हैं।

उपचार


बकरियों में रोग का प्रसार आसानी से और तेजी से होता है। अतः रोग के लक्षण दिखते ही इन्हें तुरंत पशु डाक्टर से दिखाना चाहिए। कभी-कभी देशी उपचार से भी रोग ठीक हो जाते हैं।

बकरी पालन हेतु सावधानियां


बीहड़ क्षेत्र में बकरी पालन करते समय निम्न सावधानियां बरतनी पड़ती हैं-
आबादी क्षेत्र जंगल से सटे होने के कारण जंगली जानवरों का भय बना रहता है, क्योंकि बकरी जिस जगह पर रहती है, वहां उसकी महक आती है और उस महक को सूंघकर जंगली जानवर गांव की तरफ आने लगते हैं।
बकरी के छोटे बच्चों को कुत्तों से बचाकर रखना पड़ता है।
बकरी एक ऐसा जानवर है, जो फ़सलों को अधिक नुकसान पहुँचाती है। इसलिए खेत में फसल होने की स्थिति में विशेष रखवाली करनी पड़ती है। वरना खेत खाने के चक्कर में आपसी दुश्मनी भी बढ़ने लगती है।

बकरी पालन में समस्याएं


हालांकि बकरी गरीब की गाय होती है, फिर भी इसके पालन में कई दिक्कतें भी आती हैं –
बरसात के मौसम में बकरी की देख-भाल करना सबसे कठिन होता है। क्योंकि बकरी गीले स्थान पर बैठती नहीं है और उसी समय इनमें रोग भी बहुत अधिक होता है।
बकरी का दूध पौष्टिक होने के बावजूद उसमें महक आने के कारण कोई उसे खरीदना नहीं चाहता। इसलिए उसका कोई मूल्य नहीं मिल पाता है।
बकरी को रोज़ाना चराने के लिए ले जाना पड़ता है। इसलिए एक व्यक्ति को उसी की देख-रेख के लिए रहना पड़ता है।

फायदे


सूखा प्रभावित क्षेत्र में खेती के साथ आसानी से किया जा सकने वाला यह एक कम लागत का अच्छा व्यवसाय है, जिससे मोटे तौर पर निम्न लाभ होते हैं-
जरूरत के समय बकरियों को बेचकर आसानी से नकद पैसा प्राप्त किया जा सकता है।
इस व्यवसाय को करने के लिए किसी प्रकार के तकनीकी ज्ञान की आवश्यकता नहीं पड़ती।
यह व्यवसाय बहुत तेजी से फैलता है। इसलिए यह व्यवसाय कम लागत में अधिक मुनाफा देना वाला है।
इनके लिए बाजार स्थानीय स्तर पर ही उपलब्ध है। अधिकतर व्यवसायी गांव से ही आकर बकरी-बकरे को खरीदकर ले जाते हैं।

Comments

Submitted by Anonymous (not verified) on Fri, 10/17/2014 - 19:00

Permalink

main ye janna chahta hu ki kya bakri palan k liye kisi govt department like (Trade Tax Department ya Pashupalan Department) se registration karana jaruri hai ????? please help me

Submitted by Anonymous (not verified) on Mon, 01/05/2015 - 22:43

Permalink

मे बकरी पालना चाहता हूं मेरे पास पेसा नही है लोन कहा से मिलेगा मेरी साहता करे मेरा मोबाईल नं 9639245521

Submitted by Anonymous (not verified) on Wed, 01/21/2015 - 07:57

Permalink

main andhra pradesh ke visakhapatnam me rahta hu. main bakri palana chahata hu.mere pass jamin hai. mera mail ID beesettykumar12@gmail.com hai. mujhe aap ki salah ki jarurat hai.

Submitted by Adil khan (not verified) on Wed, 04/15/2015 - 01:48

Permalink

mein bakri palan karna chahta hun puri jankari chahiye pesa kha se aa sakta he

Submitted by kailash pal (not verified) on Wed, 04/15/2015 - 17:22

Permalink

  me bakari palan karna chahat hu 

 aap me kya sayata kar sakate he 

 

mera pata

 

              kailash pal 

             neharu petarol pump

             pal boot house , lashkar 

            gwalior m.p.

           474001

           09826237765

 

 

 

 

        mere madat kare to aap ki aati kirpa hogi

Submitted by shailendra saraswati (not verified) on Tue, 04/28/2015 - 13:47

Permalink

dear sir

mai bakri palan karna chahta hu muje kis bank se loan mil sakta hai

Submitted by संदीप मिश्रा (not verified) on Fri, 07/17/2015 - 12:55

Permalink

मे खंडवा मध्यप्रदेश मे बकरी पालन करना चाहता हूँ मुझे किन नस्लो का पालन करना चाहिए एवं बकरी पालन के लिए प्रशिक्षण कहा से मिलेगा

Submitted by prashant warbhe (not verified) on Sat, 07/25/2015 - 20:30

Permalink

Muze Bakri pal an ke liye loan cyahiye Plz meri madat kijiye

Submitted by prashant warbhe (not verified) on Sat, 07/25/2015 - 20:33

Permalink

Muze Bakri pal an ke liye loan cyahiye Plz meri madat kijiye

Submitted by prashant warbhe (not verified) on Sat, 07/25/2015 - 20:33

Permalink

Muze Bakri pal an ke liye loan cyahiye Plz meri madat kijiye

Submitted by prashant warbhe (not verified) on Sat, 07/25/2015 - 20:34

Permalink

Muze Bakri pal an ke liye loan cyahiye Plz meri madat kijiye

Submitted by prashant warbhe (not verified) on Sat, 07/25/2015 - 20:36

Permalink

Muze Bakri pal an ke liye loan cyahiye Plz meri madat kijiye

Submitted by prashant warbhe (not verified) on Sat, 07/25/2015 - 20:38

Permalink

Muze Bakri pal an ke liye loan cyahiye Plz meri madat kijiye

Submitted by DILIP RAWAT (not verified) on Thu, 09/22/2016 - 11:41

In reply to by prashant warbhe (not verified)

Permalink

Sir, Mera naam Dilip Rawat hai or is waqt me Mumbai me hu. or me Uttrakhand ke Pour Garhwal se belong karta hu. Sir, me ek Gov. Employee hu. per me Uttrakhan me basna chahta hu. Mujhe apni uttrakhand se bahut PYAR hai isliye me apne gaon me settle hona chahata hu. Sath hi Sath me BAKRIYON ka palan karna chahata hu.

Please is bare me mujhe jankari dijiye or meri madat kijiye.

 

Dhanyawad. 

 

Aapke reply ki intzari per hu...

Submitted by prashant warbhe (not verified) on Sat, 07/25/2015 - 20:39

Permalink

Muze Bakri pal an ke liye loan cyahiye Plz meri madat kijiye

Submitted by prashant warbhe (not verified) on Sat, 07/25/2015 - 20:42

Permalink

Muze Bakri pal an ke liye loan cyahiye Plz meri madat kijiye

Submitted by prashant warbhe (not verified) on Sat, 07/25/2015 - 20:42

Permalink

Muze Bakri pal an ke liye loan cyahiye Plz meri madat kijiye

Submitted by prashant warbhe (not verified) on Sat, 07/25/2015 - 21:24

Permalink

Muze Bakri pal an ke liye loan cyahiye Plz meri madat kijiye

Submitted by prashant warbhe (not verified) on Sat, 07/25/2015 - 21:28

Permalink

Muze Bakri pal an ke liye loan cyahiye Plz meri madat kijiye

Submitted by Rahul karma (not verified) on Wed, 03/16/2016 - 21:36

Permalink

Sir mujhe khargone me Bakri palan karna he barbari bakriya yha ki jalwayu me kese rahegi or personally desi Bakri palan me 1 yr ka experience he abi b desi Bakri form running he,plz sir suggested me

Submitted by Rahul karma (not verified) on Wed, 03/16/2016 - 21:38

Permalink

Sir mujhe khargone me Bakri palan karna he barbari bakriya yha ki jalwayu me kese rahegi or personally desi Bakri palan me 1 yr ka experience he abi b desi Bakri form running he,plz sir suggested me

Submitted by Nazim ALi (not verified) on Fri, 09/02/2016 - 09:42

Permalink

जिला रामपुर उत्तरप्रदेश के लिय कौन सी नस्ल अच्छी हॆ

Submitted by RAM SINGH (not verified) on Sun, 10/09/2016 - 13:25

Permalink

HI SIR MAI REWA M P  SE HU MAI BAKARI PALAN BUSSNESS START KARNA CHA HATA HU MUJHE BACHCHE KHARIDANA HAI KOI BECHANE WALE SE CONTRECT KARWA DIGIYE

 

                      CHANDEL.RAHULSINGH6@GMAIL.COM

                   CO NO 8982029215

                               9425186598

Submitted by Arun kumar cha… (not verified) on Sun, 11/27/2016 - 18:22

Permalink

bakri palan k lia lone kayse milega .

Submitted by Rakesh pal (not verified) on Tue, 02/28/2017 - 09:01

In reply to by Arun kumar cha… (not verified)

Permalink

SirMe bakari palana karna chahta hu is ke liye muche Kon chaiye mere pass sab hai

Submitted by susant choudhary (not verified) on Wed, 12/21/2016 - 20:00

Permalink

<p>Sir main bakri palam karna chahta hu mujhe thodi bahut jankari internet ke madhyam se mili hai.aur adhik jankari chahta hu jaise ki kam se kam 100 bakri palne ke liye kitni jamin ki aur kitna rupya ki jarurat par sakta hai.aur bakri hame kaha kaha se mil sakta hai.sath hi ghass ke badle hum koun sa chara khila sakte hai.medicine hame kaha milega eski bhi jankari chahiye taki samay samay par tika khud laga le...SUSANT CHOUDHARY (BIHAR;KATIHAR)</p>

Submitted by Nasir (not verified) on Tue, 02/28/2017 - 13:14

Permalink

sir . Mera nam nasir mai west bengal ka murshidabad jela ka rehene bala hu. Sir muje bakri ki bare mai jankari chaye.balki mai khud ek fermer khol sako .bakri ke bare mai achi jankari iya training kaha milega muje kripiya bataye. Mera najdik koi sarkar free mai jankari mile aisa jaga ka pata batye thank you.

Mai graduation complete kar chuka hu Mere pass koi job bhi h but mai ak electrical workar hu Or mai chahta hu ki mai koi business karu or mere khayal se esse achha business kuchh bhi h

सर मैैं मो0 इलि‍यास बरेली उ0 प्र0 से 

बकरी पालन लाइसेंस और जानकारी कहां से मि‍लेेेेगी

Submitted by Rizwan (not verified) on Wed, 06/28/2017 - 04:04

Permalink

main ye janna chahta hu ki kya bakri palan k liye kisi govt department like (Trade Tax Department ya Pashupalan Department) se registration karana jaruri hai ????? please help me

Add new comment

This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions.

1 + 17 =
Solve this simple math problem and enter the result. E.g. for 1+3, enter 4.

More From Author

Related Articles (Topic wise)

Related Articles (District wise)

About the author

Latest