27 प्रभावितों का परीक्षण किया

Submitted by admin on Sat, 02/01/2014 - 11:52
Source
राज एक्सप्रेस, 13 अक्टूबर 2011
झाबुआ : जिले में पिछले कई वर्षों से फ्लोराइड के पीड़ित अपनी बीमारी से दो-दो हाथ कर रहे थे लेकिन कलेक्टर जयश्री कियावत ने गंभीरतापूर्वक स्वास्थ्य विभाग को अलर्ट कर पीड़ितों को प्राथमिक उपचार के लिए जिला चिकित्सालय बुलवाया गया। बुधवार को पीड़ितों का स्वास्थ्य परीक्षण डॉक्टरों के दल द्वारा किया गया तथा गंभीर रूप से उक्त बीमारी से पीड़ित मरीजों को तत्काल एंबुलेंस से इंदौर रैफर करवाया गया।

कलेक्टर जयश्री कियावत के निर्देशानुसार बुधवर को जिला चिकित्सालय झाबुआ में फ्लोराइड प्रभावितों के उपचार एवं जांच के लिए शिविर आयोजित किया गया।

शिविर का आयोजन मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. रजनी डावर के मार्गदर्शन में किया गया। अवसर पर मेडिकल स्पेशलिस्ट डॉ. संजय मालवीय, अस्थि रोग विशेषज्ञ डॉ. व्हीएस निनामा वं दंत रोग विशेषज्ञ डॉ. एसएस गर्ग की संयुक्त टीम ने पीड़ितों की जांच की एवं उपचार के लिए आवश्यक दवाइयां उपलब्ध करवाई।

शिविर में थांदला ब्लॉक के ग्राम मियाटी के 14, ग्राम जसोदा खुमजी के 13 फ्लोराइड पीड़ितों की जांच की गई। जिनमें थांदला विकासखंड के ग्राम मियाटी के भूरसिंग पिता तोलिया नितय पिता लालू, काली पिता तोलिया, सुनीता पिता तोलिया, सुमित्रा पिता पारसिंग, रिमू पिता सोवन, भूरा पिता पालसिंग, अनिता पिता योहन, रेखा पिता मानसिंग, कैलाश पिता धुलिया, राहुल पिता सूरसिंग, संजू पित दाऊ, कल्ल पिता खुमान एवं ग्राम जसोदा खुमजी के प्रकाश पिता शैतान, मत्थु कैकड़िया, अनिल पिता अनसिंग, मुन्ना पिता पुनिया, उमेश पिता पुनिया, राकेश पिता जसौदा, रमेश पिता शैतान, कुवरसिंग पिता अनसिंग, सावित्री पिता बहादुर, दिलीप पिता बहादुर, पिंटू पिता मांगीलाल, मम्दु पिता सागरिया का स्वास्थ्य परीक्षण कर आवश्यक दवाइयां प्रदान की गई।

दो बच्चों को उपचार के लिए इंदौर भेजा गया। फ्लोराइड से अत्यधिक प्रभावित ग्राम जसोदा खुमजी की मत्थु पिता केकड़िया एवं कुअरसिंग पिता अनसिंग को उपचार के लिए एंबुलेंस से तत्काल इंदौर अस्पताल में करेक्टिव सर्जरी के लिए भेजा गया। बच्चों के साथ स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टर को भी भेजा गया है।

Disqus Comment