‘स्वच्छ भारत मिशन (2014-19)’ के महाअभियान का शपथपत्र 2, अक्तूबर, 2014

Submitted by HindiWater on Thu, 10/02/2014 - 11:02
Source
जनसत्ता, 02 अक्टूबर 2014

स्वच्छता शपथ


.महात्मा गांधी ने जिस भारत का सपना देखा था उसमें सिर्फ राजनैतिक आजादी ही नहीं थी, बल्कि एक स्वच्छ एवं विकसित देश की कल्पना भी थी। महात्मा गांधी ने गुलामी की जंजीरों को तोड़कर मां भारती को आजाद कराया। अब हमारा कर्त्तव्य है कि गंदगी को दूर करके भारत माता की सेवा करें। मैं शपथ लेता हूं कि मैं स्वयं स्वच्छता के प्रति सजग रहूंगा और उसके लिए समय दूंगा।

हर वर्ष 100 घंटे यानि हर सप्ताह 2 घंटे श्रमदान कर के स्वच्छता के इस संकल्प को चरितार्थ करूंगा। मैं न गंदगी करूंगा न किसी और को करने दूंगा। सबसे पहले मैं स्वयं से, मेरे परिवार से, मेरे मुहल्ले से, मेरे गांव से एवं मेरे कार्यस्थल से शुरुआत करूंगा।

मैं यह मानता हूं कि दुनिया के जो भी देश स्वच्छ दिखते हैं उसका कारण यह है कि वहां के नागरिक गंदगी नहीं करते और न ही होने देते हैं। इस विचार के साथ मैं गांव-गांव और गली-गली स्वच्छ भारत मिशन का प्रचार करूंगा। मैं आज जो शपथ ले रहा हूं, वह अन्य 100 व्यक्तियों से भी करवाऊंगा। वे भी मेरी तरह स्वच्छता के लिए 100 घंटे दें, इसके लिए प्रयास करूंगा। मुझे मालूम है कि स्वच्छता की तरफ बढ़ाया गया मेरा एक कदम पूरे भारत देश को स्वच्छ बनाने में मदद करेगा।

‘स्वच्छ भारत मिशन’
शहरी विकास मंत्रालय,
पेयजल और स्वच्छता मंत्रालय,
पंचायती राज मंत्रालय
भारत सरकार

वेबसाइट :


www.moud.gov.in
www.panchayat.gov.in
www.mdws.gov.in
www.youtube.com/inbministry, www.ddinews.gov.in

हमसे जुड़ें :


www.mygov.nic.in,

Facebook : https://www.facebook.com/SwachhBharatMissionGrameen

Disqus Comment