भक्तों को यमुना प्रदूषण मुक्ति की आस

Submitted by Hindi on Mon, 10/27/2014 - 09:47
Source
कल्पतरु समाचार, 27 अक्टूबर 2014
मानमंदिर और भाकियू के तत्वावधान में हुई विचार गोष्ठी, यमुना मुक्ति को मार्च 2015 में होगा वृहद आंदोलन

.वृंदावन। श्रीराधारानी वार्षिक ब्रजयात्रा में मान मंदिर सेवा संस्थान एवं भाकियू के संयुक्त तत्वावधान में यमुना मुक्तिकरण अभियान के तहत रविवार को आयोजित विचार गोष्ठी में गहवर वन बरसाना के संत रमेश बाबा ने देश-विदेश से आए भक्तों से यमुना मुक्ति अभियान को सफल बनाने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि यमुना हमारी मां के समान है। जब यमुना ही अवरिल और निर्मल नहीं होगी तब तक हमारा जीवन निर्थक है।

बल्लभ सम्प्रदायाचार्य पंकज बाबा ने कहा कि केंद्र और हरियाणा में आई नई सरकार से यमुना भक्तों को हथिनी कुंड से यमुना की मुक्ति की आस जागी है। उन्होंने कहा कि पूर्व सरकारों ने यमुना को मुक्त नहीं किया, इसलिए वह चली गईं। संत हरीबोल बाबा, भागवत प्रवक्ता संजीवकृष्ण ठाकुरजी, मुरलिका शर्मा, योगेश द्विवेदी, उदयन शर्मा और बिहारीलाल वशिष्ठ ने कहा कि यमुना को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए हमें वेद पुराण में बताए गए यमुना मैया के महात्म को समझना होगा। मंच से मार्च 2015 में बड़े आंदोलन की घोषणा की गई।

.गोपेश्वर नाथ चतुर्वेदी, भाकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष भानुप्रताप शर्मा, डा. पीपी शर्मा, पालिकाध्यक्ष मुकेश गौतम, साध्वी चित्रलेखा, अश्विनी, पंकज चतुर्वेदी, श्याम चतुर्वेदी और राघव भारद्वाज आदि ने विचार व्यक्त किए। संचालन संयोजक राधाकांत शास्त्री ने किया।

मान मंदिर सेवा संस्थान और भाकियू के संयुक्त तत्वावधान में यमुना मुक्तिकरण अभियान के तहत विचार संगोष्ठी में मंचस्थ संत रमेश बाबा सहित अन्य संत व विद्वतजन साथ ही यमुना मुक्ति विचार संगोष्ठी में शामिल यमुना भक्त।

Disqus Comment