सेहत के मामले में हैरान करने वाला पानी का जादू

Submitted by Hindi on Sat, 07/23/2016 - 11:31
Source
दैनिक भास्कर, 26 जून, 2016

पानी की जादुई खूबियों को ज्यादातर लोग नहीं जानते। मसलन लोगों को नहीं पता कि 80 फीसदी से ज्यादा शारीरिक बीमारियों की वजह शरीर में पानी की कमी होती है…

पानी को अमृत कहा जाता है। अगर वाकई पानी की तमाम खूबियों को गहराई से जानें तो पता चलता है कि यह कोई मुहावरा नहीं, बल्कि सचमुच पानी का गुण है। पानी हमें जीवन देता है। पानी हमें सेहत भी देता है, लेकिन आमतौर पर हम पानी के इस जादू से अनभिज्ञ रहते हैं क्योंकि हम अक्सर दो ही वक्त पानी पीते हैं। एक खाना खाते हुए और दूसरे जब प्यास का एहसास होता है। जो लोग पानी की खूबियों को जानते हैं वो कहते हैं कि इन कुदरती जरूरतों से इतर भी पानी पीने का फायदा है। मगर आम आदमी इस तथ्य से अंजान हैं।

वास्तव में पानी की जादुई खूबियों को ज्यादातर लोग नहीं जानते। मसलन लोगों को नहीं पता कि 80 फीसदी से ज्यादा शारीरिक बीमारियों की वजह शरीर में पानी की कमी होती है। जी, हाँ! इस सम्बन्ध में न जानें कितने शोध हो चुके हैं और ये सबके सब पानी की खूबियों के हैरान कर देने वाले ब्यौरे सामने लाते हैं। चिकित्सा विज्ञान ने पाया है कि अगर शरीर में पानी की कमी हो तो न सिर्फ विभिन्न किस्म के रोग जन्म लेने लगते हैं, बल्कि तमाम मामूली रोग भी जानलेवा बनने की दिशा में आगे बढ़ते हैं। यही वजह है कि लगभग हर डॉक्टर आँख मूँदकर ज्यादातर मरीजों को ज्यादा से ज्यादा और बार-बार पानी पीने के लिये कहता है ताकि शरीर में पानी की कमी न हो।

वास्तव में पानी शरीर के जहरीले तत्वों को शरीर से बाहर निकालने का काम करता है। यह शरीर के तापमान को नियंत्रित करने का भी काम करता है। अगर नियमित रूप से आप खूब पानी पीते हैं तो यह खून को पतला करता है। शरीर में पानी की पर्याप्त मात्रा का होना पाचन क्रिया व खून बनने में मदद करता है। कई लोगों को लगता है कि गर्मियों में तो पानी शरीर के लिये उपयोगी है, लेकिन सर्दियों में नहीं। ऐसा कतई नहीं है। शरीर में पानी की पर्याप्त मात्रा का होना हमेशा ही शरीर के तमाम मौसमी रोगों से बचाव का बढ़िया तरीका है। यह न सिर्फ कई किस्म की शारीरिक परेशानियों से बचाता है, बल्कि मौसम के अनुकूल ढलने में भी मदद करता है।

पानी के एक नहीं बहुत फायदे हैं। अगर शरीर में पर्याप्त पानी है तो यह शरीर के अन्दर मौजूद गैर जरूरी सोडियम की मात्रा को कम करने का काम करता है। शरीर की तमाम दिक्कतों की वजह शरीर में तरल पदार्थों का एकत्रीकरण होता है। लगातार खूब पानी पीने से शरीर में तरल पदार्थों के अवरोधन से जुड़ी दिक्कतें दूर हो जाती हैं। पानी मांसपेशियों की सही टोनिंग को कायम रखने में मदद करता है। अगर शरीर में पानी की मात्रा पर्याप्त है तो शरीर में मौजूद वसा जल्दी पचेगी और इस तरह वजन कंट्रोल करने में सहायता मिलती है।

पानी की नियंत्रित मात्रा से धमनियों व शिराओं में खून का बहाव सही ढंग से होता है। इस प्रक्रिया से खून का आयतन सामान्य हो जाता है और इस तरह अक्सर होने वाली थकावट नहीं होती। पानी से पेट की जलन और गैस की तकलीफ दूर होती है। दरअसल पानी हमारे खून का तीन चौथाई से ज्यादा हिस्सा ही नहीं, बल्कि हमारे मस्तिष्क का तीन चौथाई हिस्सा भी पानी ही है।

डिहाइड्रेशन की वजह से शरीर में सोडियम व पौटैशियम का संतुलन गड़बड़ा जाता है, जिससे शरीर के दूसरे अंगों पर दबाव पड़ता है। इनसे बचने का उपाय हैं ज्यादा से ज्यादा पानी है। इससे एकाग्रता भी बढ़ती है। यह विचार भ्रामक है कि ज्यादा पानी पीने से सर्दी-जुकाम होता है।

Disqus Comment

More From Author

Related Articles (Topic wise)

Related Articles (District wise)

About the author

नया ताजा