इस महीने भी देश भर में जमकर बरसेंगे बदरा

Submitted by Hindi on Tue, 08/02/2016 - 14:30
Printer Friendly, PDF & Email
Source
जनसत्ता, 2 अगस्त, 2016

दिल्ली में पिछले महीने सामान्य से 40 फीसद ज्यादा हुई बारिश

.नई दिल्ली, 1 अगस्त। राजधानी दिल्ली में मानसून देर से आया लेकिन दुरुस्त आया। मानसून की मेहरबानी के कारण दिल्ली में जुलाई अच्छी बारिश (सामान्य से करीब 40 फीसद ज्यादा) के साथ विदा हो गया। अब अगस्त की बारी है। मौसम विभाग के मुताबिक अगस्त के शुरुआती तीन-चार दिन में हल्की बारिश की ही उम्मीद है। झमाझम बारिश के लिये छह तारीख तक का इंतजार करना होगा। वहीं पूरे देश में मानसून के शेष दो महीने यानी अगस्त और सितम्बर सामान्य से अधिक बारिश की सौगात लाएंगे। मौसम विभाग की ओर से जारी ताजा पूर्वानुमान के मुताबिक इन दो महीनों में करीब 107 फीसद बारिश की संभावना है। अकेले अगस्त में 104 फीसद बारिश का पूर्वानुमान है।

कई सालों बाद राष्ट्रीय राजधानी में जुलाई में अच्छी बारिश दर्ज की गई। मौसम विभाग के मुताबिक 1 जुलाई से 31 जुलाई तक 292.5 मिमी बारिश दर्ज की गई, जोकि सामान्य से करीब 40 फीसद अधिक है। दिल्ली के लिये जुलाई की औसत सामान्य बारिश 210.6 मिमी रहा है। मानसूनी बारिश का यह आलम रहा कि बीते कई सालों बाद राष्ट्रीय राजधानी में एक दिन की बारिश तीन अंकों में दर्ज की गई। निजी मौसम एजेंसी स्काईमेट के मुताबिक 29 जुलाई की सुबह 08.30 बजे से 30 जुलाई की सुबह 08.30 तक 24 घंटों में 144 मिमी बारिश दर्ज की गई। यह बीते 10 सालों में किसी एक दिन में दर्ज सबसे अधिक बारिश है। बारिश के इस सुहावने मौसम का लोगों ने आनंद तो लिया लेकिन घंटों ट्रैफिक जाम में फंसे और जलजमाव का सामना किया।

मानसून के लिहाज जुलाई और अगस्त को सबसे महत्त्वपूर्ण माना जाता है। जुलाई के बाद अगस्त का स्वागत भी मानसून की बौछारों के बीच हुआ। लेकिन उतनी तेजी नहीं रही। एक अगस्त को सुबह 08.30 बजे से शाम 5.30 बजे तक छिटपुट बारिश दर्ज की गई। लेकिन शाम को कई इलाकों में मध्यम बारिश (14.1 मिमी) दर्ज हुई। सफदरजंग मौसम केन्द्र में 0.7 मिमी बारिश दर्ज की गई, लोधी रोड में 0.1 मिमी और आयानगर में 3.6 मिमी बारिश दर्ज की गई। भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक 6 अगस्त से फिर थोड़ी अच्छी बारिश की संभावना है।

स्काईमेट के महेश पलावत के मुताबिक ‘अगले 3-4 दिन बारिश के आसार कम हैं। लेकिन सप्ताहांत से अच्छी बारिश के आसार हैं।’ हालाँकि, मौसम विभाग के मुताबिक मानसून के शेष दो महीनों में 107 फीसद बारिश की संभावना है। मौसम विभाग में वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉक्टर डीएस पई ने कहा, ‘दक्षिण-पश्चिम मानसून सीजन के दूसरे हिस्से (अगस्त और सितम्बर) के दौरान देश में बारिश सामान्य से अधिक रहने की संभावना है।’ जबकि केवल अगस्त में 104 फीसद बारिश के आसार हैं।वहीं देश भर में अभी तक का मानसून का प्रदर्शन सामान्य से अधिक रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक एक जून से एक अगस्त तक पूरे देश में 468.8 मिमी बारिश दर्ज की गई। यह सामान्य 462.1 मिमी की बारिश से एक फीसद ज्यादा है। वहीं दिल्ली में इस अवधि के दौरान 327.7 मिमी बारिश दर्ज हुई, जो सामान्य से 14 फीसद ज्यादा है। इस अवधि के दौरान दिल्ली की औसत सामान्य बारिश 288.3 मिमी मानी जाती है। लेकिन इस सामान्य से अधिक प्रदर्शन के बावजूद देश के कई हिस्सों में बारिश की कमी रही। करीब 10 राज्य और केन्द्र शासित प्रदेशों में बारिश में कमी दर्ज की गई। मौसम विभाग के मुताबिक, सौराष्ट्र और कच्छ में बारिश की कमी 49 फीसद पहुँच गई, जबकि गुजरात में 39 फीसद, हिमाचल प्रदेश में 27 फीसद, असम और मेघालय में 26 फीसद, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा और केरल में 25 फीसद व ओडीशा में 20 फीसद कम बारिश हुई। वहीं दूसरी ओर, लगातार दो बार सूखे का सामना करने वाले विदर्भ और मराठवाड़ा जैसे क्षेत्रों में अभी तक सामान्य बारिश हुई है।

More From Author

Related Articles (Topic wise)

Related Articles (District wise)

About the author

नया ताजा