कैम्पिसाबालोस : शुद्ध हवा वाला गाँव

Submitted by Hindi on Sun, 06/25/2017 - 16:54
Printer Friendly, PDF & Email
Source
नवोदय टाइम्स, 25 जून 2017

स्पेन की राजधानी मैड्रिड के उत्तर में बसे छोटे से गाँव कैम्पिसाबालोस में हवा बेहद स्वच्छ है। हाल ही में इसे विश्व में स्वच्छ हवा वाले स्थलों की सूची में तीसरा स्थान मिला है। यह नई उपलब्धि अब तक अंजान से रहे इस गाँव की ओर पर्यटकों को भी बड़ी संख्या में आकर्षित करने लगी है। कैम्पिसाबालोस एक छोटा सा निराला गाँव है जो मैड्रिड से 2 घंटे के सफर की दूरी पर स्थित है। इस वर्ष तक अधिकतर लोगों ने शायद ही इसके बारे में सुना हो परंतु यह सब बदल गया जब विश्व स्वास्थ्य संगठन ने गाँव को विश्व में बेहतरीन हवा वाली नगरपालिकाओं की सूची में तीसरा स्थान प्रदान किया।

गाँव के मेयर पैड्रो जोस मारिया दे पाब्लो मजाकिया लहजे में कहते हैं, ‘कभी-कभी तो मुझे लगता है कि अपने गाँव में ली जाने वाली हर सांस के लिये हमें कुछ सेंट्स की फीस वसूल करनी चाहिये।’

गाँव में केवल 70 लोग रहते हैं और सर्दियाँ बढ़ने पर यह संख्या कम होकर 30 रह जाती है।

गाँव का अत्यधिक कम जनसंख्या घनत्व भी शायद इसकी अत्यधिक स्वच्छ हवा का एक कारण हो। यहाँ प्रति वर्ग किमी में महज 1.3 व्यक्ति रहते हैं। वैसे इसका समुद्र तल से 1300 मीटर की ऊँचाई पर होना भी यहाँ स्वच्छ हवा का एक प्रमुख कारण हो सकता है।

आर्कटक सर्कल के ऊपर स्थित फिनलैंड के एक गाँव ‘म्यूओनिया’ तथा कनाडाई कस्बे ‘नोर्मन वैल्स’ की हवा को कैम्पिसाबालोस की हवा से बेहतर माना गया है।

इस सूची के लिये विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दुनिया के 67 देशों की लगभग 800 नगरपालिकाओं के आँकड़े जमा किये। हवा की गुणवत्ता मापने के लिये उसमें मौजूद सूक्ष्म कणों पर गौर किया जाता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन दो तरह के कणों ‘पी.एम.10’ तथा ‘पी.एम.2.5’ को मापता है। इन कणों में सल्फेट्स तथा नाइट्रेट्स होते हैं जो इंसानों के फेफड़ों तथा हृदयवाहिनियों में गहराई तक प्रवेश कर सकते हैं और गंभीर रोगों का कारण बन सकते हैं।

उस हवा को सुरक्षित माना जाता है जिसमें ‘पी.एम.10’ का स्तर 20 माइक्रोग्राम्स प्रति वर्ग मीटर और ‘पी.एम. 2.5’ का स्तर 10 माइक्रोग्राम्स से कम हो। कैम्पिसाबालोस में इनका स्तर बेहद कम पाया गया। यहाँ पी.एम. 10 का स्तर 6 माइक्रोग्राम्स तथा पी.एम. 2.5 का स्तर 5 माइक्रोग्राम्स था।

गाँव की ओर अधिकतर हवाएँ उत्तर-पश्चिम से आती हैं जहाँ न तो बड़ी फैक्ट्रियाँ हैं और न ही महानगर। ये हवाएँ गाँव तक पहुँचने से पहले अधिक दूषित नहीं हो पाती हैं।

बेहद छोटा होने की वजह से गाँव में न तो सुपरमार्केट है तथा न ही दुकानें। आस-पास के बड़े गाँवों से विक्रेता वैनों में सामान भरकर यहाँ बेचने आते हैं।

गाँव में हवा की उच्च गुणवत्ता ने अब दुनिया भर से पर्यटकों को इसकी ओर आकर्षित करना शुरू कर दिया है। हवा की उत्तम गुणवत्ता के बारे में घोषणा होने के बाद दुनिया भर के मीडिया में इस गाँव का प्रचार हो चुका है।

स्थानीय इतिहास तथा पुरात्तव से संबंधित कलाकृतियों से सजे एक बार में बैठा गाँव का एक निवासी एंटोनियो कहता है कि अब उनके गाँव की शुद्ध हवा में सांस लेने के लिये ही यहाँ लोग आने लगे हैं। हाल ही में उनकी मुलाकात एक युवा जोड़े से हुई जो उनके गाँव में शुद्ध हवा का आनन्द लेने के मकसद से ही बड़ी दूर से वहाँ पहुँचे थे।

गाँव के मेयर कहते हैं कि यहाँ की तुलना में मैड्रिड बुरी तरह से प्रदूषण की चपेट में है। जब मैड्रिड में लोग गर्मी से परेशान होते हैं तो भी रात के वक्त इस गाँव में लोगों को हल्का कंबल लेना पड़ता है।

गाँव में प्राचीन स्थापत्यकला के कुछ नमूने भी मौजूद हैं जैसे कि यहाँ का गिरजाघर। इसमें एक विशिष्ट शैली का वास्तुशिल्प देखते ही बनता है।

गर्मियों में गाँव में प्रदूषण रहित हवाएँ चलती हैं जो मौसम को खुशनुमा बनाए रखती हैं। नियमित हवाओं की वजह से गाँव में एक पवनचक्की फार्म भी बना हुआ है जिससे इसे कुछ आय भी होती है। हालाँकि सर्दियों में यहाँ ज्यादा ठंड का सामना करना पड़ता है जो अधिकतर लोगों के लिये कठिन होता है। वैसे गाँववासियों के शरीर मजबूत हैं। वे शारीरिक मेहनत वाले काम करते हैं और मितव्ययी हैं। वे लंबे जीवन का आनंद लेते हैं। मेयर की माँ भी 102 वर्ष की हो चुकी हैं। कुछ लोग गाँव की शुद्ध हवा को भी यहाँ के लोगों की लंबी उम्र का राज मानते हैं। गाँव में कोई डॉक्टर भी नहीं है। सप्ताह में एक बार करीब के कस्बे से एक डॉक्टर यहाँ अवश्य आता है।

More From Author

Related Articles (Topic wise)

Related Articles (District wise)

About the author

नया ताजा