अल्मोड़ा के कई ग्रामीण इलाकों में पानी के लिए हाहाकार

Submitted by UrbanWater on Tue, 05/14/2019 - 17:27
Printer Friendly, PDF & Email
Source
हिंदुस्तान, हल्द्वानी 14 मई 2019

गर्मी का मौसम शुरू होते ही नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल किल्लत बढ़ने लगी है। नगर क्षेत्र के कई स्थानों पर समय से पेयजल आपूर्ति नहीं हो रही है। जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल आपूर्ति नहीं होने से टैंकर से आपूर्ति करनी पड़ रही है। इस कारण लोगों को पेयजल किल्लत से जूझना पड़ रहा है।

ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल किल्लत के चलते सोमवार को जल संस्थान की ओर से गधोली, डीनापानी, लोधिया आदि क्षेत्र में टैंकर से पानी वितरित किया। इस कारण पेयजल किल्लत से जूझ रहे ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों ने राहत की सांस ली। ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों ने पेयजल लाइन से आपूर्ति ठीक करने की मांग की।

ग्रामीण क्षेत्रों में मीलों दूर से पानी ढो रहे लोग

इधर नगर के कई स्थानों पर भी सुबह समय से पेयजल आपूर्ति नहीं होने से लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। सुबह लोगों के काम पर निकलने के बाद पेयजल आपूर्ति की जा रही है। इस कारण नौकरीपेशा लोग पानी भरने से वंचित रह जा रहे हैं।

वहीं, दन्या के धौलादेवी ब्लाक के रूवाल गांव में पेयजल आपूर्ति नहीं होने से लोगों की दिक्कत बढ़ गई है। गांव के लिए दो पेयजल लाइन होने के बाद भी पेयजल आपूर्ति नहीं हो रही है। इससे ग्रामीणों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

नहीं मिले हैं लोगों को कनेक्शन

करीब 50 साल पुरानी इस पेयजल लाइन को सात पहले स्वजल के तहत रिपेयर किया गया था। पेयजल पेयजल योजना से गांव में एक टैंक बनाया गया है। इस टैंक से गांव के लगभग 20 परिवारों को पानी की आपूर्ति की जाती है। ग्रामीणों का कहना है कि बाजार क्षेत्रों में मकान के दौरान निकलने वाली मिट्टी और मलबे को सड़क किनारे फेंका जा रहा है। जो बारिश में बहकर पेयजल स्रोत के स्रोत पहुंच रहा है। इस कारण पानी का स्रोत बंद हो गया है। ग्रामीण उमेश पांडे ने कहा कि सरयू पेयजल योजना की लाइन गांव में बिछा दी गई है। लेकिन अब तक लाइन में पानी नहीं आया है। ना ही लोगों को कनेक्शन ही मिले हैं।

Related Articles (Topic wise)

Related Articles (District wise)

About the author

नया ताजा