'जल' प्रकृति की अनमोल धरोहर

Submitted by HindiWater on Thu, 10/10/2019 - 13:19

जल प्रकृति की अनमोल धरोहर है। बिना पानी के जीवन सम्भव नहीं है। पीने के लिए शुद्धजल हमारे लिए जरूरी है। क्योंकि स्वच्छ एवं सुरक्षित जल अच्छे स्वास्थ्य की कुँजी है। धरती के दो तिहाई हिस्से पर पानी भरा हुआ है। फिर भी पीने योग्य शुद्ध जल पृथ्वी पर उपलब्ध जल का मात्र एक प्रतिशत हिस्सा ही है। 97 प्रतिशत जल महासागर में खारे पानी के रूप में भरा हुआ है। शेष रहा दो प्रतिशत जल बर्फ के रूप में जमा है। आज समय है कि हम पानी की कीमत समझे। यदि जल व्यर्थ बहेगा तो आगे वाले समय में पानी की कमी एक महासंकट बन जाएगा।

आज कई जगहों पर लोगों को एक-एक घड़े शुद्ध पेयजल के लिए मीलों भटकना पड़ रहा है। जल के टैंकर और ट्रेन से जल प्राप्त करने के लिए घंटों कतार में खड़ा रहना पड़ता है। रोजमर्रा के कामकाज नहाने, कपड़े धोने, खाना बनाने, बर्तन साफ करने, उद्योग चलाने के लिए तो जल चाहिए वह कहाँ से लाए जबकि नदी, तालाब, ट्यूबवैल, हैण्डपम्प एवं कुएँ बावडियाँ सूख गए हैं। पशु-पक्षियों को भी पानी के लिए मीलों भटकना पड़ता है। पेड़-पौधे भी सूखते जा रहे हैं। जल की कमी से अनेक कारखाने बंद होने से लोग बेरोजगार होते जा रहे हैं। खेती-बाड़ी चौपट होती जा रही है। जल संकट हमारे पूरे दैनिक जीवन को बुरी तरह से प्रभावित करता है। इसलिए इस मसले पर प्राथमिकता से ध्यान दिए जाने की जरूरत है।

जल संकट तो हमारी भूलों और लापरवाहियों से ही उपजा है। हम अनावश्यक रूप से तथा अधिक मात्रा में जल का दोहन कर रहे हैं। दैनिक उपयोग में आवश्यकता से अधिक मात्रा में जल का अपव्यय करने की आदत ने जल संकट बढ़ा दिया है। बढ़ती जनसंख्या के कारण भी जल का उपभोग बढ़ता जा रहा है। खेती एवं उद्योगों में अधिक उत्पाद लेने की खातिर जल का उपभोग बढ़ा दिया है। जल स्रोतों से जल के उपभोक्ता तक पहुँच से पहले ही पाँचवा हिस्सा गटर में चला जाता है। वृक्षों की अंधाधुंध कटाई व वनों के लगातार घटने से वर्षा होने की अवधि व साथ ही वर्षा की मात्रा में भी कमी आ रही है। कुओं, नलकूपों, तालाबों से अन्धाधुन्ध जल दोहन के कारण भूजल में कमी आ गई है। धरती में जल स्तर निरन्तर नीचे जा रहा है। कल-कारखानों से निकले दूषित जल व शहरी क्षेत्रों के गटर एवं कूड़े-कचरे ने जलस्रोतों को प्रदूषित कर दिया है जिससे पीने के पानी का संकट खड़ा हो गया है। यह सब कुछ अनियन्त्रित मानवीय गतिविधियों के कारण ही हुआ है। इसका निराकरण भी मानव ही कर सकता है। आओ आज हम जल शक्ति अभियान से जुड़ संकल्प ले कि जल बर्बादी रोककर जल संरक्षण करेंगे।

 

TAGS

Prime Minister NarendraModi, water crisis article, water crisis in india, effects of water scarcity, water crisis meaning in hindi, what are the main causes of water scarcity, what is water scarcity in english, scarcity of water in hindi, water scarcity solutions, water crisis in india, water crisis essay, water crisis in chennai, water crisis in india essay, water crisis poster, water crisis in hindi, water crisis in india in hindi, water crisis in india pdf, water crisis in india facts, water scarcity in india statistics, water scarcity in india 2019, water scarcity states in india, water crisis in chennai, what are the main causes of water scarcity, water crisis meaning in hindi, effects of water scarcity, water crisis in india upsc, water crisis in india essay, water crisis in india pdf, water crisis in india ppt, water crisis in india solution, water crisis in india in hindi, water crisis in india article, water crisis in india wikipedia, water crisis in india 2019, water crisis in india statistics, what are the main causes of water scarcity, effects of water scarcity, causes of water scarcity in india, what is water scarcity in english, water scarcity solutions, water crisis meaning in hindi, water scarcity essay writing, water crisis in india facts, water crisis in world facts, water crisis in world 2019, water crisis in world cities, water crisis in world ppt, water crisis in world essay, water crisis in world map, water crisis in world in hindi, water crisis in world news, water crisis in world, water crisis world country, water pollution effects, what are the causes of water pollution, types of water pollution, water pollution project, water pollution essay, water pollution causes and effects, 8 effects of water pollution, control of water pollution, water pollution essay, water pollution chart, water pollution images, water pollution drawing, water pollution causes, water pollution in hindi, water pollution pictures, water pollution definition, water pollution diagram, causes of waterborne diseases, water borne diseases symptoms, waterborne disease list, waterborne disease in english, waterborne disease name, waterborne disease in hindi, diseases caused by water pollution in hindi, diseases caused by water pollution wikipedia, diseases caused by water pollution in india, diseases caused by water pollution pdf, diseases caused by water pollution wikipedia in hindi, diseases caused by water pollution images, diseases caused by water pollution in south africa, diseases caused by water pollution in pakistan, diseases caused by water pollution, diseases caused by water pollution list, jal shakti abhiyan in hindi, jal shakti abhiyan upsc, jal shakti abhiyan logo, jal shakti abhiyan par nibandh, jal shakti abhiyan poster, jal shakti abhiyan par slogan, jal shakti abhiyan portal, jal shakti abhiyan login, jal shakti abhiyan in uttarakhand, jal shakti abhiyan ranking, jal shakti mission upsc, jal shakti mission in hindi, jal shakti mission wikipedia, jal shakti mission essay in english, jal shakti abhiyan mission..

 

Disqus Comment