लेखक की और रचनाएं

Latest

ताजा पानी के मोती का उत्‍पादन

Source: 
इंडिया डेवलपमेंट गेटवे

मोती उत्‍पादन क्‍या है?


मोती एक प्राकृतिक रत्‍न है जो सीप से पैदा होता है। भारत समेत हर जगह हालांकि मोतियों की माँग बढ़ती जा रही है, लेकिन दोहन और प्रदूषण से इनकी संख्‍या घटती जा रही है। अपनी घरेलू माँग को पूरा करने के लिए भारत अंतराष्ट्रीय बाजार से हर साल मोतियों का बड़ी मात्रा में आयात करता है। सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ फ्रेश वॉटर एक्‍वाकल्‍चर, भुवनेश्‍वर ने ताजा पानी के सीप से ताजा पानी का मोती बनाने की तकनीक विकसित कर ली है जो देशभर में बड़ी मात्रा में पाये जाते हैं।

प्राकृतिक रूप से एक मोती का निर्माण तब होता है जब कोई बाहरी कण जैसे रेत, कीट आदि किसी सीप के भीतर प्रवेश कर जाते हैं और सीप उन्‍हें बाहर नहीं निकाल पाता, बजाय उसके ऊपर चमकदार परतें जमा होती जाती हैं। इसी आसान तरीके को मोती उत्‍पादन में इस्‍तेमाल किया जाता है।

है और यह कैल्शियम कार्बोनेट, जैपिक पदार्थों व पानी से बना होता है। बाजार में मिलने वाले मोती नकली, प्राकृतिक या फिर उपजाए हुए हो सकते हैं। नकली मोती, मोती नहीं होता बल्कि उसके जैसी एक करीबी चीज होती है जिसका आधार गोल होता है और बाहर मोती जैसी परत होती है। प्राकृतिक मोतियों का केंद्र बहुत सूक्ष्‍म होता है जबकि बाहरी सतह मोटी होती है। यह आकार में छोटा होता और इसकी आकृति बराबर नहीं होती। पैदा किया हुआ मोती भी प्राकृतिक मोती की ही तरह होता है, बस अंतर इतना होता है कि उसमें मानवीय प्रयास शामिल होता है जिसमें इच्छित आकार, आकृति और रंग का इस्‍तेमाल किया जाता है। भारत में आमतौर पर सीपों की तीन प्रजातियां पाई जाती हैं- लैमेलिडेन्‍स मार्जिनालिस, एल.कोरियानस और पैरेसिया कोरुगाटा जिनसे अच्‍छी गुणवत्‍ता वाले मोती पैदा किए जा सकते हैं।

उत्‍पादन का तरीका


इसमें छह प्रमुख चरण होते हैं- सीपों को इकट्ठा करना, इस्‍तेमाल से पहले उन्‍हें अनुकूल बनाना, सर्जरी, देखभाल, तालाब में उपजाना और मोतियों का उत्‍पादन।

i) सीपों को इकट्ठा करना


तालाब, नदी आदि से सीपों को इकट्ठा किया जाता है और पानी के बरतन या बाल्टियों में रखा जाता है। इसका आदर्श आकार 8 सेंटी मीटर से ज्‍यादा होता है।

ii) इस्‍तेमाल से पहले उन्‍हें अनुकूल बनाना


इन्‍हें इस्‍तेमाल से पहले दो-तीन दिनों तक पुराने पानी में रखा जाता है जिससे इसकी माँसपेशियाँ ढीली पड़ जाएं और सर्जरी में आसानी हो।

iii) सर्जरी


सर्जरी के स्‍थान के हिसाब से यह तीन तरह की होती है- सतह का केंद्र, सतह की कोशिका और प्रजनन अंगों की सर्जरी। इसमें इस्‍तेमाल में आनेवाली प्रमुख चीजों में बीड या न्‍यूक्लियाई होते हैं, जो सीप के खोल या अन्‍य कैल्शियम युक्‍त सामग्री से बनाए जाते हैं।

सतह के केंद्र की सर्जरी: इस प्रक्रिया में 4 से 6 मिली मीटर व्‍यास वाले डिजायनदार बीड जैसे गणेश, बुद्ध आदि के आकार वाले सीप के भीतर उसके दोनों खोलों को अलग कर डाला जाता है। इसमें सर्जिकल उपकरणों से सतह को अलग किया जाता है। कोशिश यह की जाती है कि डिजायन वाला हिस्‍सा सतह की ओर रहे। वहाँ रखने के बाद थोड़ी सी जगह छोड़कर सीप को बंद कर दिया जाता है।

सतह कोशिका की सर्जरी: यहाँ सीप को दो हिस्‍सों- दाता और प्राप्तकर्त्ता कौड़ी में बाँटा जाता है। इस प्रक्रिया के पहले कदम में उसके कलम (ढके कोशिका के छोटे-छोटे हिस्‍से) बनाने की तैयारी है। इसके लिए सीप के किनारों पर सतह की एक पट्टी बनाई जाती है जो दाता हिस्‍से की होती है। इसे 2/2 मिली मीटर के दो छोटे टुकड़ों में काटा जाता है जिसे प्राप्‍त करने वाले सीप के भीतर डिजायन डाले जाते हैं। यह दो किस्‍म का होता है- न्‍यूक्‍लीयस और बिना न्‍यूक्‍लीयस वाला। पहले में सिर्फ कटे हुए हिस्‍सों यानी ग्राफ्ट को डाला जाता है जबकि न्‍यूक्‍लीयस वाले में एक ग्राफ्ट हिस्‍सा और साथ ही दो मिली मीटर का एक छोटा न्‍यूक्‍लीयस भी डाला जाता है। इसमें ध्‍यान रखा जाता है कि कहीं ग्राफ्ट या न्‍यूक्‍लीयस बाहर न निकल आएँ।

प्रजनन अंगों की सर्जरी: इसमें भी कलम बनाने की उपर्युक्‍त प्रक्रिया अपनाई जाती है। सबसे पहले सीप के प्रजनन क्षेत्र के किनारे एक कट लगाया जाता है जिसके बाद एक कलम और 2-4 मिली मीटर का न्‍यूक्‍लीयस का इस तरह प्रवेश कराया जाता है कि न्‍यूक्‍लीयस और कलम दोनों आपस में जुड़े रह सकें। ध्‍यान रखा जाता है कि न्‍यूक्‍लीयस कलम के बाहरी हिस्‍से से स्‍पर्श करता रहे और सर्जरी के दौरान आँत को काटने की जरूरत न पड़े।

iv) देखभाल
इन सीपों को नायलॉन बैग में 10 दिनों तक एंटी-बायोटिक और प्राकृतिक चारे पर रखा जाता है। रोजाना इनका निरीक्षण किया जाता है और मृत सीपों और न्‍यूक्‍लीयस बाहर कर देने वाले सीपों को हटा लिया जाता है।

v) तालाब में पालन
देखभाल के चरण के बाद इन सीपों को तालाबों में डाल दिया जाता है। इसके लिए इन्‍हें नायलॉन बैगों में रखकर (दो सीप प्रति बैग) बाँस या पीवीसी की पाइप से लटका दिया जाता है और तालाब में एक मीटर की गहराई पर छोड़ दिया जाता है। इनका पालन प्रति हेक्‍टेयर 20 हजार से 30 हजार सीप के मुताबिक किया जाता है। उत्‍पादकता बढ़ाने के लिए तालाबों में जैविक और अजैविक खाद डाली जाती है। समय-समय पर सीपों का निरीक्षण किया जाता है और मृत सीपों को अलग कर लिया जाता है। 12 से 18 माह की अवधि में इन बैगों को साफ करने की जरूरत पड़ती है।

vi) मोती का उत्‍पादन


पालन अवधि खत्‍म हो जाने के बाद सीपों को निकाल लिया जाता है। कोशिका या प्रजनन अंग से मोती निकाले जा सकते हैं, लेकिन यदि सतह वाला सर्जरी का तरीका अपनाया गया हो, तो सीपों को मारना पड़ता है। विभिन्‍न विधियों से प्राप्‍त मोती खोल से जुड़े होते हैं और आधे होते हैं; कोशिका वाली विधि में ये जुड़े नहीं होते और गोल होते हैं तथा आखिरी विधि से प्राप्‍त सीप काफी बड़े आकार के होते हैं।

ताजा पानी में मोती उत्‍पादन का खर्च


• ये सभी अनुमान सीआईएफए में प्राप्‍त प्रायोगिक परिणामों पर आधारित हैं।

• डिजायनदार या किसी आकृति वाला मोती अब बहुत पुराना हो चुका है, हालांकि सीआईएफए में पैदा किए जाने वाले डिजायनदार मोतियों का पर्याप्‍त बाजार मूल्‍य है क्‍योंकि घरेलू बाजार में बड़े पैमाने पर चीन से अर्द्ध-प्रसंस्‍कृत मोती का आयात किया जाता है। इस गणना में परामर्श और विपणन जैसे खर्चे नहीं जोड़े जाते।

• कामकाजी विवरण

• 1. क्षेत्र 0.4 हेक्‍टेयर

• 2. उत्‍पाद डिजायनदार मोती

• 3. भंडारण की क्षमता 25 हजार सीप प्रति 0.4 हेक्‍टेयर

4. पैदावार अवधि डेढ़ साल

क्रम संख्‍या

सामग्री

राशि(लाख रुपये में)

I.

व्यय

क.

स्थायी पूँजी

1.

परिचालन छप्पर (12 मीटर 5 मीटर)

1.00

2.

सीपों के टैंक (20 फेरो सीमेंट/एफआरपी टैंक 200 लीटर की क्षमता वाले प्रति डेढ़ हजार रुपये)

0.30

3.

उत्पादन इकाई (पीवीसी पाइप और फ्लोट)

1.50

4.

सर्जिकल सेट्स (प्रति सेट 5000 रुपये के हिसाब से 4 सेट)

0.20

5.

सर्जिकल सुविधाओं के लिए फर्निचर (4 सेट)

0.10

कुल योग

3.10

ख.

परिचालन लागत

1.

तालाब को पट्टे पर लेने का मूल्य (डेढ़ साल के लिए)

0.15

2.

सीप (25,000 प्रति 50 पैसे के हिसाब से)

0.125

3.

डिजायनदार मोती का खाँचा (50,000 प्रति 4 रुपये के हिसाब से)

2.00

4.

कुशल मजदूर (3 महीने के लिए तीन व्यक्ति 6000 प्रति व्यक्ति के हिसाब से

1.08

5.

मजदूर (डेढ़ साल के लिए प्रबंधन और देखभाल के लिए दो व्यक्ति प्रति व्यक्ति 3000 रुपये प्रति महीने के हिसाब से

1.08

6.

उर्वरक, चूना और अन्य विविध लागत

0.30

7.

मोतियों का फसलोपरांत प्रसंस्करण (प्रति मोती 5 रुपये के हिसाब से 9000 रुपये)

0.45

कुल योग

4.645

ग.

कुल लागत

1.

कुल परिवर्तनीय लागत

4.645

2.

परिवर्तनीय लागत पर छह महीने के लिए 15 फीसदी के हिसाब से ब्याज

0.348

3.

स्थायी पूँजी पर गिरावट लागत (प्रतिवर्ष 10 फीसदी के हिसाब से डेढ़ वर्ष के लिए)

0.465

4.

स्थायी पूँजी पर ब्याज (प्रतिवर्ष 15 फीसदी के हिसाब से डेढ़ वर्ष के लिए

0.465

कुल योग

5.923

II.

कुल आय

1.

मोतियों की बिक्री पर रिटर्न (15,000 सीपों से निकले 30,000 मोती यह मानते हुए कि उनमें से 60 फीसदी बचे रहेंगे)

डिजायन मोती (ग्रेड ए) (कुल का 10 फीसदी) प्रति मोती 150 रुपये के हिसाब से 3000

4.50

डिजायन मोती (ग्रेड बी) (कुल का 20 फीसदी) प्रति मोती 60 रुपये के हिसाब से 6000

3.60

कुल रिटर्न

8.10

III.

शुद्ध आय (कुल आय-कुल लागत)

2.177



स्रोत: सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ फ्रेशवॉटर एक्‍वाकल्‍चर, भुवनेश्‍वर, उड़ीसा

Moti palan

सोच बदलो देश बदलेगा एक बार जरूर पड़े ..

प्रिय मित्रो हम सभी खुश नसीब है की पृथ्वी ही एक मात्र ऐसा गृह है जिस पर जीवन संभव है जिसका एक मात्रा कारन हवा और पानी है . जिनके बिना जीवन संभव नहीं है ..और जिस रफ़्तार से हम प्रगति कर रहे है ..हवा और पानी नस्ट होते जा रहे है ..हम सबको मिलकर कुछ करना होगा ..कृपया कुछ करे

#पेड़ बचाएं..पेड़ लगाए ..
पानी का दुरूपयोग न करे ..

# घर में rain water
harvesting
लगाए

# परिवार के सदस्य के जन्म दिन पर एक पेड़ जरूर लगाए

#खेत , जंगल में कोई आग लगाए तो विरोध करे

#नल खुला हो और पानी बर्वाद हो रहा हो तो नल बंद करे

#गाड़ी की प्रदूषण जाँच कराये
बिजली का दुरूपयोग न करे

#घर बनाते समय कुछ जमीन पर पेड़ जरूर लगाए

आप सभी से हाँथ जोड़कर प्रार्थना है
Hwa हवा और पानी जो की प्राकृतिक है किन्तु धीरे धीरे नस्ट नस्ट होते जा रहे है ..कृपया आने वाली पीढ़ी को साफ स्वच्छ वातावरण देने का संकल्प ले ..

मोती पालन +
मछली पालन + मोती निकलने के बाद बचे हुए शीप के खोल से
ज्वेलरी अवं हेंडीक्राफ्ट बनाना +
integrated farming +
multipurpose फार्मिंग
(इंडिया और दूसरे देश में केवल मोती पालन की ट्रेनिंग ही दी जाती है ..लेकिन Bamoriya Pearl Farm एक ऐसी संस्था है जो उपरोक्त सभी कोर्स केवल एक फीस में कराती है
मोती पालन के सांथ होने वाले 10-15 व्यवसायों की जानकारी भी मिलेगी ..

सभी का शुभ हो .
सब खुस रहे . ..
हसते रहे मुस्कुराते रहे ..
आपका शुभचिंतक ..अमित कुमार बमोरिया
9770085381
9407461361.
कृपया मेरी बात थोड़ी भी ठीक लगे please share करे

https://youtu.be/b3A0ZucpBY4

https://youtu.be/aJVjJl0Krao

Pearl farming ke fayde

सोच बदलो देश बदलेगा एक बार जरूर पड़े ..

प्रिय मित्रो हम सभी खुश नसीब है की पृथ्वी ही एक मात्र ऐसा गृह है जिस पर जीवन संभव है जिसका एक मात्रा कारन हवा और पानी है . जिनके बिना जीवन संभव नहीं है ..और जिस रफ़्तार से हम प्रगति कर रहे है ..हवा और पानी नस्ट होते जा रहे है ..हम सबको मिलकर कुछ करना होगा ..कृपया कुछ करे

#पेड़ बचाएं..पेड़ लगाए ..
पानी का दुरूपयोग न करे ..

# घर में rain water
harvesting
लगाए

# परिवार के सदस्य के जन्म दिन पर एक पेड़ जरूर लगाए

#खेत , जंगल में कोई आग लगाए तो विरोध करे

#नल खुला हो और पानी बर्वाद हो रहा हो तो नल बंद करे

#गाड़ी की प्रदूषण जाँच कराये
बिजली का दुरूपयोग न करे

#घर बनाते समय कुछ जमीन पर पेड़ जरूर लगाए

आप सभी से हाँथ जोड़कर प्रार्थना है
Hwa हवा और पानी जो की प्राकृतिक है किन्तु धीरे धीरे नस्ट नस्ट होते जा रहे है ..कृपया आने वाली पीढ़ी को साफ स्वच्छ वातावरण देने का संकल्प ले ..

मोती पालन +
मछली पालन + मोती निकलने के बाद बचे हुए शीप के खोल से
ज्वेलरी अवं हेंडीक्राफ्ट बनाना +
integrated farming +
multipurpose फार्मिंग
(इंडिया और दूसरे देश में केवल मोती पालन की ट्रेनिंग ही दी जाती है ..लेकिन Bamoriya Pearl Farm एक ऐसी संस्था है जो उपरोक्त सभी कोर्स केवल एक फीस में कराती है
मोती पालन के सांथ होने वाले 10-15 व्यवसायों की जानकारी भी मिलेगी ..

सभी का शुभ हो .
सब खुस रहे . ..
हसते रहे मुस्कुराते रहे ..
आपका शुभचिंतक ..अमित कुमार बमोरिया
9770085381
9407461361.
कृपया मेरी बात थोड़ी भी ठीक लगे please share करे

https://youtu.be/b3A0ZucpBY4

https://youtu.be/aJVjJl0Kra

Pearl Farming

आज कल पर्ल फारमींग ट्रेंनीग पुरे भारत मे चल रहे है . लेकीन कुछ ट्रेनिंग सेंटर ही सही और पूरी जानकारी देते है . जादातर ट्रेनिंग सेंटर आधी अधूरी जानकारी ही देते है . पूरी जानकारी उनके पास न ही होती है या रुपये के लालच मे नही देते .

मैने भी भवन भाई नागपुर महाराष्ट्र से ट्रेनिंग लीया . ये भवन भाई चलाते हे . ट्रेनिंग मे नीचे दिये हुयी जानकारी सही नही मिली .
_ सीप को फुड कैसे डालना है . फुड कैसे बनाना है .( पुरी जानकरी नही . )
_ सर्जरी ठीक से नही सीखायी.
_ सीप को survive जीवित कैसे रखें.
_ low mortality कैसे रखें.
_ नोटस् ठिक से नही मिली . low quality notes)
_ after training mobile phone नहीं उठाते
_ प्रशिक्षण मे पूरी तरह का knowledge नही दिया अगर मे पहले ही समझ जाता तो मेरा समय और पेसे दोनों ही बच जाते. मे बस येही कहना चाहता हु के जो भूल मेने करी वो आप ना करे.
Rating :- 1 star बेकार
poor communication and response

फिर मैने internet और कुछ मीत्रो से जानकारी हासील की और अलग अलग ट्रेनिंग सेंटर के बारे मे पता किया . उस जानकारी के आधार पर कुछ अच्छे सेंटर खोज निकाले है .
१ . Central insntitute of freshwater aquaculture Bhuvaneshwar
ये Government संस्था है .
ट्रेनिंग कवालीटी अच्छी है.
पुरी जानकारी देते है.
certificate मिलता है .
Care and follow-up नहीं करते.
Mobi . 916742465421 web. www.cifa.in
Rating: - 4 Star ,

२ . Indian Pearl Farm and Training institute Khurja
कवालीटी ट्रेनिंग- very good
certificate मिलता है
न्युकलीअस and Mussles भी सप्लाय करते है.
बाय बैक भी करते है.
Sale ki no tention
गुड मार्केट नॉलेज.
अनुभव प्राप्त.
Rating: - 5 Star
Mobi - 9540883888,9717443729,7310743426
गुड कॉन्टक अॅन्ड रीस्पॉन्स
Cares and follow up बहुत अच्छा

३. Indian Pearl culture Mumbai (ashok manwani)
09271282561, 09860661174
ट्रेनिंग की पुरी सुविधाये
जानकारी पुरी देते है
Rating: - 4.5 star
गुड कॉन्टक रीस्पॉन्स

५ . बामोरीया पर्ल फारम .
आप 'ट्रेनिंग के साथ ही Hill Station मे रह ना चाहते हे ओर .ट्रेनिंग भी अच्छा मीलता है . खाना रहना फिस मे सामील . All
Rating. 4 star

moti ki kheti ki Sahi jankari

moti ki kheti ki Sahi jankari ke liye contact karre ya fir hamari website par visit karre  http://wizard-pearl-farming-training.com Mobile Number 9466916266

Pearl farming

नमस्कार, किसान भाइयों, आप सभी को Ak pearl forming and training centre की तरफ से धनतेरस, दीपावली, भैयादूज की अग्रिम शुभकामनायें,
किसान भाइयों,अगर आप कम से कम लागत में ज्यादा लाभ कमाना चाहते हैं, तो मोती की खेती आपके लिए एक बेहतर विकल्‍प हो सकती है,हमारे यहां मोती की खेती की वैज्ञानिक विधि पर आधारित सम्पूर्ण प्रशिक्षण दिया जाता है, 1. किसानों को सीप उपलब्ध कराना,
२.तीनो प्रकार की सर्जरी, (मेंटल कैविटी, मेंटल टिशू, जननअंग) की जानकारी देना.
३.सरजरी का प्रेक्टिकल कराना,
४.सीप का भोजन व देखरेख करना,
५.पानी की मुफ्त में गुणवत्ता की जाचकरना,
६.सीप से मोती प्राप्त करना,
७.मोती बेचने में सहायता करना,
८.मरे हुए सीप के खोल से आकर्षक वस्तुएं बनाना,
९.मोती की खेती में प्रयोग होने वाले सभी उपकरण और सामान उपलब्ध कराना,
१०.पशिक्षण के दौरान रहना और खाने की व्यवस्था करना
सम्पर्क करें/ह्वाट्सअप करे9634141520
Calling no. 7355928634 . 7500038161

पर्ल फार्मिंग का सही मार्गदर्शन

India's first trusted Pearl Farming Training institute of private sector is Indian Pearl Farming Training institute WITH 4.4 Star rating.For more information please contact 9717443729.

pearl farming

आज कल पर्ल फारमींग (fresh water cultured pearl farming) के ट्रेंनीग पुरे भारत मे चल रहे है . लेकीन कुछ ट्रेनिंग सेंटर ही सही और पूरी जानकारी देते है . जादातर ट्रेनिंग सेंटर आधी अधूरी जानकारी ही देते है . पूरी जानकारी उनके पास न ही होती है या रुपये के लालच मे नही देते .
मैने भी महाराष्ट्र पर्ल फारमींग प्रॅक्टीस सेंटर श्रीरामपूर जिल्हा .अहमदनगर महाराष्ट्र से ट्रेनिंग लीया . ये सुमित कपूर चलाते हे . ट्रेनिंग मे मै एकलौता सहभागी (participent) था . नीचे दिये हुयी जानकारी सही नही मिली .
_ सीप को फुड कैसे डालना है . फुड कैसे बनाना है .( पुरी जानकरी नही . )
_ सर्जरी (surjery) ठीक से नही सीखायी.
_ नोटस् ठिक से नही मिली . (low quality notes)
जो भूल मेने करी वो आप ना करे. मै Maharashtra Pearl culture practice Center shrirampur Dist. Ahmadnagar मे गया पर प्रशिक्षण मे पूरी तरह का knowledge नही दिया अगर मे पहले ही समझ जाता तो मेरा समय और पेसे दोनों ही बच जाते. मे बस येही कहना चाहता हु के जो भूल मेने करी वो आप ना करे.
Rating :- 1 star बेकार इस से कम फिस मे Training वीथ खाना मीलता हे .
poor communication and response

फिर मैने internet और कुछ मीत्रो से जानकारी हासील की और अलग अलग ट्रेनिंग सेंटर के बारे मे पता किया . उस जानकारी के आधार पर कुछ अच्छे सेंटर खोज निकाले है .
१ . Central insntitute of freshwater aquaculture Bhuvaneshwar
ये Government संस्था है .
ट्रेनिंग कवालीटी अच्छी है.
पुरी जानकारी देते है.
certificate मिलता है .
फुड और रहना भी फिस मे सामील .
Mobi . 916742465421 web. www.cifa.in
Rating: - 4.5 Star ,

२ . मथाचान केरला
कवालीटी ट्रेनिंग.
न्युकलीअस सप्लाय करते है. ( diff type of nucleus not other in india)
बाय बैक भी करते है.
गुड मार्केट नॉलेज.
अनुभव प्राप्त.
International market avilable.
Rating: - 5 Star
Mobi - 9446089736 , 9495904624
गुड कॉन्टक अॅन्ड रीस्पॉन्स

३. Indian Pearl farming Thane Mumbai (ashok manwani)
09271282561, 09860661174
अनुभवी 'सबसे पुराणा ट्रेनिंग सेंटर
ट्रेनिंग की पुरी सुविधाये
जानकारी पुरी देते है
National Award winer Center.
Rating: - 4.5 star
गुड कॉन्टक रीस्पॉन्स

४. तीशा Tishya Aquaculture.
पूरी जानकारी नोट्स के साथ मिलती है.
Mobi:- 9777135117

Rating: - 5 star .
गुड कॉन्टक रीस्पॉन्स
५ . बामोरीया पर्ल फारम .
आप 'ट्रेनिंग के साथ ही Hill Station मे रह ना चाहते हे ओर .ट्रेनिंग भी अच्छा मीलता है . खाना रहना फिस मे सामील .
पर्ल फर्मिंग की ट्रेनिंग के लिए इंडीयन पर्ल फार्म एंड ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट ही क्यों आते है लोग !
क्योंकि -
- हमे लोगो के बहुमूल्य समय की पहचान है .
- हमारा उद्देश्य लोगो तक सही और संपूर्ण जानकारी पहुचाना है
- हम एक साल तक बराबर ट्रेनी का ख्याल रखते हैं
- हम समय समय पर होने वाली नयी नयी जानकारियो से अवगत करते रहते हैं
- हमारे यहाँ ट्रेनिंग में निम्नलिखित जानकारीया दी जाती है -
1- Modern Pearl Farming Training.
2- Integrated and complete pearl farming training.
3- Pearl Farming training kit.
4 - Pearl Farming Book.
5 - How to make Tools & Pearl Nuclius(Miti Beej) at home
6- How to make Surgery Tools at home
7- How to make Mussels (Seep) packing net at home
8- Certificate of Training
9- Optimum use of pond
10- Optimum use of pond side land.
11- High Value Fish Farming in the same pond.
12 - High return Use of dead shells of seeps.
13 - Marketing Tricks
14 - Pearl farming with the current job/businesses

all Facility and Detail are providing in training

For more details and appointment please call or WhatsApp us on
Mobi:- 7310743426
9717443729
9540883887
Mail us - ipearlfarmingtinstitute@gmail.com
Follow us on Face book http://facebook.com/indianpearlfarmingtraininginstitute
+919770085381
Rating: - 4.5 star
गुड कॉन्टक

६ . गटाडे पर्ल गडचिरोली .
गुड ट्रेनिंग
Mobile - 9527701124
Rating :- 4 star
गुड कॉन्टक
७ A P. Singh.
Pearl farming + Fish Farming+Quail farming+Duck farming training program at Mumbai on 31 March-1 April so confirm us for joining
What we are offering in training-
1-Designer pearl
2-theory book
3-Most experienced women Dr NINA SINGH hand book also
4-pearl farming+fish farming+Quail farming training
5-buy back agreement
6- training Certificate
7- 24*365 support

Which we are offering nobody can give you.

Just call n wtsap 8860493964
गुड ट्रेनिंग
नोट्स
मार्केट
केअरींग
गुड कॉन्टक
Mobi:- 8860493964
८. Achal singh (Founder)
GLITTER PEARL FARMS
Contact - 9711858258

Facebook - https://www.facebook.com/Glitterpearlfarm/

Website - www.glitterpearlfarms.com

Venue - Plot 140, DLF Galleria Road, Sector 27, Phase 4, Gurgaon,Haryana ( NEAR DLF PHASE 1 RAPID METRO STATION)
good Training Center.

आपका
Anil Datir 8379085202

Sant kabir nagar me moti ki kheti, #khalilabad#maghar

नमस्कार, किसान भाइयों, आप सभी को Ak pearl forming and training centre की तरफ से होलिका दहन व होली की अग्रिम शुभकामनायें,
किसान भाइयों,अगर आप कम से कम लागत में ज्यादा लाभ कमाना चाहते हैं, तो मोती की खेती आपके लिए एक बेहतर विकल्‍प हो सकती है,हमारे यहां मोती की खेती की वैज्ञानिक विधि पर आधारित सम्पूर्ण प्रशिक्षण दिया जाता है, 1. किसानों को सीप उपलब्ध कराना,
२.तीनो प्रकार की सर्जरी, (मेंटल कैविटी, मेंटल टिशू, जननअंग) की जानकारी देना.
३.सरजरी का प्रेक्टिकल कराना,
४.सीप का भोजन व देखरेख करना,
५.पानी की मुफ्त में गुणवत्ता की जाचकरना,
६.सीप से मोती प्राप्त करना,
७.मोती बेचने में सहायता करना,
८.मरे हुए सीप के खोल से आकर्षक वस्तुएं बनाना,
९.मोती की खेती में प्रयोग होने वाले सभी उपकरण और सामान उपलब्ध कराना,
१०.पशिक्षण के दौरान रहना और खाने की व्यवस्था करना
सम्पर्क करें - 09648834147 Whatsapp 09648834147

please send all the detail

Dear sir I am interest for this work. please know about what is the time of training and where. Thanks Atin Sharma  

ताजा पानी में मोती की खेती

नमस्कार, किसान भाइयों, आप सभी को Ak pearl forming and training centre की तरफ से अग्रिम शुभकामनायें,
किसान भाइयों,अगर आप कम से कम लागत में ज्यादा लाभ कमाना चाहते हैं, तो मोती की खेती आपके लिए एक बेहतर विकल्‍प हो सकती है,हमारे यहां मोती की खेती की वैज्ञानिक विधि पर आधारित सम्पूर्ण प्रशिक्षण दिया जाता है, 1. किसानों को सीप उपलब्ध कराना,
२.तीनो प्रकार की सर्जरी, (मेंटल कैविटी, मेंटल टिशू, जननअंग) की जानकारी देना.
३.सरजरी का प्रेक्टिकल कराना,
४.सीप का भोजन व देखरेख करना,
५.पानी की मुफ्त में गुणवत्ता की जाचकरना,
६.सीप से मोती प्राप्त करना,
७.मोती बेचने में सहायता करना,
८.मरे हुए सीप के खोल से आकर्षक वस्तुएं बनाना,
९.मोती की खेती में प्रयोग होने वाले सभी उपकरण और सामान उपलब्ध कराना,
१०.पशिक्षण के दौरान रहना और खाने की व्यवस्था करना
सम्पर्क करें - 09648834147

Pearl farming training

Successful pearl farmer in haryana, next pearl farming training date 10/02 /2018 to 11 /02 /2018 and 17 /02 /2018 to 18/02 /2018, timing 10am to 5pm, for seat booking call vinod kumar_9050555757

Training

My name is Karmachand Kumar Yadav.I am from Nepal. I want to take training of Pearl Farming.

उत्तर प्रदेश में मोती की खेती,gorakhpur

नमस्कार, किसान भाइयों, आप सभी को Ak pearl forming and training centre की तरफ से अग्रिम शुभकामनायें,
किसान भाइयों,अगर आप कम से कम लागत में ज्यादा लाभ कमाना चाहते हैं, तो मोती की खेती आपके लिए एक बेहतर विकल्‍प हो सकती है,हमारे यहां मोती की खेती की वैज्ञानिक विधि पर आधारित सम्पूर्ण प्रशिक्षण दिया जाता है, 1. किसानों को सीप उपलब्ध कराना,
२.तीनो प्रकार की सर्जरी, (मेंटल कैविटी, मेंटल टिशू, जननअंग) की जानकारी देना.
३.सरजरी का प्रेक्टिकल कराना,
४.सीप का भोजन व देखरेख करना,
५.पानी की मुफ्त में गुणवत्ता की जाचकरना,
६.सीप से मोती प्राप्त करना,
७.मोती बेचने में सहायता करना,
८.मरे हुए सीप के खोल से आकर्षक वस्तुएं बनाना,
९.मोती की खेती में प्रयोग होने वाले सभी उपकरण और सामान उपलब्ध कराना,
१०.पशिक्षण के दौरान रहना और खाने की व्यवस्था करना
सम्पर्क करें - 09648834147

मोती की खेती

India's first trusted Pearl Farming Training institute of private sector is Indian Pearl Farming Training institute.
For more information please contact 9717443729.

Pearl Farming Training

मोती की खेती प्रशिक्षण सेन्टर के रजिस्ट्रेसन करवाने
के मानक प्रक्रिया की पूर्ण जानकारी करें
Call 9540883888

Pearl Farming Training

मोती की खेती प्रशिक्षण सेन्टर के रजिस्ट्रेसन करवाने
के मानक प्रक्रिया की पूर्ण जानकारी करें
Call 9540883888

about pearl farming in maharashtra

is pearl farming business is possible in atmosfair of maharashtra & its details like investment instruments place etc 

Pearl farming training

Next pearl farming training date 03/02/2018 to 04/02/2018 and 10/02/2018 to11/02 /2018, timing 10am to 5pm, for seat booking call vinod kumar_9050555757

उत्तर प्रदेश में मोती की खेती,

Happy new year 2018
नमस्कार, किसान भाइयों, आप सभी को Ak pearl forming and training centre की तरफ से लोहड़ी व मकर संक्रांति की अग्रिम शुभकामनायें,mob no /ह्वाटसअप न० 9648834147
किसान भाइयों,अगर आप कम से कम लागत में ज्यादा लाभ कमाना चाहते हैं, तो मोती की खेती आपके लिए एक बेहतर विकल्‍प हो सकती है,हमारे यहां मोती की खेती की वैज्ञानिक विधि पर आधारित सम्पूर्ण प्रशिक्षण दिया जाता है, 1. किसानों को सीप उपलब्ध कराना,
२.तीनो प्रकार की सर्जरी, (मेंटल कैविटी, मेंटल टिशू, जननअंग) की जानकारी देना.
३.सरजरी का प्रेक्टिकल कराना,
४.सीप का भोजन व देखरेख करना,
५.पानी की मुफ्त में गुणवत्ता की जाचकरना,
६.सीप से मोती प्राप्त करना,
७.मोती बेचने में सहायता करना,
८.मरे हुए सीप के खोल से आकर्षक वस्तुएं बनाना,
९.मोती की खेती में प्रयोग होने वाले सभी उपकरण और सामान उपलब्ध कराना,
१०.पशिक्षण के दौरान रहना और खाने की व्यवस्था करना
सम्पर्क करें - 09648834147
#Akpearl #motikikheti #pearlfarming #arvindchaudhary8

किसान भाइयों,अगर आप कम से कम

किसान भाइयों,अगर आप कम से कम लागत में ज्यादा लाभ कमाना चाहते हैं, तो मोती की खेती आपके लिए एक बेहतर विकल्‍प हो सकती है,हमारे यहां मोती की खेती की वैज्ञानिक विधि पर आधारित सम्पूर्ण प्रशिक्षण दिया जाता है, 1. किसानों को सीप उपलब्ध कराना,
२.तीनो प्रकार की सर्जरी, (मेंटल कैविटी, मेंटल टिशू, जननअंग) की जानकारी देना.
३.सरजरी का प्रेक्टिकल कराना,
४.सीप का भोजन व देखरेख करना,
५.पानी की मुफ्त में गुणवत्ता की जाचकरना,
६.सीप से मोती प्राप्त करना,
७.मोती बेचने में सहायता करना,
८.मरे हुए सीप के खोल से आकर्षक वस्तुएं बनाना,
९.मोती की खेती में प्रयोग होने वाले सभी उपकरण और सामान उपलब्ध कराना,
१०.पशिक्षण के दौरान रहना और खाने की व्यवस्था करना
सम्पर्क करें/ह्वाट्सअप करे - 09648834147, 8299329916, https://www.facebook.com/akpearl.tk,
Regards - arvind Chaudhary https://youtu.be/Nqsj9l56Rl0

पर्ल फार्मिंग का सही मार्गदर्शन

कुछ स्वनामधन्य ट्रेनर 6 घंटा या 1 दिन में मोती की खेती की ट्रेनिग दे कर किसानो का कल्याण कर रहे हैं |कुछ ट्रेनर खाने पीने का लालच दे रहे हैं तो कुछ मोती अादि जैसे फ्री गिफ्ट और कुछ घुमाने फिराने का, अाखिर क्यों? भाइयो आपको परफेक्ट ट्रेनिंग कोई क्यों नहीं देना चाहता है? क्योंकि सभी का उद्देश्य ज्यादा से ज्यादा लोगो को अपना ग्राहक बनाना है सिखाना नहीं |लालच में कुछ किसान फंस रहे हैं |चैक करें कि अापका ट्रेनर ये सब सिखाना चाहता है या नहीं1. सबसे जरूरी जानकारी कि सीप को ऑपरेशन से पहले व ऑपरेशन के बाद सर्वाईव कैसे करना है ?2. पर्ल फार्मिंग के लिए पीने वाला साफ पानी or खारा पानी जरूरत होती है ?3. खारा पानी होने पर सीप मर जाती है ?4. Temprature ?5. सीप कैसे खोलना है ?6. सीप खोलने के बाद रेत/beed कैसे डालें ?7. झील्ली के अन्दर कैसे रेत/beed डालें ?8. सीप की 5 सरजरी के बारे ?धोखे से बचोकेवल इण्डियन पर्ल फार्म एण्ड ट्रेनिंग इन्सटीट्यूट खुरजा सिटी ही पूरे दो दिन यानी 16 से 20 घंटे की ट्रेनिंग देता है |और अन्त में मेरी सभी पर्ल फार्मिंग सीखने वालो को सलाह है की अपना फ़ोन नंबर कमेंट बॉक्स में न छोड़े बल्कि 7310743426, 9717443729 तथा 9540883888 पर कॉल/whatsapp कर सही मार्गदर्शन प्राप्त करे

Training

I am interested in pearl farming.i want to do it

trening

Mujhe trening krni h

support

call me
9415590092

Pearl farming training

I am first successful pearl farmer in North India, next pearl farming training date 23 /12/2017 to 24 /12 /2017, and 30 /12 /2017 to 31/12 /2017, timing 10am to 5pm, for seat booking call vinod kumar_9050555757

Pearl Farming Training

Pearl Farming Training ke liye trusted name Indian Pearl Farming Training institute only. Contact 9540883888

मोती की खेती

मोती की खेती प्रशिक्षण सेन्टर के रजिस्ट्रेसन करवाने
के मानक प्रक्रिया की पूर्ण जानकारी करें
Call 9540883888

उत्तर प्रदेश में मोती की खेती,

Happy new year 2018
नमस्कार, किसान भाइयों, आप सभी को Ak pearl forming and training centre की तरफ से नव वर्ष की अग्रिम शुभकामनायें,mob no 9648834147
किसान भाइयों,अगर आप कम से कम लागत में ज्यादा लाभ कमाना चाहते हैं, तो मोती की खेती आपके लिए एक बेहतर विकल्‍प हो सकती है,हमारे यहां मोती की खेती की वैज्ञानिक विधि पर आधारित सम्पूर्ण प्रशिक्षण दिया जाता है, 1. किसानों को सीप उपलब्ध कराना,
२.तीनो प्रकार की सर्जरी, (मेंटल कैविटी, मेंटल टिशू, जननअंग) की जानकारी देना.
३.सरजरी का प्रेक्टिकल कराना,
४.सीप का भोजन व देखरेख करना,
५.पानी की मुफ्त में गुणवत्ता की जाचकरना,
६.सीप से मोती प्राप्त करना,
७.मोती बेचने में सहायता करना,
८.मरे हुए सीप के खोल से आकर्षक वस्तुएं बनाना,
९.मोती की खेती में प्रयोग होने वाले सभी उपकरण और सामान उपलब्ध कराना,
१०.पशिक्षण के दौरान रहना और खाने की व्यवस्था करना
सम्पर्क करें - 09648834147
#Akpearl #motikikheti #pearlfarming #arvindchaudhary8

Training shedule and fees

No comments

how do motion KI kheti

Publish

New pearl farming

Sr aap ka pearl farming kahapr hi

Moti ki kheti

Up sant kabir nagar me khalilabad me call me or Whatsapp 9648834147

New pearl farming

Sr aap ka pearl farming kahapr hi

Visit our Pearl farm and learn pearl farming

क्या आप मोती की खेती या पर्ल फार्मिंग कर सकते है?किसान या व्यवसायी पहले हमारा पर्ल फार्म देखे और फिर पर्ल फार्मिंग की बारीकियां सीखें और मोती की खेती करे.Visit our pearl farm and learn main points of pearl farming and start your pearl farming in your pond.Call/Whatsapp: 7017563576 

Pearl Farming Training

I have got Training from Indian Pearl Farming Training Institute, very good institute please Contact 9540883888

मोती की खेती

I have got Training from Indian Pearl Farming Training Institute Khurja, a very good institute.
Contact 9540883888

मोती की खेती की सही सलाह

मोती पालन (Pearl Farming) एक ऐसा बिसनेस है, जिसमे सिर्फ दस हजार रुपये खर्च करना है, किसी भी लोन की जरुरत नहीं है, और फायदा करोड़ों में कमा सकते हैं :मोती पालन (Pearl Farming Business) की अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें – 9717443729, 7310743426, 9540883888

Moti ki Kheti

I am interested to do moti ki kheti so if any center near bareilly to learn the kheti so please inform me otherwise I would have to go to Bhuvneshwar

Pearl farming training

Next pearl farming training date 02/12 /2017 to03/12/2017 and 09/12 /2017 to 10/12 /2017, timing 10am to 5pm, for seat booking call vinod kumar_9050555757

moti ki kheti ki jankari

Moti ki kheti ki jankari kaha sse mil hi iski traing

seep supply

We supply of seep all over india door delivery. Net, Surgery/water testing instruments at reasnable cost.  Request on whatsapp only8920103100

मोती की खेती का सही सलाह, प्रशिक्षण और मार्गदर्शन

सभी किसान भाइयों को इण्डियन पर्ल फार्म एण्ड ट्रेनिंग इन्सटीट्यूट खुरजा की तरफ से  शुभकामनायें !!! किसान भाइयों! अगर आप कम लागत से ज्यादा लाभ कमाना चाहते हैं, तो मोती की खेती आपके लिए एक बेहतर विकल्‍प है.हमारे उद्देश्य ज्यादा से ज्यादा लोगो को स्वावलंबी बनाना है |हमारे यहां मोती की खेती वैज्ञानिक विधि पर आधारित सम्पूर्ण प्रशिक्षण दिया जाता है |1. सबसे जरूरी जानकारी कि सीप को ऑपरेशन से पहले व ऑपरेशन के बाद सर्वाईव कैसे करना है ?2. पर्ल फार्मिंग के लिए पीने वाला साफ पानी जरूरत होती है. पानी की मुफ्त में गुणवत्ता की जाच करना free water testing.3. How to maintain perfect pond Tempratureसिखाना.4. pH testing at home सिखाना. Free pH testing.5. Amonia testing of the pond.6. न्यूक्लियस materials ki detailed जानकारी करना सिखाना7. तीन तरह के न्यूक्लियस तैयार करना सिखाना8. जाल (nylon Net) तैयार करना सिखाना9. सीप के लिए भोजन तैयार करना सिखाना10.सीप की 4 types सरजरी के बारे detailed सिखाना11.सीप कैसे खोलना है सिखाना.12.सीप nucleus कैसे डालें सिखाना.13.मोती की खेती में प्रयोग होने वाले सभी उपकरण और सामान उपलब्ध कराना,केवल इण्डियन पर्ल फार्म एण्ड ट्रेनिंग इन्सटीट्यूट खुरजा सिटी ही पूरे दो दिन यानी 16 से 20 घंटे की ट्रेनिंग देता है |और अन्त में मेरी सभी पर्ल फार्मिंग सीखने वालो को सलाह है की अपना फ़ोन नंबर कमेंट बॉक्स में न छोड़े बल्कि 7310743426, 9717443729 तथा 9540883888 पर whatsapp कर सही मार्गदर्शन प्राप्त करे 

मोती की खेती का सही सलाह, प्रशिक्षण और मार्गदर्शन

सभी किसान भाइयों को इण्डियन पर्ल फार्म एण्ड ट्रेनिंग इन्सटीट्यूट खुरजा की तरफ से  शुभकामनायें !!! किसान भाइयों! अगर आप कम लागत से ज्यादा लाभ कमाना चाहते हैं, तो मोती की खेती आपके लिए एक बेहतर विकल्‍प है.हमारे उद्देश्य ज्यादा से ज्यादा लोगो को स्वावलंबी बनाना है |हमारे यहां मोती की खेती वैज्ञानिक विधि पर आधारित सम्पूर्ण प्रशिक्षण दिया जाता है |1. सबसे जरूरी जानकारी कि सीप को ऑपरेशन से पहले व ऑपरेशन के बाद सर्वाईव कैसे करना है ?2. पर्ल फार्मिंग के लिए पीने वाला साफ पानी जरूरत होती है. पानी की मुफ्त में गुणवत्ता की जाच करना free water testing.3. How to maintain perfect pond Tempratureसिखाना.4. pH testing at home सिखाना. Free pH testing.5. Amonia testing of the pond.6. न्यूक्लियस materials ki detailed जानकारी करना सिखाना7. तीन तरह के न्यूक्लियस तैयार करना सिखाना8. जाल (nylon Net) तैयार करना सिखाना9. सीप के लिए भोजन तैयार करना सिखाना10.सीप की 4 types सरजरी के बारे detailed सिखाना11.सीप कैसे खोलना है सिखाना.12.सीप nucleus कैसे डालें सिखाना.13.मोती की खेती में प्रयोग होने वाले सभी उपकरण और सामान उपलब्ध कराना,केवल इण्डियन पर्ल फार्म एण्ड ट्रेनिंग इन्सटीट्यूट खुरजा सिटी ही पूरे दो दिन यानी 16 से 20 घंटे की ट्रेनिंग देता है |और अन्त में मेरी सभी पर्ल फार्मिंग सीखने वालो को सलाह है की अपना फ़ोन नंबर कमेंट बॉक्स में न छोड़े बल्कि 7310743426, 9717443729 तथा 9540883888 पर whatsapp कर सही मार्गदर्शन प्राप्त करे 

Please give me details

How I made perals

Seep se moti kaise banaye

किसान भाइयों,अगर आप कम से कम लागत में ज्यादा लाभ कमाना चाहते हैं, तो मोती की खेती आपके लिए एक बेहतर विकल्‍प हो सकती है,हमारे यहां मोती की खेती की वैज्ञानिक विधि पर आधारित सम्पूर्ण प्रशिक्षण दिया जाता है, 1. किसानों को सीप उपलब्ध कराना,
२.तीनो प्रकार की सर्जरी, (मेंटल कैविटी, मेंटल टिशू, जननअंग) की जानकारी देना.
३.सरजरी का प्रेक्टिकल कराना,
४.सीप का भोजन व देखरेख करना,
५.पानी की मुफ्त में गुणवत्ता की जाचकरना,
६.सीप से मोती प्राप्त करना,
७.मोती बेचने में सहायता करना,
८.मरे हुए सीप के खोल से आकर्षक वस्तुएं बनाना,
९.मोती की खेती में प्रयोग होने वाले सभी उपकरण और सामान उपलब्ध कराना,
१०.पशिक्षण के दौरान रहना और खाने की व्यवस्था करना
सम्पर्क करें/ह्वाट्सअप करे - 09648834147, 8299329916, https://www.facebook.com/akpearl.tk,
Regards - arvind Chaudhary https://youtu.be/Nqsj9l56Rl0

मोती पालन (Pearl Farming) एक

मोती पालन (Pearl Farming) एक ऐसा बिसनेस है, जिसमे सिर्फ दस हजार रुपये खर्च करना है, किसी भी लोन की जरुरत नहीं है, और फायदा करोड़ों में कमा सकते हैं. मोती पालन (Pearl Farming Business) की अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें – WhatsApp/call 9717443729, 7310743426, 9540883888

Pearl farming training

First successful pearl farmer in haryana, next pearl farming training date 18/11 /2017 to 19 /11 /2017 and 25/11 /2017 to26 /11 /2017, timing 10am to 5pm, for seat booking call vinod kumar_9050555757

Pearl forming in U. P

Contact - 9648834147
Facebook - https://www.facebook.com/akpearl.tk
Website -http//:Akpearl.tk
Address- city -. Khalilabad, near - gorakhpur, district - sant kabir nagar, state - Uttar Pradesh
Email - skpearls81@gmail.com अगर आप छोटे से इन्‍वेस्‍टमेंट से लाखों कमाना चाहते हैं तो आपके लिए मोती की खेती एक बेहतर विकल्‍प हो सकती है। मोती की मांग इन दिनों घरेलू और अंतर्राष्‍ट्रीय बाजार में काफी अधिक है, इसलिए इसके अच्‍छे दाम भी मिल रहे हैं। मोती के बारे में कुछ खास बातें-
मोती की खेती के लिए किसी प्रकार की शैक्षिक योग्यता की जरूरत नही होती है|मोती की खेती बिना पढ़े लिखे लोग भी कर सकते हैं |मोती की खेती भारत में कहीं भी किया जा सकता है|
हमारे यहाँ हप्ते में तीन दिन ट्रेनिंग दी जाती है -
सनिवार (saturday)रविवार (sunday)शोमवार(monday)

Moti ki kheti in U P, sant kabir nagar, Basti, Gkp

नमस्कार, किसान भाइयों, आप सभी को Ak pearl forming and training centre की तरफ से धनतेरस, दीपावली, भैयादूज की अग्रिम शुभकामनायें,
किसान भाइयों,अगर आप कम से कम लागत में ज्यादा लाभ कमाना चाहते हैं, तो मोती की खेती आपके लिए एक बेहतर विकल्‍प हो सकती है,हमारे यहां मोती की खेती की वैज्ञानिक विधि पर आधारित सम्पूर्ण प्रशिक्षण दिया जाता है, 1. किसानों को सीप उपलब्ध कराना,
२.तीनो प्रकार की सर्जरी, (मेंटल कैविटी, मेंटल टिशू, जननअंग) की जानकारी देना.
३.सरजरी का प्रेक्टिकल कराना,
४.सीप का भोजन व देखरेख करना,
५.पानी की मुफ्त में गुणवत्ता की जाचकरना,
६.सीप से मोती प्राप्त करना,
७.मोती बेचने में सहायता करना,
८.मरे हुए सीप के खोल से आकर्षक वस्तुएं बनाना,
९.मोती की खेती में प्रयोग होने वाले सभी उपकरण और सामान उपलब्ध कराना,
१०.पशिक्षण के दौरान रहना और खाने की व्यवस्था करना
सम्पर्क करें/ह्वाट्सअप करे - 09648834147, 8299329916, https://www.facebook.com/akpearl.tk,
Regards - arvind Chaudhary https://youtu.be/Nqsj9l56Rl0

Pearl farming training

Successful pearl farmer in haryana, next pearl farming training date 11/11/2017 to12/11/2017 and 18/11/2017 to19/11/2017, timing 10am to 5pm, for seat booking call vinod kumar_9050555757

Post new comment

The content of this field is kept private and will not be shown publicly.
  • Web page addresses and e-mail addresses turn into links automatically.
  • Allowed HTML tags: <a> <em> <strong> <cite> <code> <ul> <ol> <li> <dl> <dt> <dd>
  • Lines and paragraphs break automatically.

More information about formatting options

CAPTCHA
यह सवाल इस परीक्षण के लिए है कि क्या आप एक इंसान हैं या मशीनी स्वचालित स्पैम प्रस्तुतियाँ डालने वाली चीज
इस सरल गणितीय समस्या का समाधान करें. जैसे- उदाहरण 1+ 3= 4 और अपना पोस्ट करें
17 + 3 =
Solve this simple math problem and enter the result. E.g. for 1+3, enter 4.